9 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: weakness acidity and vomiting problem hai kya kre

2 Answers
सवाल
Answer: डियर देखिए प्रेग्नेन्सी मे वेअकनेस होना आम बात है क्योकि डियर हमारे शरीर मि हॉरमोन के बदलने की वाज्ह से शरीर मे काफी बदलाव होते बाई जिंस कारण शरीर मि काफी प्रॉब्लम्स आती है जैसे कमज़ोरी थकान खुजली पेरो मि दर्द सुजन डिअर नींद ज्यादा आना भी प्रेगनेंसी में आम बात है थकावट की वजह से भी नींद आती है bp लौ बी होता है जब नींद ज्यादा आती है यह समस्या पहेली तिमाही में ज्यादा होती है पर दूसरी तिमाही में कम हो जाती है लेकिन तीसरी तिमाही में यह फिर से शुरू हो जाती है इस दौरान बेबी का बजन भी बढ़ जाता है जिस कारण माँ को उस बड़े बजन के साथ हर वक्त रहना पड़ता है पर पहेली तिमाही में मा को।इसका पतकम चलता है ज्यादा बजन के साथ रहना भी थकान का कारण बन जाता है इसकी वजह से नींद भी ज़्यादा आती है और कमजोरी पीठ दर्द व कमर दर्द होता है साँस लेने में परेशानी ,बेहोशी ओर कमजोरी आयरन की कमी के कारण एनीमिया के होने के कारण भी होता है डियर ऐसी मि आप जादा काम ना करे अगर काम करे तों रुक रुक कर काम करे थोड़ी थोड़ी देर मे रेस्ट करते राहें जादा कमकाज करने से भि थकें व कमज़ोरी आती है डिअर अक्सर प्रेगनेंसी में यह हमें प्रॉब्लम हो जाती है एसिडिटी की प्रॉब्लम डिअर यह हमें कब्ज के कारण होती है हमारा पेट साफ ना हो पाना हमें जंक फूड खाना बाहर के मसालेदार चीजों का सेवन करने से एसिडिटी की प्रॉब्लम हमें हो जाती है इसलिए हमें बाहर की चीजों को कम खाना चाहिए और घर में भी हमें ज्यादा मसालेदार भोजन नहीं करना चाहिए सादा भोजन करें ज्यादा से ज्यादा निकले और हरी पत्तियों का सेवन करें इससे आपको आराम मिलेगा और डियर आप खाना खाने के बाद एक इलायची का सेवन करें जरूर करे ,अजवाइन को भून ले उसमे काला नमक मिला कर गुनगुने पानी के साथ ले ,पानी मे निम्बू डेल फिर काला नमक डालकर पीजिये एसिडिटी से आपको राहत मिलेगी पहली तिमाही में हमें ज्यादातर प्रॉब्लम होती है पर किसी किसी लेडी को पूरी प्रेग में रहती है ,जैसे कि उल्टी आना जी मचलाना हमारे मुंह का स्वाद चेंज हो जाना भूख ना लगनआ डिअर ज्यादातर महिलाओं को यह प्रॉब्लम होती है और यह हमारे हारमोनल चेंज होने के कारण भी होती है क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान हमारे हमने चेंज होते हैं जिस कारण यह हमें परेशानी होती है डिअर यह सब नॉर्मल है इससे आप घबराएं नहीं, डियर वैसे तो हमें पूरी प्रेगनेंसी में 11 से 15 किलो तक वजन बढ़ना चाहिए पर सबसे कम वजन हमारा पहली तिमाही में बढ़ता है उसकी वजह सबसे बड़ी यह है कि उल्टी और जी मचलाना और स्वाद चेंज हो जाने के कारण हमें कुछ नहीं अच्छा लगता हम खाते पीते भी कम है इस वजह से हमारा वजन कम भी हो जाता है कभी-कभी हमें पहली तिमाही में 1 से 2 किलो ही वजन बढ़ता है और कभी-कभी डिअर कम भी हो जाता है तो उसके लिए आप टेंशन मत लीजिए,अगर आपका वजन ज्यादा कम हो तो आप डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं डिअर इसके लिए आप पानी दिन में कम से कम 7 से 8 गिलास पीजिये, नींबू पानी और अदरक वाली चाय भी पी सकते हैं और जी मिचलाने के लिए आप सुबह खाली पेट अदरक का टुकड़ा मुंह में डाली है उसे आपके जी मचलाने की प्रॉब्लम सॉल्व होगी डियर आप खाना थोड़ा-थोड़ा खाइए एक ही बार भर पेट ना खाएं अगर आप दिन में तीन बार खाना खाते हो तो उसको 6:00 टाइम कीजिए 6 बार खाई पर थोड़ा थोड़ा खाई है क्योंकि ज्यादा खाना खाने से भर पेट खाना खाने से एक बार में हमें उल्टी और जी मिचलाने लगता है तो इस बात का आप जरूर ध्यान दीजिए थोड़ा थोड़ा खाइए थोड़ी थोड़ी देर में आप कुछ ना कुछ लिख भी लेते रहिए डियर डिअर आप हल्का खाना खाइए जैसे कि थोड़ा सा खाया और आपका पेट भरा भरा लगे जैसे कि केला और कैल्शियम के लिए आप दही का भी सेवन कर सकते हैं इसमें प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट का सेवन ज्यादा कीजिए क्योंकि इससे आपको फायदा मिलेगा
Answer: हेलो डिअर, आपको अगर प्रेग्नेंसीय के दौरान थकान या कमजोरी लगती है तो आप अपने खान पान का अच्छे से ले ताकि आपको किसी चीज की कमी न हो आप अपने आहार में चुकंदर , गाजर, बीन्स, पालक, टमाटर जैसे सब्जियों का प्रयोग करे इसस आप को एनर्जी आएगी आप ऐसे में पाने की कमी ना होने दे आप पानी मे ग्लोकोज या नमक ,चीनी का घोल बना कर पिये इससे आपको थकान जैसे नही आएगी आप रोज रात को एक ग्लास दूध पी सकती है इससे भी आपको एनर्जी मिलेगी और आप बराबर फलो का जू स पीती रहे आप इस तरह से एसिडिटी के लिए घरेलू उपाय कर सकती है आप तैलीय या मसालेदार खाना , और चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी चीजे एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। आप इसे ना ले सोडायुक्त चीजो की बजाय पानी पीएं, बाहर की चीजो का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी के लिये पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार खाना खाती रहें।खाना को अच्छी तरह चबाकर खाएं खाना खाने के दौरान लम्बा गैप रखे खाना के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में पानी न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी हैं कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। एसिडिटी होने पर आप ग्लास पानी मे एक चम्मच जीरे को डाल कर खौला ले फिर इसको पिये इससे भी बहुत आराम मिलता है एसिडिटी में, आप इसमें 10 , 12 पुदीने की पत्तियों को रोज चबाये इससे भी फायदा होता है रोज रात को खाना खाने के बाद गुड खाये इससे आपका खाना पच जायगा और जलन नही होगी सुबह खाली पेट एलोवेरा जेल खाये या थोड़े पानी मे डालकर पिये इससे भी आराम हो jayega . aapko agr aise me ulti hoti hai to aap thoda thoda khaana kai baar me khaaye aapko dusra timaahi se ulti thik ho jayega isliye preshaan na ho aisa honaa normal bat hai aap aise me khub paani piye taaki paani ki kami na ho .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: एसिडिटी k लिए क्या kre
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले हार्मोनल चेंजेज के कारण डाइजेशन वीक हो जाता है इसके कारण एसिडिटी की समस्या आती है इसमें अपने डाइट को विशेष ध्यान रखना होगा आप एक ही बार में ज्यादा खाना ना खा कर थोड़ा थोड़ा करके खाएं दिन भर में 3 से 4 लीटर पानी पिए खीरा ककड़ी गाजर तरबूज खरबूज खाएं दूध पीने से भी ऐसे जी की प्रॉब्लम होती है तो दूध का जगह छाछ पीये नारियल पानी पीने मिर्च मसाले ज्यादा ऑइली या बाहर की बनी हुई चीजें ना खाएं। एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डालकर पीने से एसिडिटी की समस्या से राहत मिलती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मॉर्निंग सिकनेस .. वीकनेस but h क्या kre
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस होना विकनेस होना नॉर्मल बात है आपको नींबू शरबत पीना चाहिए नारियल पानी पीना चाहिए आपको नींबू का रस और अदरक का रस इकट्ठा करके पीना चाहिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए हर 2 घंटे बाद कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए इससे आपको परेशानी नहीं होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: एसिडिटी प्रॉब्लम हो रहा h क्या kre
उत्तर: आपको यदि एसिडिटी की परेशानी हो रही है तो आपको रात को एक गिलास पानी में किशमिश भिगोकर रखना चाहिए सुबह नींद से उठने के बाद वह पानी पीना चाहिए इससे एसिडिटी के परेशानी कम हो जाती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें