14 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: nt scan colour hota h.... ya.y level one ka hotaa h.. black nd white huaa h mwraa kaal

1 Answers
सवाल
Answer: Ha ye scan black n white hi hoga 3d scan colour hota h jo ki 2/3 temester me hota h
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 1st level , 2nd level nd 3rd level ultraa sound kis liyee hotaa h.. mujhee jaanaa h ki hr लेवेल m kyaa jaanne k liyee hotaa h..
उत्तर: hello बच्चे की डेवलपमेंट हार्टबीट और पोजीशन को देखने के लिए डॉक्टर अल्ट्रासाउंड की सलाह देते हैं प्रेगनेंसी के दौरान पहला अल्ट्रासाउंड छठवें हफ्ते से 9वे हफ्ते के बीच कराई जाती है। प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर सेकंड लेवल अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें बच्चे के डेवलपमेंट और प्लेसेंटा की पोजीशन देखी जाती है। और प्लेसेंटा में कॉम्प्लिकेशन होने पर बताया जाता है दूसरे टेस्ट ग्लूकोस की स्क्रीनिंग टेस्ट होती है जिसमें ब्लड में ग्लूकोज की मात्रा को देखकर प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले गेजस्ट नल डायबिटीज की जांच की जाती है तीसरा टेस्ट डॉपलर टेस्ट होता है जिसमें फीटल पर ब्लड और ऑक्सीजन की सप्लाई का टेस्ट किया जाता है। यह सारे टेस्ट प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर कराना जरूरी रहता है गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में अल्ट्रासाउंड स्कैन करवाने का सबसे आम वजह यह पता करना होता है कि शिशु सामान्य ढंग से बढ़ रहा है या नहीं गर्भावस्था के 28 से 32 सप्ताह के बीच ग्रोथ और फीटल वेलबींग स्कैन कराने के लिए कहा जाएगा। इससे पता चलेगा कि आपका शिशु किस तरह बढ़ रहा है।  डीलिवरी डेट के आसपास, 36 से 40 सप्ताह के बीच एक अन्य ग्रोथ स्कैन और कलर डॉप्लर टेस्ट करवाना होगा, जिसमे पलेसेंटा की पोजिशन एमनियोटिक द्रव की मात्रा को बेबी पोजिशन और वेट बेबी में होने वाले ब्लड और ऑक्सीजन की सप्लाई का और बच्चे की डिलीवरी डेट का पता लगाया जाता है। यह प्रेगनेंसी का आखिरी तिमाही होता है इसलिए डॉक्टर के संपर्क में बने रहना पड़ता है। हर महीने कम से कम एक बार डॉक्टर को जरूर दिखाना पड़ता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam potti ka colour black / brown q hota h
उत्तर: हेलो ड प्रेगनेंसी में य लैक potty हो रही है और साथ में अगर आप आयरन की टेबलेट ले रहे हैं तो ब्लैक पॉटी होना बहुत ही नॉर्मल है बिल्कुल भी tensn नही आयरन आप रात में ना लें दिन में लें और साथ ही आप बहुत पानी भी खूब पिए .आयरन कि जब भी आप टैबलेट लेती है तो साथ में कैल्शियम की टेबलेट नाले .कैल्शियम की टेबलेट लेने का अलग समय रखें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ब्लैक एंड वाइट और कलर सोनोग्राफी m क्या डिफ्रेंट h
उत्तर: कलर सोनोग्राफी में अंदर का अच्छे से पता chal जाता है बेबी k बारें में k उसके बॉडी पार्ट्स अच्छे से बन रहे है और ब्लैक n वाइट में बच्चे की मूवमेंट और हार्टबीट का पता चलता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें