15 महीने का बच्चा

Question: khata nahi hai mera baby उसका वज़न भि bahut kam है . kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए आप उसके भोजन में इन तत्वों को भी शामिल कीजिए जैसे -मलाई सहित दूध,अंडे,आलू ,शकरकंद, नट्स ,केला, दाल,फुल क्रीम दही ,चीज़ / पनीर,रागी ,घी ,मूंगफली का मक्खन,हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें ,जिंक से भरपूर भोजन,प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट,दूध में शहद,जैतून का तेल,सूप, खीर और हलवा ,चीकू / सपोटा 
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera baby 19 month ka hai vo khata bohot kam है kya karu kese khilau
उत्तर: आप बच्चे को डिफरेंट तरीके के फ्रूट्स खिलाइए एप्पल, बनाना, ऑरेंज, ग्रेप्स आप उसको स्वीट्स भी खिला सकते हैं जैसे कि खीर, आटे का हलवा, मूंग दाल का हलवा यह सब बहुत पौष्टिक चीजें हैं जो आपके बच्चे को भी बहुत पसंद आएंगी आप बच्चे की पसंद का खाना बनाएं बच्चे से पूछा कि बच्चे आप क्या खाएंगे इससे भी बच्चे के अंदर khane में इंटरेस्ट बढ़ेगा फिर भी आप अपने बच्चे को दूध में केला मिक्स करके दे सकती हैं ,उबला हुआ आलू भी खिला सकती हैं ,दाल का पानी दे सकती हैं आप उसे चावल का पानी भी दे सकती हैं बच्चे को थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खिलाते रहे इससे उसकी खाने की आदत में सुधार होगा बच्चे को खेल-खेल में भी खिलाएं उसका खाने के प्रति ध्यान आकर्षित करें आप बच्चे को दलिया खिलाए बहुत ही digestive होता है aur daliye में कई तरीके की सब्जियां भी डाल सकती हैं बच्चे को बहुत टेस्टी भी लगेगा और फायदा भी करेगा हां आपको अपने बच्चे को खाना खिलाने में थोड़ी मेहनत तो करनी पड़ेगी चिंता ना करें बच्चा खाना जरूर सीखेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera baby 7 month ka hai par uska weight bahut kam hai ... Kya kar sakty hai... Vah khata bhi nahi thik se .... fruits Purees bhi nahi ....
उत्तर: हल्लो। आप ध्यान रखे आपका बचा दिन में ४ बार याने उठते साथ , दोपहर में ,शाम को , और रात में सोने से पेहल।। आपका दुध ले और ३ टाइम याने नाश्ता , दोपहर का भोजन फिर रात का खान।। जो भी आप ताज़ा बनाये वह थोड़ा थोड़ा खै। आप डेरी प्रोडक्ट दिया करे। जैसे घर का बना दही , पनीर ।। आप बाकी ये सब दे सकती है।। Chawal kheer , सूजी की kheer , गाजर की kheer ,ल्वाकि की kheer।। मूँग दाल की खिचडी मासूर दाल की खिचडी दाल चवाल दाल रोटी दुढ रोटी केला शीक फ्रुइट्स की स्मूथिएस काधी चवाल आते का हल्वा सूजी का हल्वे सब्जीयू का सूप काऊ मिल्क याने gaay का दुध pine नहीं द. बच्चे के 1 साल होने के बाद है उसे गाय का दूध देना चाहिए .6 महीने तक के बच्चे के लिए आप जो भी खाना बनाती हैं उसमें आप गाय का दूध इस्तेमाल कर सकते हैं. पर दूध पीने के लिए बिल्कुल भी ना दें. गाय के दूध में पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं होता. जिससे कि उसके शरीर एनिमिक होने की समस्या हो सकती है . मां के दूध में और फार्मूले में गाय के दूध की तुलना में आयरन ज्यादा होता है इसलिए आप 1 साल तक गाय का दूध बिल्कुल भी ना दें . 1 साल के बाद अगर आप गाय का दूध देना भी चाहती हैं तो आप ध्यान रखें कि दूध अच्छी तरह उबला हो और ताजा हो साथ ही दूध की मात्रा 350 ml से 400 ml तक ही दें .गाय के दूध में प्रोटीन कैल्शियम मैग्नीशियम और विटामिन बी12 बी2 होता है. आप जब भी गाय का दूध दे वह मलाई सहित दे मतलब की फुल क्रीम दूध दे. गाय का दूध अगर आप ज्यादा देंगे तो बच्चे को सॉलिड आहार लेने के लिए पेट में जगह नहीं बचेगी .जिससे कि उसका पूरा पोषण तत्व मिलना कम हो जाएगा और शरीर कमजोर होने लगेगा. आप की तरह मैं भी अपनी बच्ची के लिए परेशां थी। वह भी कुछ कहती नहीं थी।। उसके वजन को लेकर और उसकी हाइट को लेकेर। मैंने कुछ घरेलु उपाए किये जिससे मुझे बहुत अच्छा रिजल्ट मिळा। आप भी करके देखे । परेशां मात होइये। आपके भी बच्ची का वजन और हाइट अच्छी होजाएगी। 1)Dhyaan रखे वह खाना खाने के समय से २० मिनट पहले कुछ और स्नैक्स नहीं खाये ।. 2)बच्चे के पसंद का खाना बांये जो की पौष्टिक हो। 3)बच्चे को खाना डेली स्वाद बदल केर दe. 4) जभी आप खाना खाये उसको साथ में खिलाये । अलग प्लेट में खाना द। बच्चे बडो को देख केर खाना सिख जाते है । 5)सूजी को भुञ्ज ले और उसमे थोड़ा घी मिलाकर गाजर टमाटर aur hari sabjiya दाल कर अच्छे से पकाले। 6)अगर बच्चा मीठा पसंद करे तो नरम रोटी छोटे छोटे टुकड़े करके द।रोटी को दुध में साने और घी लगा केर द। 7) आते का हल्वा बनाये घी मे। तोडे पइसे हुए ड्राई फ्रूट्स डाले। 8) मलाई वाला दुध द। 9) सभी मौसम के फ्रूट्स दे । ## ध्यान रखे बचा छोटा है इसलिए कोई भी खाना एक बार में बहुत सारा और उसमे बड़े टुकड़े नहीं हो। ## अच्छे से पका हो।ताजा हो ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby kuch nahi khata hai to kya karu
उत्तर: हेलो डिअर बेबी छोटे होते है तो आपको ही चेक करना पड़ेगा की कोई प्रॉब्लम तो नही है बेबी को। बेबी क्यों खाना नही खा रही है। बेबी को कोल्ड और फीवर होगा तब भी नही खाएगी और रोने का रीज़न हो सकता है। बेबी के पेट् में दर्द तो नही है। बॉडी में कही और तो पीडा नही हो रहा है। टीथिंग के कारण भी ऐसा होता है। ऐसे में माँ को बेबी को खूब प्यार देना चाहिए उसके साथ ज्यादा टाइम स्पेंड करे। वो ख़ुशी से जो खाए सिर्फ वो खिलाइये। फाॅर्स मत कीजिये वो बॉडी में भी नही लगेग। कभी कभी एक ही तरह के खाने से भी बोर हो जाते है बेबी कोअलग अलग प्रकार का भोजन दीजिए। मिल्क के लिए फोर्स न करिये सॉलिड पे ध्यान दीजिए इस उम्र में सॉलिड ज्यादा जरुरी है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें