4 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: 4 month कम्पलीट ho gayi mujhe back pain hoti hai

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो आपका बैक पेन एक ही पोजीशन पर ज्यादा देर रहने के कारण है। एक ही पोजीशन पर ना ज्यादा देर सोना है ना बैठना है और नहीं ज्यादा देर खड़े होना है। पेट का भार ज्यादा हो जाने के कारण एक ही पोजीशन पर रहने से हमारे बैंक पर खिंचाव होता है और जिसके कारण दर्द होता है और पैरों पर भी ब्लड सरकुलेशन अच्छे से नहीं हो पाता इसलिए पैरों पर भी दर्द होता है। आप कोई भी पेन बाम को सरसों तेल मिलाकर बैक पर लगवाए और पैरों पर लगाएं। नहाने के गुनगुने पानी में नमक डालकर नहाए। सोने से पहले गुनगुने नमक पानी से पैरों की सिकाई करें। पैरों को सिर के लेवल से थोड़ा ऊपर रखें पैरों के नीचे तकिया रख ले। ज्यादा देर खड़ी ना रहे आराम करें रात में सोने से पहले गुनगुने दूध में थोड़ा सा हल्दी मिलाकर पिए। आराम मिलेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mujhe back pain bhot ho rahi hai aj से mujhe 4 month suru hua hai
उत्तर: प्रेगनेंसी में कमर, पीठ में दर्द होना बहुत ही नॉर्मल बात है ,ज्यादातर महिलाओं में प्रेगनेंसी में कमर दर्द की शिकायत होती ही है कमर में दर्द होने का कारण एक तो हारमोंस में बदलाव होता है दूसरा पेट में बढ़ रहे भार का हो सकता है जिसके कारण मांस पेशियों में खिंचाव होता है और कमर में दर्द हो सकता है कमर, पीठ दर्द को कम करने के लिए आप कोशिश करें कि अपनी बाइ और सोए सीधे पीठ के बल ना सोए घुटनों के बीच में तकिया लगाकर सोने से भी आपको कमर दर्द में आराम मिलेगा अगर आप हाई हील की सैंडल , शूज पहनते हैं तो ना पहने यह भी एक कमर दर्द का कारण हो सकता है साथ ही प्रेगनेंसी में dheele सूती के कपड़े पहनने चाहिए जिससे शरीर में खून का प्रवाह आसानी से हो और हम अनेक तरह के दर्द से बचेगे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: MUJHE 4month complete HO GAYA HAI MUJHE BACK PAIN HOTI HAI , bhuk bhi km lgta hai ,plz riply doctor
उत्तर: हेलो डियर इस दौरान पीठ में दर्द होना बहुत आम है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्भाशय में गर्भ पल रहा होता है जिससे आगे का भाग काफी भारी हो जाता है. पेट भारी हो जाने की वजह से पीठ में झुकाव आना शुरू हो जाता है. इस वजह से पीठ में लगभग हर रोज दर्द रहने लगता है.एक ही अवस्था में बहुत देर तक बैठने या खड़ी होने से बचें। कामकाजी स्त्रियां ऑफिस में काम करते समय अपने पैरों को ज़मीन पर लटकाने के बजाय उन्हें किसी छोटे स्टूल पर टिकाकर रखें। रात को लेटते समय पैरों के नीचे तकिया रखें। बैक पेन से बचाव के लिए बैठते समय पीठ और कमर को कुशन का सपोर्ट दें।  प्रेग्नन्सी में एक्चुअली मैं ख़राब रेहना,भूख़ न लगन, कुछ सही से न खा पना नार्मल है।ये सब बॉडी में हार्मोनल चेंजेस की वजह से होता है। आपको भूख लगे या ना लगे पर फिर भी आप थोड़ा थोड़ा करके कुछ कुछ कहते रहे इससे आपको खाने का मैं करने लगेग। जो भीखायें चाहे क्वांटिटी कम लेइन, क्वांटिटी में धीरे धीरे सुधर आ जाएग। दिन में ३ बरी अच्छे से khana लेने की बजाये आप दिन ६ बरी छोटे छोटे मील ले। ज़ायदा पानी और फ्लुइड्स जैसे कीजूस , मिल्क शकेस, कोकोनट वाटर ले जिसस खन्ने में ज़यादा से ज़यादा फाइबर और नुट्रिशन हो वो आप ज़यादा लें अपनी खाने में। आपका खन्ना खन्ना बोहोत ज़रूरी है आपके और आपके बेबी के लिए क्यूंकि अपने बेबी के लिए थोड़ा थोड़ा खाना खाएं आपका बेबी पूरी तरह आप पर डिपेंडेंट है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pregnancy 4 month ho gayi hai mujhe na toh bhook Lagti hai na Meri tabiyat thik rehti hai
उत्तर: भले ही आपको भूख लगे या न लगे आप समय पर, पोषक आहार लीजिए क्योंकि यह आपके और आपके बेबी के लिए बेहद जरूरी है। भले ही आपका मन खाने का न कर रहा हो, लेकिन जब आप एक बार धीरे-धीरे खाना शुरू करेंगी तो आपको भूख का अहसास भी होने लगेगा एक साथ भोजन न करके थोड़ी - थोड़ी देर पर कुछ - कुछ खाती रहें हल्‍का व्‍यायाम करें, इससे भूख में बढ़ोत्‍तरी होगी,व्‍यायाम करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लें अगर आप एक ही प्रकार का भोजन खाकर तंग आ गई है तो कुछ नया ट्राई करें, बस वो भोजन ऐसा हो, जो आपको और आपके बच्‍चे को ताकत दें दूध, अंडा, गाजर, पालक, हरी सब्जियां, ब्रोकोली, आलू, कद्दू, पीले फल, खरबूजा संतरे, संतरे का रस, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, बीट्स, ब्रोकोली, फूलगोभी, अनाज, मटर,सेम, नट्स दही, दूध, पनीर, सोया दूध, रोटी, अनाज, गहरे हरे पत्तेदार सब्जियां. सब आप खायें , आपके और बेबी के लीई बहुत अच्छा है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe back pain bahot ho raha hai
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पीठ दर्द होना एक सामान्य बात है प्रेग्नेंसी के समय दर्द के अनेक कारण हो सकते हैं इस समय बच्चे का आकार बढ़ते जाता है जिसके कारण पेट में तनाव की स्थिति या फैलाव बढ़ते जाता है जिससे पीठ में दर्द होने लगता है इसके अलावा हमारी बॉडी ऐसे हारमोंस को रिलीज करती है जोकि डिलीवरी के समय हड्डी को लचीला बनाता है और किस हार्मोन से पीठ पर प्रभाव पड़ता है जिसके कारण बैक पेन होता है जैसे-जैसे डिलीवरी का समय आता जाता है खुदा पेट की मांसपेशियां जो पसलियों की हड्डी तक होती है बीच से अलग होने लगती है जिसके कारण पीठ में दर्द होने लगता है पेट दर्द को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं १: बहुत अधिक देर तक आप खड़े ना रहे या बहुत देरी तक एक ही अवस्था में बैठी ना रहे २: बैटरी के लिए ऐसी कुर्सियों का प्रयोग करें जो आपके पीठ को बिल्कुल सीधी रखती हो या आप तकिए गद्दे का भी प्रयोग पीठ को सीधी करने के लिए ३: घर में सावधानी बरतें अधिक भारीभरकम या ऐसे काम जिसने अधिक मेहनत की जरूरत हो उसे ना करें एक ही तरफ करवट लेकर सोए घुटनों को क्रॉस ना करें सोने के लिए नरम गद्दे का प्रयोग करें एकाएक बिस्तर से नहीं उठा पहले धीरे से उठा उसके बाद ही आप जमीन पर खड़े होइए अधिक टाइट कपड़े ना पहने क्योंकि इससे रक्त संचरण सही नहीं होगा और कमर में दर्द होगा इसी प्रकार हाई हील्स के का प्रयोग ना करें क्योंकि हाई हील से कमर दर्द बढ़ सकता है इस प्रकार के कुछ उपाय अपनाकर आप पीठ दर्द व कमर दर्द से आपको आराम मिलेगा ओके टेक केयर बाय
»सभी उत्तरों को पढ़ें