18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mujhe left per me upr ki trf dard hota h koi problem

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mujhe left ki trf niche ki side dard hota h kamr mai jayda hota h or pwt mai kaam to koi tasan ki baat to nhi h na
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी के शुरुआती महीनों में ऐसे दर्द होते हैं इसमें घबराने वाली बात नहीं है। शुरुआती 3 महीने थोड़ी कॉम्प्लिकेटेड और परेशानी भरा होता है इस दौरान शरीर के अंदर बहुत प्रकार के हार्मोनल चेंजर्स होते रहते हैं जिसके कारण पेट में खिंचाव पेट के नीचे पेडु में दर्द सीने में दर्द कमर में दर्द सिर दर्द दांतों में दर्द उल्टी लगना एसिडिटी होना कमजोरी लगना और चक्कर आना जैसे कई समस्याएं होती ही है। इस दौरान खाने पीने का खास ध्यान रखना चाहिए कोई भी गरम चीजें नहीं खानी चाहिए। ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए और आराम करना चाहिए। किसी तरह की मेडिसिन डॉक्टर के सलाह के बिना ना लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam mujhe yoni ke upr ki trf dard ho rha h koi problem to ni
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी बहुत सारी खुशियों के साथ छोटी छोटी तकलीफें भी लाती हैं। इसमें बहुत सारी तकलीफे लगभग सभी महिलाओं को होती हैं। वैजाइनल पेन या पेसाब की जगह का दर्द और खुजली इन्हीं तकलीफ हो में से एक तकलीफ है बच्चा जैसे-जैसे पेट में बढ़ने लगता हैतो उसके मांस पेशियों में भी तनाव होता है जिससे दर्द होता है ।और शरीर का भार निचले अंगों पर ज्यादा पड़ता है।भार ज्यादा पड़ने के कारण निचले अंग थकते बहुत जल्दी है जिसके कारण वहां दर्द होता है। वैजाइना में कभी कभी दर्द के साथ सूजन भी हो जाता है।इस से राहत पाने के लिए आप वेजाइना की गर्म पानी से सिकाई करें दर्द और खुजली सूजन दोनों से आराम मिलेगाअगर दर्द होता है तो शरीर को आराम की आवश्यकता रहती है। दर्द से राहत पाने के लिए आप ज्यादा देर खड़ी ना रहे। ज्यादा से ज्यादा आराम करें। घबराने वाली बात नहीं है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere right side pet m upr ki trf dard hota h
उत्तर: हेलो डियर ,"""'पेट के right said में होने वाला दर्द नॉर्मल है बेबी के वेट और ग्रोथ के कारण पेट पर बेबी के वजन से दबाव पड़ने लगता है जिससे कि पेट ke right saidसे हल्का हल्का दर्द का अनुभव होने लगताhai.. पेट के दर्द को कम करने के लिए आप एक ही स्थिति में ना खड़े रहे अपनी पोजीशन को बदलते रहे ,बीच-बीच में हलचल kre,अत्यधिक शारीरिक श्रम ना करें ,भारी-भरकम सामान ना उठाएं थकने वाले काम ना करें नींबू पानी ,पानी ,शरबत ,जूस आदि ले उससे आपको राहत मिलेगी, left side Sone Ka Prayas kare ..अत्यधिक दर्द बढ़ जाने पर डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं' |
»सभी उत्तरों को पढ़ें