गर्भावस्था की तैयारी

Question: mujhe period jab aate hai toh bahut weekness ho jaati hai...main kya diet lu ki mujhe jada weekness na aaye

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mujhe bahut jada cheast main jalan aur acidity horahihai .pet heard ho jata hai main kya karoon
उत्तर: बहुत सी महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और/या छाती में जलन (हार्टबर्न) होती है। यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती, मगर इससे काफी असहजता और दर्द हो सकता है। आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि: तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें। कार्बोनेटेड या सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, क्योंकि इस तरह के पेय पहले से ही काफी अम्लीय होते हैं। रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप कैमोमाइल या अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। कुछ लोगों का मानना है कि केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। वैकल्पिक चिकित्सा के पेशेवर अम्लता और छाती में जलन के लक्षणों को कम करने के लिए पिपरमिंट की चाय पीने की सलाह देते हैं। बहरहाल, अन्य हर्बल चाय की तरह गर्भावस्था में पिपरमिंट चाय का सेवन भी सीमित मात्रा में ही किया जाना चाहिए। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें। तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें। इस मुद्रा में गुरुत्व बल पेट के अम्लों को अपने स्थान पर बने रहने में मदद करेगा और आपके पाचन में सहायता करेगा। अधिकांश अम्लतत्वनाशक दवाओं (एंटेसिड) का सेवन गर्भावस्था में सुरक्षित माना गया है। ये एंटेसिड हार्टबर्न से परेशान करीब 50 प्रतिशत महिलाओं को राहत पहुंचाने में प्रभावी माने जाते हैं। हालांकि, सोडियम बाइकार्बोनेट या मैग्निशियम ट्राइसिलिकेट युक्त एंटेसिड गर्भावस्था में लेने की सलाह नहीं दी जाती। डॉक्टर की पर्ची के बिना मिलने वाली कोई भी दवा या उत्पाद लेने से पहले डॉक्टर से अवश्य पूछ लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe sir me bahut jada hi drd hai main kaun si tab lu
उत्तर: हेलों आप 12 वीक प्रेगनेट है आप बिना डॉक्टर सलाह के कोई भी दवाई ना खाएं ऐसा करना आपके और बच्चे के लिए सुरक्षित नही है आप को सर दर्द हो रहा है आप बाम लगा कर एक अच्छी नीन्द लें थकान वाले काम ना करे आपको राहत मिलेगी सर दर्द के kai कारण हों सकते है गर्भावस्था में हार्मोनल परिवर्तन और रक्त की मात्रा में वृद्धि के कारण लगातार सिरदर्द हो सकता हैlआपके ब्लड प्रेशर में गड़बड़ी की वजह से सिरदर्द हो सकता hai.थकान, भूख, एक्सरसाइज की कमी, डिहाइड्रेशन आदि के कारण भी सिरदर्द हो सकता है।pani ki kami के कारण भी आप अपनी गर्दन के पिछले हिस्से के आसपास दर्द महसूस कर सकती हैं, जो सिरदर्द का बहुत बड़ा कारण होता है।आप cafiine जैसे चाय कॉफ़ी पीना अचानक बन्द कर दे तो सर दर्द हो सकता है . आप ठंडे पानी से नहाये प्रॉपर रेस्ट करे भूखे बिल्कुल भी ना रहें थोड़े थोड़े देर में कुछ ना कुछ खेते रहें .पानी भरपूर पीये दिन में 10 से 12 ग्लास पानी पिएं साथ ही तरल पेय नारियल पानी छाछ ज्यूस पीये . आप सर दर्द होने पर kandhe और बैक की मालिश कर सकती है आपको अच्छा लगेगा आप हेड masaage करे ब्लड सर्कुलेशन हाॅन से आपको राहत मिलेगी . स्ट्रेस ना ले तनाव कम करे ज़्यादा ना सोचें स्ट्रेस के कारण भी सर दर्द होते है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe mere private part me bahut jada itching ki problem ho rhi hai .main iske liye kya kru
उत्तर: हेलो डियर """"प्रेग्नेंसी के समय वैगिनल में खुजली होना एक आमसमस्या है जिस तरह आप अपनी बॉडी के अंगों को साफ रखतीहैं उसी करा आपको अपने वैजिनल को भी साफ रखना पड़ेगा| #आप कुछ उपाय करके वैगिनल की खुजली को दूर कर सकतीhai# 1) वैजिनल से निकलने वाले द्रव को या पानी आदि को इसी तरहना छोड़े उसे 2-3 बाल धोए या टिशू पेपर से साफ रखें ताकि किसी प्रकार की इंफेक्शन या खुजली ना हो| 2) बार बार यूरिन आने के कारण भी वैगिनलमें इंफेक्शन हो जाता है इसके कारण इस में खुजली होती है आप इसे अच्छी तरह से साफ करके रखे | 3)सेक्स की वजह से भी आपके वैजिनल में खुजली होती है | आप सेक्स के पहले और बाद में अपने वैजिनल को अच्छी तरह से धोएं | 4)अगर बहुत अधिक खुजली हो रही है तब आप बेकिंग सोडा को पानी में मिलाकर इस पानी से अपने वैजिनल को धोए| ~ टेक केयर~
»सभी उत्तरों को पढ़ें