39 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: poti jasa dard hota h lekin aati nhi

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere bete ko poti thik s nhi aati h
उत्तर: अगर आपका बच्चा फार्मूला दूध पीता है तो उसे एक से दूसरे के बीच थोड़ा पानी पिलाते रहें दूध में बहुत ज्यादा पाउडर ना मिला है इससे बच्चे के शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिससे कॉन्स्टिपेशन हो सकता है आपका बच्चा सॉलिड खाना khata है तो उसे बॉयल ठंडा किया गया पानी दे आप उसे 2 छोटे चम्मच आलूबुखारे का रस भी दे सकते हैं बच्चे को प्यूरी बनाकर या छोटे छोटे हिस्से में काटकर एप्पल , ग्रेप्स ,स्ट्रॉबेरी ,किशमिश दे सकते हैं इस meinकाफी फाइबर होता है मुनक्का की प्यूरी को ज्यादा फायदेमंद माना जाता है आप उसे यह पूरी एक या दो चम्मच पिला सकती हैं बच्चे के खाने में दालें भी शामिल करें अगर घरेलू उपचार से काम ना चले तो डॉक्टर से जरूर सलाह लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje sar dard bhut hota h ..neend bhi nhi aati..kya kru
उत्तर: इस दौरान सिर में दर्द होना आम बात है, ऐसा हार्मोन में बदलाव के कारण होता है. तनाव, भोजन कम करने और नींद की कमी जैसे कारणों की वजह से भी सिरदर्द होता है सिरदर्द की दवाएं आपके होने वाले शिशुको नुकसान पहुंचा सकती है, साथ ही बच्चे के विकास पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है थकान होने से बचें, और ज्यादा से ज्यादा आराम करें। किसी भी प्रकार का तनाव ना लें, अगर सिरदर्द हो रहा हो तो किसी अंधेरे, शांत से कमरे में थोड़ी देर के लिए आराम करें,यदि आप काम कर रहे हैं, तो कोशिश करें कि अपनी आँखें बंद करें और अपने पैरों को 15 मिनट के लिए फैलाकर बैठें, 20 मिनट के लिए अपनी गर्दन को पीछे कर लें और सर पर ठंडे पानी का सेक लें, इससे आपको आराम मिलेगा सिरदर्द को कम करने के लिए भाप लें कोशिश करें कि ऐसी स्थिति में भीड़भाड़ वाली जगह में ना जाए ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें, और सही से भोजन करें, जिससे आपको कमजोरी ना हो, दिन भर में थोड़ा-थोड़ा लगातार खाना खाते करें,इससे सिर दर्द को रोकने में मदद मिल सकती है। प्रर्याप्त नींद लें,नींद की कमी के कारण भी कई बार सिरदर्द होता है अपने कंधे और गर्दन की मालिश करें, इससे आप आराम महसूस करेगीं. रात मे आप अच्छे से साफ सुधरी होकर हल्के कपड़े पहनें , कमरे की रोशनी धीमी रखे अपनी पसंदka धीमा गाना या भजन सुने , आप अच्छी सी कितना भी पढ़ सकती है , सकरतमक सोच रखे , आपको जरुर नींद आएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje rt ko pero me dard hota h or nind nhi aati
उत्तर: प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसमें घबराने की कोई बात नहीं है या अब बहुत सी महिलाओं को होता है प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होने का एक कारण हो सकता है कैल्शियम की कमी ..गर्म पानी में आप थोड़ी देर अपने पैर डालें उस गर्म पानी में पहले थोड़ा सा नमक डालें फिर उस पानी से अपने पैरों की सिकाई करें ...अपने खाने-पीने का भी ध्यान रखें ,कैल्शियम रिच डाइट लें दूध दही पनीर यह सब अपने आहार में लें...नींद ना आने पर आप कुछ उपाय कर सकते हैं जैसे कि ...मॉर्निंग वॉक करें हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करें इससे ब्लड सरकुलेशन होता रहेगा रात के समय पैरों में ऐंठन कम होगी तनाव बिल्कुल ना ले इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने आपको हर वक्त खुश रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: raat ko bhut jyada pero me bhut tej dard hota h jiski wgh se neend nhi aati ....what to do ?
उत्तर: Legs pain/ cramps is quite normal in pregnancy. Stretching: It is important to stretch your muscles before your exercise and use them for long periods of time. However, stretching is also useful to help alleviate the cramp. Massage: This is often the most used method to alleviate a cramp and reduce the pain associated with it. Massaging the cramping muscle and sometimes massaging neighboring muscles helps take away the cramp. Add Heat: Heat can be applied to your cramping muscle using a heating pad, a microwaved heated cloth bag of rice, or some of the over-the-counter air-activated heating pads. Epsom Salt: A warm bath can often alleviate the cramp and pain, but an Epsom salt bath is usually a little more effective. This helps you relax overall and it helps relieve the tension in your muscles. Ice the Pain: You can wrap ice from the refrigerator or use an ice pack and apply to your cramping muscle. This cold often helps take away the pain associated with the cramping muscle. Combination: Stretching and then massaging the muscle with either a heating pad or ice pack often work together to collectively stop the cramping and alleviate the pain.
»सभी उत्तरों को पढ़ें