कुछ दिनों का बच्चा

Question: meri saas mere bache ko gud khilati hai...isse mere bache ko koi problem to nhi hogi

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों डियर 6 महीने तक बच्चे का आहार मा का ढूध या फॉरम्यूला मिल्क होता है इस बीच बच्चे को बाहर का कुछ भी गुड घुटी पानी ग्रिप वाटर नही देना चाहिए बच्चों का पाचन बहुत कमज़ोर होता है गुड के सेवन से बच्चे को दस्त या पाचन से सम्बन्धित समस्या हो सकती है आप गुड खिलाना बच्चे को अवोइड करे
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: meri sas mere bete ko churma khilati hai es se baby ko koi problem to nhi hogi
उत्तर: हेलो 6 महीने से पहले बच्चे को मां के दूध के अलावा कुछ भी नहीं देना रहता है कोई चूरमा भी नहीं। बच्चे का पाचन तंत्र इतना डिवेलप नहीं रहता की बच्चा मां के दूध के अलावा और किसी चीज को पचा सके। चूरमा खिलाने से बच्चे को कॉम्प्लिकेशन हो सकते हैं चूरमा इतने छोटे बच्चों को नहीं खिलाया जाता। एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में जरूर सलाह ले ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri saas bhaut fulti isse बच्चे ko कोई problem to nhi hogi
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान सांस फूलना बिल्कुल नॉर्मल होता है इसके बारे में कोई प्रॉब्लम नहीं होती है और जल्दी साफ करें 2 गिलास पानी le कभी-कभी एसिडिटी के कारण भी सांस फूलने लगती है ya saans लेनी में दिक्कत होती है या वीकनेस लगती हैl अदरक को पानी में बॉईल करके उसमें एक चम्मच हनी मिलाकर पीजिए, पुदीने को पानी में बॉईल करके उसमें एक चम्मच हनी मिलाकर पीजिए यह आपको काफी आराम देता हैl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे थाइरॉइड की प्रॉब्लम है इससे मेरे बच्चे को कोई प्रॉब्लम तो नहीं होगी
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में थाइरोइड के होने से हार्मोन में असंतुलन होने के वजह से आपको कई तरह से प्रभावित करता है थाइरोइड के चलते आपके होने वाले बेबी पर भी फर्क पड़ सकता है आपके बेबी के विकास में बाधा भी पैदा हो सकती है , आपको भी परेशानी हो सकती हैं इसलिए आपको हमेशा डॉक्टर की निगरानी में रहना चाहिए , जैसी डाइट बताते हैं खाने के लिए आप वैसी ही देत ले , डॉक्टर जो भी सजेस्ट करे आप वैसा ही करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 5दैन वीक है लोसमोशन हो तो क्या करे इससे बच्चे को तो कोई प्रॉब्लम नहीं होगी
उत्तर: हेलो अगर आप को बार बार पॉटी या लूस मोसन हो रहा है तो आप अपने आहार में थोड़ा पर िवर्तन कर ें आप रात में रोटी खा ती होंगी तो रोटी कम कर के रोटी के जगह पर चावल ज्यादा ले दूध । अभी बिलकुल बंद कर दें। दूध के बदले ताज़ी दही और छाछ लें केला रोज खाएं दोपहर में अना र का जूस लें। मसालेदार खाने और तेल मिर्ची वाले खाने से परहेज करें कच्ची सब्जियां या सलाद ज्यादा ना खाएं ।फल खाते समय भी फल को अच्छे से धो कर छिलका उतार कर खाएं केला दही चावल या दही खिचड़ी खाये। अनार का ताजा जूस पियें। एक ही बार में ज्यादा खाना ना खाएं। ज्यादा थाना एक साथ खा लेने से खाना अच्छे से डाइजेस्ट नहीं होता जिसके कारण बार बार पॉटी लगती है।पानी खूब पियें प्रेग्नेंसी में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए इसे बच्चे का डेवलपमेंट प्रभावित होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें