12 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Meri kamar mai bahut dard rhta h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों प्रेग्न्सी में होर्मोन चेंजेज और माँ और बच्चे के बढ़ते वेट के कारण गर्भाशय पर दबाव पड़ता है जिसके कारण आसपास के अंग पर भी प्रेशर पड़ता है जैसे कमर पीठ पैर हाथ पेट etc प्रेग्नेन्सी में back में दर्द होना तो समान्य है आप कोई ओइनमेन्त क्रीम जैसे मूव फ़ास्ट रिलीफ लगा सकती है आपको राहत मिलेगी इसके लिए आप प्रॉपर सपोर्ट लें के बैठे lलंबे टाइम के लिए ना बैठे l रेस्ट करे , धीरे धीरे हलकी हलकी एक्सर्साइज करे l कमर और पैरों मे सरसों के ऑयल से हलकी मालिश भी लें सकती है आपको आराम मिलेगाl आराम करे lआप गरम पानी की बॉटल से सीकाइ भी कर सकती है आपको आराम मिलेगा सोते समय सपोर्ट ले के सोएं और तकिया ना लगायें एक ही पोजिशन में ना सोएं .हेवी saaman ना उठा ये हलकी हलकी एक्सर्साइज करे जिसके कारण आपको बैक पेन में राहत मिलेगी सूर्य के प्रकाश में20 से 25 मिनट बैठे सन रेज से मिलने वाले विटामिन डी आपके बैक पेन और बच्चे के विकास में हेल्पफूल है पानी भरपूर पीये स्ट्रेस ना ले
  • avatar
    Sonakshi Dahiya915 days ago

    Hlw.. mam.. mere pairo k talvo mai bht dard rhta h kya kru

  • avatar
    Sonakshi Dahiya914 days ago

    Thnxx

  • avatar
    Sonakshi Dahiya914 days ago

    Mam

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: meri kamar m bahut pain rhta h
उत्तर: पेट का भार लगातार नीचे की ओर होता है, इसलिए इस समय मांसपेशियों का पर दबाव ज्‍यादा होता है महिला के अंदर हर समय हो रहे हार्मोन में बदलाव भी दर्द का कारण बनते हैं दर्द को अगर कम करना है तो रात को सोते समय पीठ के बजाय करवट लेकर ही सोएं कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इस समय हल्‍के तथा ढीले-ढाले कपड़े पहनने चाहिये, टाइट कपड़े पहनने से शरीर में खून का दौरा कम होने लगता है और इसी कारण मांसपेशियां दर्द होने लगती हैं, इसलिए सूती के आरामदायक कपड़े ही पहनने चाहिये, इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere कमर के निचे बहुत दर्द रहता h
उत्तर: डियर इस दौरान पीठ में दर्द होना बहुत आम है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्भाशय में गर्भ पल रहा होता है जिससे आगे का भाग काफी भारी हो जाता है. पेट भारी हो जाने की वजह से पीठ में झुकाव आना शुरू हो जाता है. इस वजह से पीठ में लगभग हर रोज दर्द रहने लगता है.एक ही अवस्था में बहुत देर तक बैठने या खड़ी होने से बचें। कामकाजी स्त्रियां ऑफिस में काम करते समय अपने पैरों को ज़मीन पर लटकाने के बजाय उन्हें किसी छोटे स्टूल पर टिकाकर रखें। रात को लेटते समय पैरों के नीचे तकिया रखें। बैक पेन से बचाव के लिए बैठते समय पीठ और कमर को कुशन का सपोर्ट दें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam meri kamar me bahut dard rhta h mera 10 week start ho gya h
उत्तर: हेलों प्रेग्नेन्सी में back में दर्द होना तो समान्य है आप कोई ओइनमेन्त क्रीम जैसे मूव फ़ास्ट रिलीफ लगा सकती है आपको राहत मिलेगी इसके लिए आप प्रॉपर सपोर्ट लें के बैठे lलंबे टाइम के लिए ना बैठे l रेस्ट करे , धीरे धीरे हलकी हलकी एक्सर्साइज करे l कमर और पैरों मे सरसों के ऑयल से हलकी मालिश भी लें सकती है आपको आराम मिलेगाl आराम करे lआप गरम पानी की बॉटल से सीकाइ भी कर सकती है आपको आराम मिलेगा सोते समय सपोर्ट ले के सोएं और तकिया ना लगायें एक ही पोजिशन में ना सोएं .हेवी saaman ना उठा ये हलकी हलकी एक्सर्साइज करे जिसके कारण आपको बैक पेन में राहत मिलेगी सूर्य के प्रकाश में20 से 25 मिनट बैठे सन रेज से मिलने वाले विटामिन डी आपके बैक पेन और बच्चे के विकास में हेल्पफूल है पानी भरपूर पीये स्ट्रेस ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें