21 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Anomoly scan kya hota hai ? karna jaruri hota hai kya ??

1 Answers
सवाल
Answer: 18 से 21 हफ्ते के बीच में होता है इसेAnomaly स्कैन कहते हैं is अल्ट्रासाउंड में बच्चे में संरचनात्मक असमानता की जांच की जाती है इन सबके अलावा बच्चे का ग्रोथ दिल की धड़कन प्लेसेंटा की जगह एमनीओटिक द्रव्य बच्चे का वेट एक से ज्यादा बेबी तो नहीं है इन सब की जांच की जाती है आपको टेस्ट कराना चाहिए या नही ये आपके डॉक्टर बतेएगे वैसे to pregnancy में अल्ट्रासाउंड aur test की काउंटिंग नहीं होती है वह केस पर डिपेंड करता है कि Dr. कितनी बार सोनोग्राफी के लिए कहेंगे
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Anomaly scan kya hota hai ? karna jaruri hota hai kya ??
उत्तर: अनॉमली स्कैन 5 वे महीने में होता है 5th महीने में बेबी पूरा बन जाता है अनॉमली स्कैन में बच्चे का सर से लेकर पैर tak की सारी जांच होती है जब स्कैन होता है तो डॉक्टर आप के बेबी को दिखाती है वो एक अलग ही अनुभव होता है सोनोग्राफी में सब pata चल जाता है उसकी जो रिपोर्ट मिलेगी वो आप अपने डॉक्टर को जरूर दिखायें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam anomaly scan kya hota hai or ise karna jaruri hota hai kya ?
उत्तर: हेलो आप 22 वीक प्रेगनेट है अनॉमली स्कैन को लेवल 2 अल्ट्रासाउन्ड कहते है यह स्कैन प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही में किया जाता है यह स्कैन करवा कर आप क्लियर हो सकती है कि आप के बच्चे की ग्रोथ और वेट कैसे है गर्भ में बेबी की मुवमेंट सही हो रही है या नही आपका फ्लूइड लेवेल कैसे है आपका गर्भनाल की पोजिशन क्या है ,बच्चे को होने वाले कुछ जन्म दोषों का पता लगाया जा सकता है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अनोमोली स्कैन क्या होता है
उत्तर: अनोमोली स्कैन में बेबी ओके बॉडी पार्ट का पता चलता है की सारे बॉडी पार्ट ठीक से बन गे है या नहीं ये एक तरह का अल्ट्रासाउंड ही है इसमें बेबी ग्रोथ का भी पता चलता है इसलिए ये करवाना जरुरी है डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 7 start ho gaya scan karna jaruri hai kya
उत्तर: डियर प्रेग्नेन्सी में 3 अल्ट्रासाउन्ड ज़रूरी होते है और बाकी आपको अगर किसी तरह का कोई कॉम्प्लिकेशन हो तो डॉक्टर करवा सकते है , 1st 6-8 वीक में , 2nd 18-22 वीक तक और 3rd 8th मंथ के लास्ट या 9 मंथ के स्टार्टिंग में . पहली तिमाही मे अनुमानित tarikh ओर बच्चा का धड़कन , यह पता करना की गर्भ मे प्रेग्नेंसी सही जगह है की नही , ओर bhrum की sankhya jachna . दूसरे तिमाही मे देख सकती है की बचा कि तरह विकसित हो रहा है . और थर्ड बेबी का वेट , पोजिशन पता करने के लिए.
»सभी उत्तरों को पढ़ें