30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: pani ja rha h koe problem to नही एच nq

1 Answers
सवाल
Answer: थोड़ा थोड़ा आ रहा है तो कोई प्रॉब्लम नि है मुझे भी होता था बट अगर जयदा हों तो डॉक्टर को दिखा ले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: muje white pani bhut ja rha एच kya kre
उत्तर: हेलो डियर"""" प्रेगनेंसी के दौरान सफेद पानी होना एक सामान्य बात है सफेद पानी गर्भस्थ शिशु के लिए सुरक्षा प्रदान करती है किसी भी प्रकार के इंफेक्शन आदि के प्रभाव को रोकने में सफेद पानी बहुत ही महत्वपूर्ण होता है| कभी-कभी सफेद पानी के साथ हल्का पीला या गुलाबी रंग का गाढ़ा पदार्थ भी वहां निकलता है इसमें भी घबराने की बात नहीं क्योंकि यह मृत कोशिका होती है सफेद पानी अत्यधिक शारीरिक श्रम, थकावट ,अधिक स्ट्रेस लेने आदि कारणों से हो सकती है| सफेद पानी के साथ आपको अत्यधिक पेट दर्द या फिर बदबू युक्त सफेद पानी निकलने लगे तब आप चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: aj kl sfed pani nikl rha h .... koe problem to ni hogi
उत्तर: हैलो डियर-गर्भावस्था में निकलने वाले सफेद पानी को या तो सर्वाइकल म्यूकस कहते हैं या लिकोरिया कहते हैं या गर्भावस्था में अक्सर दिखाई देता है इसमें डरने वाली कोई बात नहीं यह गर्भ में पल रहे बच्चे की सुरक्षा के लिए होता है।यह पूरे गर्भावस्था में हल्का फुल्का पानी कभी-कभी दिख सकता है जिसका कारण स्ट्रेस सेक्स या फिर भारी काम करने और थकने की वजह से हो सकता है लेकिन कभी-कभी यह बहुत अधिक मात्रा में निकले और दरद भी हो तो यह घबराने वाली बात हो सकती है इसलिए अगर यह यह आपको बाथरूम की जगह अगर यह अधिक मात्रा में स्त्रावित हो या पेट में दरद हो और स्मेल हो तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए Take care।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hlo mam kl se pani jesa discharge ho rha h koe problem ki bat to nhi h please reply
उत्तर: सफ़ेद पानी अगर थोड़ी थोड़ी मात्रा में आए तो ये नार्मल है आप चिंता न करे किसी किसी को ये प्रॉब्लम होता है जरुरी नहीं कि सब के साथ हो. ये एक तरह से अच्छा होता है ये आपके गुप्तांग को इन्फेक्शन फ्री बनता है ये आपके योनि को क्लीन करता है क्युकी इसमें मरे हुए टिश्यू होते है जो आपके शरीर से बहार निकल जाता है जो आपके लिए अच्छा है। अगर ये पानी गाढ़ा सफेद और गंधहीन हो तो कोई दिक्कत नहीं लेकिन अगर यह ब्राउन हो पिंक हो या इसमें ब्लड आये तो अपने डॉक्टर्स को बताए अगर इसमे बदबू आए तो भी डॉ को जरूर बताए.. बहुत ज्यादा होने पर भी डॉक्टर की सलाह जरूर लीजिए। प्रेगनेंसी के मंथ में हमारे कमर पर जोर पड़ता है जिससे कमर दर्द, पीठ दर्द, पैर दर्द, पसलियों मे दर्द की शिकायत होती है। वजन बढ़ जाने की वजह से पैरो में भी दर्द रहता है। आप करवट लेकर लेफ्ट साइड करके सोय। पैरों में दर्द के लिए आप कुछ देर आराम कीजिए अपने पैरों में सरसों के तेल से मालिश कीजिए और अपने पैरों को हल्का गर्म पानी में हल्का नमक डालकर थोड़ी देर duba कर रखिए इससे आपको पैरों के दर्द में आराम मिलेगा। दोनो पैरो के बीच में तकिया लेकर सोये। इससे बहुत आराम मिलेंगा। आप सरसो के तेल से हलकी हलकी मालिश भी कर सकती है। कमर के दर्द पीठ और पैरो के दर्द के लिए सरसो का तेल बहुत फायदेमंद रहता है। आप थोड़ा जयाद अराम किया कीजिए. जयाद देर खड़े होकर और जयाद झुक कर काम करना अवोइड कीजिए .. खाने पीने मे पोष्टिक अहर लीजिए अगर दर्द कमज़ोरी से हुआ तो वह खाने पीने में धयान देन से ही ठीक हो जायेगा. अगर आपको ज्यादा दर्द है तो आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें