11 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरी लम्प 12 अप्रैल को था मेरी प्रेग्नेंसी को कितने महीने हुआ

1 Answers
सवाल
Answer: आप की प्रेगनेंसी को 10 हफ्ते और 1 दिन हो चुका है इसका मतलब है कि आपका तीसरा महीना शुरू है ..
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा लास्ट पिरियड 12 जुन का h तो meri pregnancy ko kitne mahine hue
उत्तर: बहुत से महिलाओं को प्रेगनेंसी का month समझने में परेशानी होती है डॉक्टर के हिसाब से प्रेगनेंसी को हमेशा अपने लास्ट पीरियड डेट से काउंट किया जाता है मतलब कि पीरियड का पहला दिन आपकी प्रेगनेंसी का पहला दिन माना जाएगा ड्यू डेट जाने के लिए आपको आपके लास्ट पीरियड के पहले दिन 40 हफ्ते जोड़ देना है अगर आप का पीरियड निर्मित 28 दिन में आ जाता है तो आपके ड्यू डेट सही निकल आएगी वरना कुछ दिन आगे पीछे हो सकता है ऐगर नियमित पिरियड नही है तो जन्म देने के तिथि आगे पीछे हो सकती है.. आपके लास्ट डेट के हिसाब से आप 16 वीक और 3 दिन की प्रेगनेट है और ड्यू डेट 19 march 2019 के आस पास होगी ..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri last priad 14 april ko hua tha to TT injection kis mahine me lu
उत्तर: गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्‍था के दौरान टीटी | टिटनेस टॉक्‍साइड, के दो टीके लगाये जाने चाहिए। इन टीकों को टीटी1 और टीटी2 कहा जाता है। टीटी का टीका माँ ओर बच्‍चे को टिटनेस की बीमारी से बचाता है। भारत में नवजात शिशुओं की मौत का एक प्रमुख कारण जन्‍म के समय टिटनेस का संक्रमण होना है। टीटी1 और टीटी2 टीकों के बीच चार सप्‍ताह का अन्‍तर रखना आवश्‍यक है। यदि गर्भवती महिला पिछले तीन वर्ष में टीटी के दो टीके लगवा चुकी है तो उसे इस गर्भावस्‍था के दौरान केवल बूस्‍टर टीटी टीका ही लगवाना चाहिए। टीटी2 (या बूस्‍टर टीका) टीका प्रसव की अनुमानित तारीख से कम से कम चार सप्‍ताह पहले दिया जाना चाहिए। ताकि उसे उसका पूरा लाभ मिल सके।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर, मेरा लास्ट एलएमपी 21 अप्रैल को हुआ था तो मैं कितने मंथ की प्रेग्नेंट हूं?
उत्तर: हेलो डिअर, आपकी मासिक की लास्ट डेट अगर 21 अप्रैल है तो आप अपनी मासिक की लास्ट डेट के पहले वाली तारीख से जोड़ कर अपनी प्रेग्नेंसीय का महीना और वीक निकाल सकती है , इस हिसाब से आपको प्रेग्नेंट हुए 1 महीना पूरा हो गया है और 2 महीना चल रहा हैं या यानी की आपको प्रेग्नेंट हुए 6 वीक 4 दिन हो रहे हैं आपको अपना अच्छे से ख्याल रखना चाहिए , अच्छे से देत लेना चाहिए , ज्यादा से ज्यादा पानी पिये , फल , जूस , दूध बराबर खाते रहे , और समय समय पर डॉक्टर को दिखाते रहना चाहिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें