28 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: pregnancy m mooli khana chahiye ya ni

1 Answers
सवाल
Answer: हलों ,,, प्रेगनेंसी में मूली खा सकते हैं मूली में अल्प मात्रा में आयरन ,कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस होते हैं जो कि बेबी ke body and brain development में मदद करता hai... मूली में फाइबर होता है क्योंकि पाचन संबंधी समस्या को दूर कर गैस ,अपच को कम करता है | मूली खाते समय विशेष सावधानी रखनी चाहिए मूली को अच्छी तरह से धोकर या फिर मूली के छिलके को निकाल कर ही खाना चाहिए क्योंकि यह बहुत जल्दी ही इंफेक्शन पैदा करने वाले होते हैं|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: pregnency m baigan khana chahiye ya ni
उत्तर: 🙏 गर्भावस्था में आप भटा खा सकती है पर बहुत ही संयमित मात्रा में क्योंकि यह गरम होता है इसका अधिक सेवन नुकसान पहुंचा सकता है पर इसका कम से कम मात्रा में सेवन आपको फायदा भी दे सकता है इसलिए आप इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए बहुत ही कम मात्रा में भटा लें। Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Pregnancy m ky ni khana chahiye
उत्तर: हेलो प्रेग्नेंसी में ये ना खाएंकरेले ना खाएं कच्चे दूध का सेवन नहीं करना चाहिएपपीते का सेवन न करें बथुआ ना खायेकटहल का सेवन न करें कैफ़ीन चाय कॉफी का सेवन न करेंइलाइची ना खाएं बासी और फ्रिज में रखें ठन्डे खाने का सेवन बिलकुल न करेंकटहल ना खाएंअधपके मीट का सेवन नहीं करना चाहिए अनानास का सेवन नहीं करना चाहिएअंगूर का सेवन कम से कम करना चाहिएड्राई फ्रूट में बदाम अखरोट ना खाएंगरम चीजो से दूर रहेंनशीले पदार्थो का सेवन न करेंअत्यधिक मसाले व् तले हुए पदार्थो के भोजन से परहेज रखना चाहिए बिना डॉक्टर की सलाह के दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Pregnancy m makhana khana chahiye ya nhi
उत्तर: हेलो मखाना में कोलेस्ट्रॉल, फैट और सोडियम की मात्रा कम पाई जाती है. इसलिए बेवक्त भूख लगने पर इसे डायट में शामिल किया जा सकता है. ये ग्लूटन-फ्री होता है. प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है और इसमें कार्बोहाइड्रेट्स पाए जाते हैं. जो स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं. अगर सही मात्रा और सही समय पर इन्हें डायट में शामिल किया जाए तो वजन घटाने में लाभकारी हो सकते हैं. मखाना में सोडियम की मात्रा कम होती है. वहीं दूसरी ओर इनमें पोटैशियम और मैग्नीशियम काफी ज्यादा होता है जो उच्च रक्तचाप की समस्या को खत्म करता है. कैल्शियम की मात्रा पाई जाने के कारण ये हड्डियों और दांतों के लिए लाभकारी होते हैं. मखाना में एस्ट्रीन्जेंट गुण पाए जाते हैं जो किडनी से जुड़ी समस्याओं को कम करते हैं. इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण, स्ट्रेस को कम करने और क्रॉनिक इंफ्लेमेशन को शरीर से निकालने में मदद करता है. डायबिटीज़ वालों के लिए ये एक अच्छा विकल्प है. ये ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम होता है जो शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद है. मखाना में कई ऐसे एंटी-एजिंग एंजाइम्स पाए जाते हैं जो प्रोटीन सेल्स को नष्ट होने से बचाते है आप प्रेग्नेंसी के दौरान एक कटोरी में खाना रोज खा सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें