Planning for pregnancy

Question: mujhe कुछ जानकारी चाहिये बच्चें से रिलेटेड

1 Answers
सवाल
Answer: जी हां डियर आप अपने और अपने बच्चे से रिलेटेड कोई भी जानकारी यहाँ पर किसी भी मॉम से ले सकती हैयहां पर सारी माँ में दूसरे की हेल्प करती है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: ब्रेस्टफ़ीदिनग से रिलेटेड मि आप से कुछ पचना चाहती hu
उत्तर: ब्रेस्ट भृ हो वी एच ऑर अस मि बोह्त जादा दरद हो रह b
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मै व्यायाम कसरत कोनसे महीने से कर सकती हूँ . कोन से आसन करने चाहिये. क्रुपया विडियो या जानकारी दे मुजे
उत्तर: योगावैसे तो गर्भवती महीलाओ को शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीयेक योगा आसन का अभ्यास  प्रेगनेंसी के चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है। योगा के जरिये ना केवल तनाव दूर होता है, बल्कि प्रसव के दौरान होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है| (1)तितली आसन--- तितली आसन को गर्भावस्था के तीसरे महीने से कर सकते है| शरीर के लचीलेपन को बढ़ाने के लिए यह आसन किया जाता है| इसे करने से शरीर के निचले हिस्से का तनाव खुलता है| इससे प्रजनन के दौरान गर्भवती महिला को दिक्कत कम होती है। तितली आसन करने के लिए दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर, तलवे मिला लें, यानी पैरों से नमस्ते की मुद्रा बननी चाहिए। इसके पश्चात दोनों हाथों की उंगलियों को क्रॉस करते हुए पैर के पंजे को पकड़ें और पैरों को ऊपर-नीचे करें। आपकी पीठ और बाजू बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। इस क्रिया को 15 से अधिक बार ना करे| (यदि इस क्रिया को करते वक्त आपको कमर के निचले हिस्से में दर्द महसूस होता हो तो इसे बिल्कुल भी न करे (2)अनुलोम विलोम--- गर्भावस्था में अनुलोम विलोम आसन करने से शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है। इसे करने से रक्तचाप नियंत्रित होता है| प्रेगनेंसी में तनावरहित रहने के लिए इस आसन को जरूर करना चाहिए| इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आराम से बैठे इसके बाद दाएं हाथ के अंगूठे से नाक का दाया छिद्र बंद करें और अपनी सांस अंदर की ओर खींचे। फिर उसी हाथ की दो उंगलियों से बाईं ओर का छिद्र बंद कर दें और अंघूटे को हटाकर दाईं ओर से सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया को फिर नाक के दूसरे छिद्र से दोहराएँ। (3)---पर्वतासन गर्भावस्था में पर्वतासन करने से कमर के दर्द से निजाद मिलती है| इसे करने से आगे चलकर शरीर बेडौल नहीं होता है| इस आसन को करने के लिए सर्व प्रथम आरामआराम से बैठे। इस वक्त आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए| अब सांस को भीतर लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और हथेलियों को नमस्ते की मुद्रा में जोड़ लें। कोहनी सीधी रखें। कुछ समय के लिए इसी मुद्रा में रहें और तत्पश्चात सामान्य अवस्था में आ जाएं। इस आसन को दो या तीन से ज्यादा ना करे| योग आसन करने से पहले अपने डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा कभी कभी मिट्टी जेसा कुछ खाने का मन करता है . क्या ये प्रेग्नेन्सी से रिलेटेड है ??
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में कैल्शियम की कमी होने की वजह से मिट्टी और स्लेट चाक खाने की इच्छा होने लगती है ,मिट्टी, स्लेट खाने की आदत बहुत ही खराब माना जाता है एक बार अगर लत लग गयी तो तो जल्दी सही नही होती है आप अगर मिट्टी, स्लेट खाते है तो इससे पेट मे कीड़े होने की संभावना होती है और तो और मिट्टी, स्लेट खाने से बॉडी में खून की कमी होने लगती है,और होने वाले बेबी में भी ब्लड की कमी हो सकती है या नुकसान कर सकता है इसलिए आप मिट्टी, स्लेट न खाये अगर आपका मिट्टी , स्लेट खाने का मन करे तो आप तुरंत डॉक्टर को दिखा दे आपके डॉक्टर आपको कैल्शियम वाली चीजें खाने के लिए देंगे या बताएंगे जिससे आपका स्लेट , मिट्टी खाने का मन नही करेगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें