25 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: rone se bacche par kya effect padta hai? plz koi btay muje

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: क्या बार बार खस्ने से bacche par कोई इफ़ेक्ट पड़ता h क्या???
उत्तर: डियर बच्चे पर कोई फर्क नहीं पड़ता है लेकिन अगर आपको बहुत हंसी आ रही है तो थोड़ा एक चम्मच शहद में थोड़ा सा अदरक का जूस और थोड़ी सी तुलसी का जूस मिलाकर दिन में दो-तीन बार लीजिए आपको राहत मिलेगी खांसी से गुनगुना पानी पीजिए और हल्दी वाला दूध पीजिए यह सारी चीजें बहुत फायदेमंद रहती हैं खांसी के दौरान
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेग्नेंसी में रोने से क्या बच्चे पर रोने से क्या बुरा असर पड़ता है
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेंसी में अब जितने फ्रेश रहे ंगे जितनी खुश रहेगी उतना ही अच्छा असर आप के बेबी पर हो गा आप जितने रोएगी या मायूस रहेंगी तो आपका बेबी भी वैसा ही होगा एक बार रोने से आपकी बेबी पर को ई असर नहीं होता आप टेंशन ना ले पर आप प्रेग्नेंसी में जितना खुश रहेंगे उतना ही आपके लिए और आपके बेबी के लिए अच्छा है अब आप बिलकुल उन बातों के बारे में ना सोचो जिनसे आपको परेशानी होती है या तकलीफ होती है आप अभी सिर्फ आपके और आपके बच्चे के बारे में सोचिए जब भी आपका मूड खराब हो गया आपको बुरा लगे तो आपके पसंद की चीजें करें जैसे कि आपको अगर गाना सुनना पसंद है तो आप गाने सुनाइए आप को अगर किताबें पढ़ना पसंद है तो आप किताब पढ़िए तब कि आपका मूड चेंज हो और आप खुश रहे नैंसी में आप जितने सकारात्मक रहेंगी और खुश रहेंगे उतना ही अच्छा आपका बेबी होगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Kiya rone se baby pr koi effect padta ha ?
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था के दौरान आपके भावनाओं का असर आपके बच्चे पर होता है इसलिए गर्भवती स्त्रियों को अधिक से अधिक खुश रहने के लिए कहा जाता है अगर आप गुस्सा होती हैं तो आपके बच्चे का मूवमेंट कम होता है ऐसा होना नॉर्मल है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं इस अवस्था में आपको अधिक से अधिक खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए तनाव और गुस्सा आपके लिए ठीक नहीं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: rone se koi asar padta h baby par
उत्तर: hello डियर ""''''aap 10week ki pregnet hai..प्रेगनेंसी के दौरान हारमोंस में अनेक प्रकार के परिवर्तन होते रहते हैं इसी का प्रभाव से ,rons,गुससा ,चिड़चिड़ाहट ,डिप्रेशन आदी प्रकार के समस्याएं जन्म लेती हैं आपको इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए अपने daily life व भोजन में कुछ परिवर्तन करना आवश्यक हो जाता है | भोजन में अधिक से अधिक पानी का प्रयोग जारी रखें क्योंकि इसमें आपके ब्रेन से निकलने वाली चिचड़ा हट जैसे अन्य विचारों को पैदा करने वाले हारमोंस धीरे धीरे कम होने लगते हैं फलों का जूस, हरी पत्तेदार सब्जियां पर्याप्त मात्रा में संतुलित आहार लें इसका प्रभाव भी मानसिक तौर पर आप को मजबूत बनाता है | अत्यधिक थकावट व श्रम युक्त कार्य ना करें इससे भी मानसिक दबाव कम होगा|मेडिटेशन, योगा ,कपाल भारती ,हल्की वॉक जरूर ले ,यह भी मानसिक तनाव उत्पन्न करने वाले हारमोंस में कमी करते हैं | मनपसंद संगीत मूवी या बुक्स भी पड़ सकती हैं इसके अलावा आप लोगों से मिलना जुलना ,अपनी पसंद का काम ,आदि करें इससे भी आपको मानसिक रिलैक्सेशन होगा उन कामों को महत्व दें ,जिनमें आपको अच्छा अनुभव हो आप अपने लिए समय निकालें इस प्रकार आप अपने दिनचर्या में या कार्यविधि में परिवर्तन करें धीरे-धीरे आपको अच्छा fil होने लगेगा| ~टेक केयर~
»सभी उत्तरों को पढ़ें