16 weeks pregnant mother

Rock Star द्वारा संदेश hello mujhe private part me bhut drd ho raha h or mootion bhut tite hota h jisse bhut jor lgana pdta h or tklif hoti h dr ko v dikhya sirp di pait saf krne ke liye but kuch ni ho raha usse me kya kru .........

सवाल
हेलो ..आप जब भी पोट्टी जाये तो presher न लगये...essa na karne per आप की पॉटी वाली जगह कट सकता है और ब्लड bhi aa सकता है..kuch उपाय में आप को बता रही ।आप try करे।।आप खूब पानी पिए और जब भी पिए गुनगुना ही पीए।जयदा मिर्च मसालेदार खाना न ले।आप पॉटी वाली जगह पर कोई ऑयली ओइंमेंट लगा कर सॉफ्ट कर क रखे। प्रेग्नेन्सी मे पेट का साफ़ ना होना एक आम बैट है .. आप को मोशन के प्रॉब्लम को काम करने के लिये कुछ उपाय अपनाना चाहिए ..... * आप जयदा से जयदा लिक्विड चीज़ों को खाने मे ले .. * आप खुब पनि पीये . ऑर जब भी पिये थोड़ा गुनगुन हाइ पीये .. * खाने मे हल्क ऑर आसानी से पचने वाले पदार्थ ही लें ... * हलकी एक्सर्साइज ऑर वॉक करे ... * subha khali pet नारियल पनि ले .. * rat को मुनक्के 5 से 6 भिगा कर खाने से भि subha पेट साफ़ हो jata है . आप के बॉडी मे हो रहें हार्मोनल बदलाव और पेट के वज़न के कारण आप को इस टाइप का दर्द या खीचाव yoni k aas pass महसूस हो रहा है जो की प्रेग्नेन्सी मे नॉर्मल है . आप घबराये नही इसे कम करने के लिए आप जब भि करवट ले तों अपने दोनों पैरों के बीच मे पिल्लो लगायें .. ऑर कमर के पीछे भि एक पिल्लो लाग ले .. झटकें से उठना बैठना नही . आइस को कॉटन के कपड़े मे लेकर हलके हाथों से अपनी योनि के ऊपर रखें .. आप को आराम लगेगा . ओके
हैलो डियर-----यह परेशानी ज्यादातर प्रेगनेंसी में महिलाओं को होता ही है। यह दर्द गर्भाशय में बच्चे के बढ़ने के कारण पड़ने वाले दबाव के कारण योनि और उसके आसपास दरद और खिंचाव होता है।कभी-कभी मांसपेशियों और हड्डियों पर पड़ने वाले दबाव के कारण योनी में दर्द के साथ सूजन भी हो सकती है यह दर्द बच्चे के जन्म के साथ ही खत्म हो जाता है।आपको इस स्थिति में अधिक से अधिक आराम करना चाहीये।जादा खडे़ रहने चलने और सिढी़ नही चढ़ना चाहीये।अधिक हसहजता या दरद होने पर एक बार डाक्टर से कंसल्ट जरुर कर लें। आप परेशान न हों अक्सर गर्भावस्था में कब्ज की समस्या हो जाती है। कब्ज की समस्या से बचने के लिए सुबह शाम टहलें। फाइबर युक्त भोजन और फल का सेवन करें इंस्टेंट नूडल्स मैदा के बने व्यंजन सफेद ब्रेड पूड़ी कुलचा नान के बिस्किट चॉकलेट आदी कब्ज कि समस्या पैदा करते हैं इनके जगह आप अनाज और आटे का उपयोग कर सकते है ।कब्ज की परेशानी होने पर ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए कम से कम 8 से 10 गिलास पानी 1 दिन में जरूर पिए ज्यादा से ज्यादा लिक्विड लें नारियल पानी दूध छाछ लस्सी आदी लें सुबह गुनगुने पानी में नींबू का रस डाल कर लेने पर कब्ज से राहत मिलती है।फाइबर युक्त आहार लें जादा देर तक बैठ कर जोर न लागाये हल्का गुनगुना पानी पियें जब प्रेशर आऐ तब कोशिश करें
हाय डिअर प्रेगनेंसी में अक्सर हारमोंस चेंज होने की वजह से कब्ज की प्रॉब्लम जैसी शिकायत हो जाती हैयदिapko कॉन्स्टिपेशन की शिकायत हमेशा बनी रहती है तो आप खाने में ज्यादा से ज्यादा फाइबर की चीजें ऐड कीजिए आपsalad khaye or jyadaपानी piye सोडा चाय कॉफी कोल्ड्रिंग जैसी चीजें कम से कम khayeमैदा कम खाने के लिए चाहिए यह सब ट्राई करके देखिye| सुबह उठकर सबसे पहले एक गिलास गुनगुना पानी पीएं इसके बाद फ्रेश होने जाएं इससे पेट साफ हो जाता है रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुना दूध पीएं इससे भी कब्ज की प्रॉब्लम से कम hoti hai
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: dr.mere private part me bhut dane ho gya h or drd v ho r h plz koi upay btiye
उत्तर: सेम प्रॉब्लम मीयर को भि हूई थी त्ब स्किन डॉक्टर ने 2 ट्यूब डि थी मिक्स कड़कें लगने के लाइए मुझे काफी अराम mila
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: jb baby movement krta h to halka halka pain hota h private part m or aise lagta h jaise toilet aa raha h bhut jor se
उत्तर: प्रेगनेंसी का समय जैसे आगे बढ़ता है वैसे ही गर्भाशय का आकार बढ़ने के साथ-साथ बेबी का साइज भी बढ़ चुका रहता है जिसके वजह से गर्भाशय का पूरा वजन ब्लैडर पर होता है ब्लेंडर पर प्रेशर पड़ने की वजह से बच्चे की हलचल जब होती है तो हमें हल्का दर्द महसूस हो सकता है और इस समय बार बार यूरिन जैसा महसूस होना भी नॉर्मल बात होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mohini Mishra द्वारा संदेश hiiii plz हेल्प meri date 4 dec thi abhi aaya nhi mere निप्पल touch hone pr drd de rha vomating jaisa subah brush krne pr ho rha tha pr ab to kbhi v lgta h pith aur pair kbhi kbhi drd ho rhe pyas v bhut lgti h , mouth ke upar niche सुस्क ho gya h husband pas aate h to kch krne ka v mn nhi hota plz help म
उत्तर: Doctor se consult kar k yaa ghar per hi peregnency kit se test kar k dekhiye. pregnency mei bhi aisa hota hai..
»सभी उत्तरों को पढ़ें