36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mujhein 39week chal rahaan he ultrasound ke repot k hisab se but mujhein labour pain nahi ho rahaan or doc ne 9march diye he due date meri first baby 40week me normal hui thi ab second baby cephalic position me he to kab hoga mujhein labour pain mujhein bahot dar lag rahaan he plz kuch sujav de labour k liye

2 Answers
सवाल
Answer: डियर ...लेबर पेन नहीं आने पर भी यदि शिशु अंदर achhe से है तो जबरदस्ती लेबर पेन लाने की बिल्कुल भी कोशिश ना करें . आप की डिलीवरी क पेन होना एक नेचुरल प्रोसेस है..लेबर pain aane ka आप इंतजार करें और अगर ऐसा नहीं हो रहा है तो 42 weeks होने के बाद आप डॉक्टर के पास जरूर जाएं.वरना अगर आप k pregnancy में कोई कॉम्प्लिकेशन होती है या बेबी के गले में naal fas जाती है तो डॉक्टर आपको सिजेरियन डिलीवरी करने की ऑप्शन देते हैं ओके
Answer: आप ko milk me ghee dal kar pina cahiye
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 17 dec ko mara 8th month start Hua he or me 2 din pahele yani li 26 tarikh ko dr.k pas chekup k liye gai thi to dr.ne bola k aapka bachha ulta he or Muje duvadilan nam ki dawai di 10 din k liye or 10 din k bad wapas chekup k liye bulaya.but Muje dar lag raha he k delivery k time take bachha sahi position me to aa jayega k nahi bcz muje normal delivery hi karvani he to plz iska solution de aap muje
उत्तर: अगर प्रेगनेंसी में उल्टा बच्चा या ब्रीच बेबी है तो उसके सीधा होने के चांसेस बहुत कम होते हैं ब्रीच बेबी मूवमेंट करते हुए अपने आप कभी कभी सही पोजीशन में आ सकते हैं। अगर आप अपना सोने का उठने बैठने का पोजीशन सही रखें तो ऐसा हो सकता है। पीठ के बल कभी ना सोए लेफ्ट करवट सोये। ज्यादा देर एक ही पोजीशन पर ना रहै ब्रीच बेबी की पोजिशन बदलने के लिए बच्चे को पेट में ज्यादा जगह देना पड़ता है डॉक्टर पेट के बाहर से ही अपने हाथों से बच्चे की पोजीशन बदलने की कोशिश करते हैं और इस प्रक्रिया को एक्सटर्नल सैफेलिक वर्जन कहा जाता है यह प्रेगनेंसी की आखरी हफ्ते में किया जाता है और यह तभी किया जा सकता है जब आपकी ब्लीडिंग नहीं हो रही हो बच्चे का हार्ट रेट सही हो। फ्लूइड की मात्रा कम ना हो प्लेसेंटा गर्भाशय के मुख के पास ना हो। लेकिन इसके बाद भी इसमें चांसेस कम ही होते हैं इसलिए डॉक्टर ब्रीच बेबी होने पर ऑपरेशन की सलाह देते हैं क्योंकि यह मां और बच्चे दोनों के लिए सेफ होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें