15 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: pregnancy thyrox mai kiya khana chahiye n kiya nhi ...

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो नॉर्मल थाइरॉइड स्टिमुलतिनग हार्मोस TSH प्रेग्नेन्सी के समय low रहता है नॉर्मल नोनप्रेगननसी लेवल के . 1st ट्रिमेस्टेर में 2.5 से कम रहता है .रेंज है 0.1 से 2.5 . 2nd ट्रिमेस्टेर में 0.2 से 3.0 तक . अगर प्रेग्नेंसी में थायराइड हो गया है तो परेशानी की कोई बात नहीं है डॉक्टर द्वारा दी गई दवाइयां को समय पर ले. समय-समय पर अपना ब्लड टेस्ट कराएं और ध्यान रखें कि आप डॉक्टर से सलाह करके ही थायराइड में सहायक होने वाले व्यायाम या एक्सरसाइज या कोई प्राणायाम करें. आमतौर पर pregnancy के दौरान थायरॉयड के इलाज में दवाओं के डोज बढ़ा दिए जाते हैं लेकिन बच्चे के जन्म के बाद इसे जरूरत के हिसाब से कम कर दिया जाता है। थायराइड आजकल ऐसी प्रॉब्लम है जो बहुत सी लेडीस को होती है ।परेशान मत होइए। हमारे गले में थायराइड ग्लैंड से होती हैं। जो शरीर से आयोडीन लेकर थाराइड हॉर्मोन्स बनाते हैं। यह हारमोंस शरीर में मेटाबॉलिज्म को बनाए रखने में मदद करते हैं। जब इन हारमोंस की मात्रा बढ़ती है या कम होती है तब थायराइड की प्रॉब्लम हो जाती है। जिससे हमारे शरीर में अंदर बाहर बहुत से बदलाव होते हैं । यह दो प्रकार के होते हैं १।हाइपो थायराइड और २।हाइपर थायराइड। थायराइड होने पर आप इन्हें अपने खाने में जरूर शामिल करें। मशरूम -मशरूम में सेलेनियम होता है । थायराइड को कंट्रोल करता है। अंडा -अंडे में भी सेलेनियम होता है। जो थायराइड कम करने में मदद करता है। आप रोज एक अंडा खाए। नट्स खाने से भी थाराइड हारमोंस में मदद मिलती है। आप नट्स में बादाम और अखरोट खा सकती हैं अगर आपको कोई कैलेस्ट्रोल प्रॉब्लम है तो। दूध -दूध पीने से थायराइड हारमोंस को कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलती है ।रोज एक गिलास दूध जरूर पीना चाहिए। साबुत अनाज -साबुत अनाज रोज में खाने से थायराइड के साइड इफेक्ट से आप बच सकते हैं। मेथी -मेथी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो थायराइड हार्मोन कंट्रोल करते हैं । इन सभी चीजों को अपने रोज के आहार में शामिल करें आपके थायराइड समस्या में बहुत आराम मिलेगा। थायराइड होने पर क्या नहीं खाएं । आयोडीन नमक -ऐसा नमक नहीं है जिस में आयोडीन की मात्रा ज्यादा हो।ऐसा कोई आहार ना ले जिसमें आयोडीन बहुत हो। चाय व कॉफी कम से कम ले । अल्कोहल बिल्कुल भी ना लें। वनस्पति घी या डालडा का प्रयोग ना करें। कैपिंग अपना ध्यान रखें .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Kiya khana chahiye or kiya nehi khana chahiye
उत्तर: हेलो डियर आपकी डिलिवरी हुये 2 महीने हो गये है . ऐसा आहार जिसमे कैलोरी ज्यादा हो फाइबर ज्यादा हो प्रोटीन ज्यादा हो फैटी एसिड ज्यादा हो जिससे कि आपको सभी चीजों में मदद मिले और आप अपने बच्चे की ग्रोथ अच्छी तरह कर पाए.आप ऐसा आहार जो आसानी से pachhe. जिससे कि आपको कब्ज नहीं ho.आपको गैस भी ना बने .दही ले जो अच्छे बैक्टीरिया को संतुलित करेगा पेट में.पनीर खाएं. बंद डब्बा food या fastfood नहीं खाएं .फैटी एसिड लें. मैं आपको ओमेगा-3 मिलेगा और जो आपके बच्चे के दिमाग के लिए आंखों के लिए बहुत लाभप्रद होगा.प्रोटीन शरीर में नई मांस पेशियों व कोशिकाओं को बनने में मदद करता है. साथ ही शरीर में आए घाव जो ऑपरेशन से आपको हुआ है उसको वह जल्दी भर देगा.स्तनपान कराने के समय आपके शरीर में बहुत सारे प्रोटीन की जरूरत होती hai.मछली अंडा चिकन डेयरी उत्पाद मटर दाल राजमा सूखे मेवे खाएं. रोज एक अंडा खाएं अंडे में जिंक होता है.विटामिन सी लें इससे आपको आपके घाव को जल्दी भरने में मदद मिलेगी और immunity अच्छी होगी. एंटीआक्सीडेंट होते हैं .विटामिन-सी में जैसे पपीता संतरे तरबूज स्ट्रॉबेरी अंगूर शकरकंद टमाटर गोभी ब्रोकली यह सब आप खा सकती हैं. आयरन की मात्रा इस समय आपको बहुत अच्छी लेनी होगी. आयरन से आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी. अंडे की जर्दी अंजीर राजमा khayen . iron वाले आहार से आप को कभी कभी कब्ज हो सकता है आप ध्यान रखें कि आप पानी काफी मात्रा में पिए .इससे आप को स्तनपान कराने के लिए भी दूध पर्याप्त मात्रा में होगा.कैल्शियम मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है. यह दांतों और हड्डियों को मजबूत करता है .स्तनपान के समय मां के शरीर से कैल्शियम बहुत जल्दी खत्म होता है. दूध जरूर ले इससे आपको कैल्शियम भी मिलेगा और बच्चे के लिए भी दूध अच्छा बनेगा.फलों का रस लेते हैं पर फल खाना ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि जो रस हम पीते हैं पीने के बाद जिस गूदे को हम फेंक देते हैं उसमें फाइबर होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pregnancy k 5 ve hfte m kiya kiya khana chahiye
उत्तर: hello डियर ,,aapko 12 week ki pregnancy chal rhi hai,12 week li प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में आयरन कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस ,तथा अन्य प्रकार के सप्लीमेंट की बॉडी को अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है इसलिए अपने भोजन दूध, दही, दूध, पनीर , ड्राई फूट्स, केला मोसम्मी, संतरा ,कीवी, आडू ,अनार ,खजूर, ब्रोकली ,अखरोट पत्ता गोभी, गाजर ,शिमला, टमाटर ,लगभग सभी प्रकार की हरी सब्जियां सलाद अंकुरित, अनाज, मछली, eggs विभिन्न प्रकार के विभिन्न प्रकार के फल पपाया, पाइनएप्पल को छोड़कर आप ले सकती हैं फलों का जूस ,मिक्स वेजिटेबल सूप इत्यादि अपने भोजन में शामिल कर करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में आयरन ,कैल्शियम, विटामिंस, मिले जो कि बच्चे के ब्रेन बॉडी डेवलपमेंट में आपकी मदद करेंगे | भोजन के अलावा आपको पर्याप्त मात्रा में पानी की भी उतनी ही आवश्यकता होती है इसलिए 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं नारियल पानी का भी उपयोग आप बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए कर सकते हैं| चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक फास्ट फूड इत्यादि का सेवन ना करें| किसी भी प्रकार की नशीली चीजें का उपयोग ना करें| मिर्च मसाले तले ,भूले हुए चीजों का उपयोग कम से कम करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kiya mango nahi khana chahiye pregnancy me
उत्तर: हां, आप गर्भावस्था के दौरान आम खा सकती हैं। आम आयरन, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी6, पोटेशियम और फॉलिक एसिड से भरपूर है। ये सभी गर्भावस्था के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्वहैं। आम में फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है, जो कब्ज की रोकथाम में मदद कर सकता है। ये ऊर्जा और एंटीऑक्सीडेंट के भी अच्छे स्त्रोत हैं।आम प्राकृतिक रूप से मीठे होते हैं। इनमें अधिकांश फलों की तुलना में अधिक शर्करा होती है ।इसलिए, अगर आपका मीठा खाने का मन हो, तो केक या पेस्ट्री की बजाय आम स्वादिष्ट विकल्प हो सकते हैं।इन्हें अच्छे नाश्ते (स्नैक्स) के तौर पर खा सकती हैं। मगर इन्हें कम मात्रा में, संयम से ही खाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें