कुछ हफ्ते का बच्चा

Question: meri beti abhi 10 din ki h aaj baar baar dhud palt de rahi h plz koi upay bataye plz

1 Answers
सवाल
Answer: घबराये नही , जब बच्चे छोटे होते है तो ऐसा होता है , क्योकी जब वो दूध पीते है तो हम अन्दज़ा नही लगा पाते की उसका पेट भरा या नही , इसलिए कभी कभी दूध ज़्यादा पी लेते है , या तो दूध ना पचने पर पलटते है , ऐसी स्थिति में जब बच्चा दूध पी ले तो उसके बाद बच्चे को अपने कन्दहे पर लेकर धीरे धीरे उसकी पीठ thapthpaye , जिससे उसे डकार आ जायें , इससे उसका दूध पच जेएगा ऑर दूध नही paltegi
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैम मेरी बेटी 14 महीने की ह अभी cहal नहीं पाती h प्लीज कोई उपाय बताएं
उत्तर: हेलो डियर आप परेशान ना हो। बहुत से बच्चे देर में चलना शुरू करते हैं आप बच्चे को हाथ का सहारा देकर चलना सिखाए ।उसे वाकर के सहारे चलना सिखाए। उसके पैरों की रोज मालिश करें। नियमित रूप रूप से उसे ठोस आहार खिलाएं और अपना दूध पिलाएं ।जब आप बच्चे को थोड़ा थोड़ा रोज चलाएंगे तो बच्चा अपने आप ही चलने लगेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी दिन में 4 से 5 बार पॉटी करती ह प्लीज कोई उपाय बताएं
उत्तर: हेलो बच्चे का 4 से 5 बार पॉटी करना कोई समस्या नहीं है बच्चे जितने बार खाता है अगर उसने 12वीं 14 तारीख को या नॉर्मल है लेकिन अगर बच्चे को लूज मोशन हो रहा है तो आप यह उपाय करें साबूदाना को भीगाले और भीगे हुए साबूदाना को उबाल ले और अच्छे से उबलने के बाद उसके पानी को छानकर रखें इस पानी को बच्चे को दिन में दो-तीन बार पिलाती रहें इससे लूज मोशन और डायरिया में आराम मिलता है बच्चे को केला खिलाएं। लूज मोशन होने से बच्चे के शरीर में पानी की कमी हो जाती है इसके लिए आप बच्चे को नारियल पानी पिलाएं अनार का ताजा रस निकालकर बच्चे को दिन में तीन चार बार पिलाएं। इससे बच्चे को दस्त से आराम मिलेगा और शरीर में पानी की कमी भी पूरी होगी और बच्चे कमजोर भी नहीं होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 10 मंथ्स रनिंग ह वो दिन में 4 से 5 बार पॉटी करती ह प्लीज कोई उपाय बताएं
उत्तर: हेलो डियर मैंने आपके प्रश्न का उत्तर आपको आपके पहले प्रेस में दे दिया है आप अपने इनबॉक्स में जाकर के अपना आंसर चेक कर सकती है । 10 मंथ में बेबी का 4 से 5 बार पॉटी करना नॉर्मल है क्योंकि इस दौरान आपके बेबी का पाचन तंत्र इतना मजबूत नहीं होता है कि वह सॉलि़ड फूड को आसानी से पचा सके । इस दौरान आप अपने बेबी को ज्यादा से ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करवाएं जिससे बेबी की बॉडी डिहाइड्रेट ना होने पाए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें