19 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mujhe 19week chl rha h सानसlene me tklif ho rhi h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप की गर्भावस्था में सांस लेने में दिक्कत होना बिल्कुल नॉर्मल से बात है इससे आपके बेबी को कोई भी प्रॉब्लम नहीं होगी इसलिए आप बिल्कुल टेंशन फ्री रहे आपको जब भी सांस लेने में तकलीफ हो तो आप हल्की वॉक करें और लंबी लंबी सांसे ले इससे अधिक मात्रा में बेबी को ऑक्सीजन मिल सकेगा और सांस आप मुंह से ना लें नाक से ले तो बेहतर होगा आप अपने कपड़ों का भी ख्याल रखें ढीले कपड़े पहने और पानी ज्यादा मात्रा में पिएं ओके डियर टेक केयर
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 28week pregnant...jango me bahut lain ho rha h..chlne me b tklif ho rhi hai..aisa kyu ho rha h..plzz ans me
उत्तर: Hello डियर , प्रेग्नेन्सी में पैरो पे सुजन आना आम बात है क्युकी बेबी का और आपका वेट पैरो पर भारी पडता है आपको जब भी संभव हो, अपने पैरों को थोड़ी ऊंची सतह पर रखकर बैठें। दफ्तर में अपनी डेस्क के नीचे स्टूल या बक्सा रखकर पैरों को उसपर रखें। बीच-बीच में उठें और थोड़ा चले-फिरें।घर में जब भी संभव हो अपने बाईं तरफ करवट लेकर लेटें क्योंकि इससे वीना कावा नस पर दबाव नहीं पड़ता।सुबह बिस्तर से निकलने से पहले सीवन या जोड़ रहित जुराबें पहन लें, ताकि खून को आपके टखनों के पास इक्ट्ठा होने काात करें। वे आपको कम्प्रेशन स्टॉकिंग पहनने के बारे में सलाह दे सकती हैं।खूब सारा पानी पीएं। हैरत की बात यह है कि आप जितना ज्यादा पानी पीएंगी, उतना ही कम पानी आपका शरीर प्रतिधारित करेगा।नियमित व्यायाम करें, खासकर कि चलना-फिरना, तैराकी, प्रसवपूर्व योग या एक्सरसाइज बाइक का इस्तेमाल। पौष्टिक व संतुलित आहार खाएं और ज्यादा नमक वाले खाद्य पदार्थ जैसे कि जैतून, नमकीन, चिप्स और नमक वाले मेवे न खाएं। ये पानी प्रतिधारण को बढ़ा सकते हैं।अगर आपकी त्वचा में ज्यादा कसाव और दर्द न लगे, तो किसी से अपने टखनों और पैरों की मालिश करवाएं। मालिश के दौरान नीचे से ऊपर की तरफ घुटनों तक जाएं। इससे पैरों से तरल पदार्थ को हटाने में मदद मिल सकेगी।कोशिश करें कि आप खुश और निश्चिंत रहें! हालांकि, आपके सूजे हुए टखने शायद आपको असहज महसूस करा सकते हैं, मगर इडिमा एक अस्थाई स्थिति है, जो कि शिशु के जन्म के बाद दूर हो जाती है। ख्याल रखें डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mujhe third month chl rha mujhe ajkl gabraht ho rhi h m kya kru k
उत्तर: हेलो डियर ,,,,प्रेगनेंसी में हारमोंस के बदलाव के कारण शारीरिक परिवर्तन होते हैं जिसका प्रभाव हमारे मन मस्तिष्क पर भी पड़ने लगता है जिससे घबराहट बेचैनी होने लगती है आप अपने जीवन में कुछ परिवर्तन करें जिससे की आपको घबराहट में धीरे-धीरे कमी आने लगेगी- प्रेगनेंसी के दौरान घबराहट होना एक आम बात है जब भी आपको घबराहट महसूस हो आप लंबी लंबी सांसे ले जिससे आपके मस्तिष्क को अधिक मात्रा में ऑक्सीजन मिलेगा और आपका घबराना कम होगा| , योगा ,मेडिटेशन ध्यान आदि का प्रयोग करें इससे ब्रेन में अधिक मात्रा में ऑक्सीजन का संचरण होकर घबराहट आदि में कमी हो जाती है | घबराहट होने पर आप ठंडा पानी पिएं इससे भी ब्रेन के संकुचन में कमी आकर घबराहट में कमी आती है | प्रेगनेंसी के दौरान विचारों को अधिक गंभीरता से और आगे ना बढ़ाएं हमेशा पॉजिटिव रहें हल्का-फुल्का अपने मनपसंद संगीत सुनें इन सब तरीकों से आपकी घबराहट अपने आप खत्म होने लगेगी| ~टेक केयर ~
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: maim mera 19week chal rha h mujhe pedu me halki halki dard ho rhi h or kya mai laggies pahn skti hu h
उत्तर: हेलो आप 19 वीक्स प्रेगनेट है आपको pedu में दर्द है .जैसे जैसे गर्भाशय बढ़ता है, राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव होता है, जिस कारण निचले पेट में दर्द होता है। जब आप अचानक अपनी स्थिति बदलती हैं तो दर्द तेज़ या बहुत तेज़ हो सकता है। आप ऐसे में लेफ्ट साइड लेट कर दर्द को कम कर सकती है या आपको जिस साइड दर्द हो रहा है उसके अपोजिट साइड लेट कर दर्द कम कर सकती है ऐसे कोई भी काम ना करे कि पेट में तनाव पड़े क्रॉस लेग ना बैठे दर्द अगर ज़्यादा हो तो डॉक्टर से सलाह ले आप लेग्गिनस पहनने में कम्फर्टेबल है तो पहन सकती है पर कोशिश करे कि dheele dhaale कपड़े आप पहने
»सभी उत्तरों को पढ़ें