18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: 4 th महीने मे वेस्टेन टॉयलेट यूज़ करना चाहिए या sittig

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान इंडियन टॉयलेट का ही प्रयोग करना चाहिए प्रेगनेंसी में इंडियन टॉयलेट के प्रयोग से कब्ज तथा पाइल्स की समस्या नहीं होती है प्रेगनेंसी के दौरान इंडियन टॉयलेट के प्रयोग से डिलीवरी मैं जो समस्या आती है वह कम हो जाते की संभावना बढ़ जाती है भारतीय टॉयलेट इस्तेमाल करने के तरीके से शिशु धीरे-धीरे नीचे की ओर खिसकता है और साथ ही मांसपेशियां भी मजबूत होने लगती है जो की डिलीवरी के समय बहुत ही महत्वपूर्ण ओके टेक केयर
Answer: हेलो ....आप जिसमे कम्फर्टेबल फिल करें ... वैसे प्रेग्नेन्सी मे समय के साथ साथ माँ का पेट भी बड़ा होते जता है . जीस्से माँ को उठने बैठने मे भि बहुत दिक्कत आती है . तो आप commod का यूज़ हाइ बेटर होगा ..ok
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: उल्ट्रासाउंड किस किस महीने मे करना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर,,,, aapko 23week ki preganeci hai..अल्ट्रासाउंड बेबी की स्थिति को देखने के लिए डॉक्टरों की सलाह पर ही कराना चाहिए हालांकि पहला अल्ट्रासाउंड फर्स्ट सेमेस्टर में कराना बेहतर होता है इससे बेबी की स्थिति का पता चलता है दूसरा अल्ट्रासाउंड आप 5 से 7 महीने के बीच करा सकते हैं इसके अलावा डॉक्टर की सलाह पर अगर बेबी का की स्थिति देखने के लिए आठवें से नौवें महीने व जन्म के समय भी अल्ट्रासाउंड कराने में कोई प्रॉब्लम की बात नहीं होती है अधिक अल्ट्रासाउंड कराने से कोई प्रॉब्लम नहीं होती है इससे बच्चे किसी भी प्रकार से कोई नुकसान नहीं होता|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेग्नेन्सी मे अन्दरोइद फोन यूज़ करना चाहिए
उत्तर: गर्भावस्था में गर्भवती स्त्रियों को मोबाइल कम से कम उपयोग करना चाहिए गर्भावस्था में जितना जरूरत हो उतना ही मोबाइल का उपयोग करें क्योंकि इससे निकलने वाली हानिकारक रेज़ आपके लिए ठीक नहीं है जब जरूरत हो तभी आप इसका उपयोग करें और जहां तक हो सके कोशिश करें कि रात को सोते समय कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आपके पास ना हो
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: तिहरे महीने मे क्या चक करना चाहिए
उत्तर: hello गर्भावस्था में इनसे करें परहेज  ऐसे काम करने से बचें जिसमे भारी वज़नदार चीज़ें उठानी पड़ें, जैसे कि पानी से भरी हुई बाल्टी, सब्जियों या किराने के भारी थैले आदि। भारी सूटकेस, गैस का सिलिंडर या अपने बड़े बच्चे को उठाने से भी आपकी पीठ में मरोड़ हो सकती है। ज़मीन पर बिखरी हुई वस्तुएं उठाने के लिए झुकने से भी आपकी पीठ पर विपरीत रूप से असर हो सकता है। अधिक देर तक खड़े होने से बचें। अगर आपको सब्जी या फल काटने हैं तो कुर्सी पर बैठकर किसी टेबल पर रखकर काटे इससे आपको थोड़ा विश्राम भी मिल जाएगा। और ऐसे खाना पकाने से बचें जिनमे अधिक देर तक खड़े रहने की ज़रुरत पड़े।      अगर आपको रसोईघर में किसी उपरी शेल्फ से किसी चीज़ की आवश्यकता हो तो स्टूल या सीढ़ी का प्रयोग करने से बचें। याद रखें कि इस अवस्था में आप उतनी फुर्तीली नहीं होतीं जितनी आप सामान्य अवस्था में होती हैं, तो गिरने पड़ने का डर अधिक रहता है। अगर आप छत के पंखों पर, खिडकियों पर, या आइनों पर जमी हुई मैल के बारे में चिंतित हैं, तो आप उन्हें अकेले साफ़ करने का प्रयास न करें, बल्कि अपनी नौकरानी की या किसी और की सहायता लें। अगर फ्यूज़ हुए बल्ब या बिजली के तार, सॉकेट, प्लग वगैरह में गड़बड़ी हो तो उसे ठीक करने के लिए अपने पति से या किसी इलेक्ट्रिशियन से करने को कहें।   घुड़सवारी, समुद्र से जुडी किसी भी गतिविधि से बचें। मनोरंजन पार्क में किसी भी झूले पर बैठने से बचें। कुछ योग आसनों को करने से बचें।गर्भवती महिलाओं को स्टीम बाथ से भी बचना चाहिए, क्योंकि गर्भ में गर्मी जमा होने से बच्चे के लिए नुकसानदे हो सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें