30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Mujhe 8 month lagega do din main aur mujhe sans lene me bahot pareshani ho rahi hai

1 Answers
सवाल
Answer: 🙏गर्भावस्था में साँस की तकलीफ काफी सामान्य समस्या है। बच्चे के विकास के साथ यह बढ सक़ती है। तो आप कुछ उपाय कर सकती हैं।--- सुपाच्य भोजन ग्रहण करें। अधिक फैटी व तीखा भोजन ना करें।भोजन करके तुरंत न लेटें। करवट पर सोंए। सर्दी खांसी होने पर गर्म पानी की भाप आराम दे सकती है। धूल या प्रदूषित स्थान पर जाने से बचें। ।अगर सांस लेने में अत्याधिक तकलीफ हो रात में अकसर नींद में सांस लेने के लिए उठ कर बैठना पड़ता हो थोडऐा़ बहुत ही काम करने पर ही सांस भर जाता हो लेटने पर भी परेशानी हो तो डाक्टर से कंसल्ट करें। Take care💐
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hi doctor i am 7week pregnent .....mujhe sans lene me pareshani ho rahi है kya ye नॉर्मल है .?
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में सांस लेने में प्रॉब्लम होना नॉर्मल है क्योंकि आपको और आपके बेबी को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन चाहिए होता है जिस वजह से पूर्ति ना होने के कारण सांस फूलने की प्रॉब्लम आ जाती है इसके आप कुछ उपाय कर सकते हैं संतुलित आहार करें ज्यादा तला-भुना खाना ना खाएं खाना खाने के बाद तुरंत आराम ना करें और बिस्तर par na लेते हैं peeth के बल या पेट के बल ना सोए करवट लेकर ही सो ज्यादा धूल और धुएं वाले जगहों में जाने से बचें नियमित व्यायाम करें और अपना फुलाने जैसा व्यायाम करें पुगा फुलाने से आपको सांस लेने में प्रॉब्लम नहीं होगी और आपको अच्छा लगेगा साथ छोड़ने और सांस लेने वाला व्यायाम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam mera ji bahut ghabrata hai Aur sans lene me bahut taklif Ho rahi hai.
उत्तर: aisa hota h is tim pe...aap thoda walk kr lia kriye is time pe ...or pani piti rhiy ...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kabhi kabhi sans lene me bhi pareshani hoti hai
उत्तर: प्रेगनेंसी में सांस फूलना नॉर्मल है प्रेगनेंसी के दौरान बच्चे का आकार बढ़ता है जिससे आपके शरीर के सभी बॉडी पार्ट्स पर प्रेशर पड़ता है इस वजह से फेफड़े पूरी तरह से फैल नहीं पाते हैं लेकिन इससे बच्चे को कोई प्रॉब्लम नहीं होती है इस स्टेज में आप सीढ़ियां भी चढ़ेगी तो प्रॉब्लम feel हो सकती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam muze bahot sardi khansi cough ho gaya hai sans lene me bhi taklif ho rahi hai
उत्तर: जैसे ही महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें जल्दी इन्फेक्शन हो जाता है। क्योंकि उनकी बॉडी बहुत ही सेंसिटिव हो जाती है प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है 1) सर्दी खांसी से खुद को बचाने और गर्भावस्था में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आपको अपने डायट में ताजे फल सब्जियां और साबुत अनाज शामिल कर सकती हैं। 2) तरल पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए जैसे अदरक वाली चाय हर्बल चाय और फलों का जूस 3) ज्यादा थके नहीं आराम करें आप जितने आराम से रहेंगे आपको इन्फेक्शन उतना ही कम होगा 4)खासी आने पर ईलायची मुंह में लेखर चुसें। उपाय-- सर्दी होने पर अक्सर नाक बंद हो जाता है तो आप गर्म पानी गर्म पानी का मशीन से भाप ले सकती हैं इसमें आप दो तीन बूंद नीलगिरी का तेल डाल ले इससे सिर के ऊपर तो लिया ढक कर अपना सर बर्तन के ऊपर झुकाकर भाप लें इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सर दर्द कम हो जायेगा और सर्दी से भी राहत मिलेगी साथ ही अगर गले में भी दरद या टांसील हो तो गरम पानी में नमक डालकर दीन में चार पांच बार तो राहत मिलेगी आप तुलसी अदरक का रस आधा आधा चम्म्च लेकर शहद मीलाकर पी सकती हैं।इससे सर्दी खांसी में राहत मीलेगी। गुनगुने गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर आप इसे पी सकती हैं अगर आपकी सर्दी खांसी ठीक नहीं हो रही है और आप को तेज बुखार है तो आप को बिल्कुल भी देर नहीं करना चाहिए डॉक्टर से कंसल्ट करें और अपनी मर्जी से कोई भी दवाई ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें