8 महीने का बच्चा

Question: Meri beti ko green and watery potty ho rahi hai.... kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: अभी ठन्द की मौसम हि टु बेबीस को आशा होता हि . ठन्द से प्रोटेक्ट करे आनर juise दि .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mere beti ko green potty ho rahi kya kru ? Aur plti poty ho rahi hai
उत्तर: 6 महीने से छोटे बच्चे में अगर हरी पोटी हो तो घबराने की कोई बात नहीं है , छोटे बच्चों में होने वाली हरी पॉटी का सिर्फ एक ही कारण है वह है मां के दूध का शुरुआती हिस्सा पीना . मां के दूध के शुरुआती हिस्से में पानी की मात्रा ज्यादा रहती है जिससे बच्चों की प्यास बुझती है, पर कभी-कभी बच्चे सिर्फ शुरूआती हिस्सा पी लेते हैं जिसकी वजह से उनको न्यूट्रिशन कम मिलता है और पोटी का कलर हरा हो जाता है ,इसलिए आप कोशिश कीजिए कि बच्चे को एक साइड से अच्छी तरह से दूध पिलाएं ,अगर आपका बच्चा जल्दी दूध पीकर छोड़ देता है तो आप अपने दूध का शुरुआती हिस्सा निकाल सकते हैं ताकि बच्चे को बीच का दूध मिले जो कि बच्चे के लिए बहुत ही अच्छा है जिससे बच्चे का वजन बढ़ेगा और और पोटी का कलर मस्टर्ड येलो कलर का होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hi mam meri beti green potty kar rahi h kya karu
उत्तर: 6 महीने से छोटे बच्चे में अगर हरी पोटी हो तो घबराने की कोई बात नहीं है , छोटे बच्चों में होने वाली हरी पॉटी का सिर्फ एक ही कारण है वह है मां के दूध का शुरुआती हिस्सा पीना . मां के दूध के शुरुआती हिस्से में पानी की मात्रा ज्यादा रहती है जिससे बच्चों की प्यास बुझती है, पर कभी-कभी बच्चे सिर्फ शुरूआती हिस्सा पी लेते हैं जिसकी वजह से उनको न्यूट्रिशन कम मिलता है और पोटी का कलर हरा हो जाता है ,इसलिए आप कोशिश कीजिए कि बच्चे को एक साइड से अच्छी तरह से दूध पिलाएं ,अगर आपका बच्चा जल्दी दूध पीकर छोड़ देता है तो आप अपने दूध का शुरुआती हिस्सा निकाल सकते हैं ताकि बच्चे को बीच का दूध मिले जो कि बच्चे के लिए बहुत ही अच्छा है जिससे बच्चे का वजन बढ़ेगा और और पोटी का कलर मस्टर्ड येलो कलर का होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो ..मेरी बेटी ग्रीन अवर पतली पॉटी बार बार कर रही है क्या करूं
उत्तर: हेलो डियर ,,,आप की बेबी 9 महीने की हो चुकी है अगर वह ग्रीन कलर की पतली पॉटी कर रही है तो इसका मतलब उसके पेट में कुछ इनफेक्शन या फिर भोजन के अपच के कारण ऐसी संभावना होती है आप किसी भी घरेलू उपाय ना करें बेहतर होगा आप बेबी को तुरंत ही डॉक्टर से जांच कराकर दवाइयां दे क्योंकि अधिक मात्रा में पतली पॉटी करने से बेबी के शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिससे कि बेबी के हालात और भी खराब हो सकती है आप प्राथमिक तौर पर बेबी को ओआरएस का घोल दे दी रहें ताकि उसके शरीर में पानी की कमी ना हो उसके बाद बेबी की जांच डॉक्टर से जरूर कराएं ताकि बेबी की स्थिति में सुधार हो सके
»सभी उत्तरों को पढ़ें