20 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere right per bohat dukhta h iske liye kya karu mera 5th month chal raha h

2 Answers
सवाल
Answer: गर्भवस्था के दौरान बहुत साडी परेशानिओ से गुजरना पड़ता है उनमे से ये पैरो में दर्द प्रमुख समस्या है और ये दर्द रात में और बढ़ जाता है इस समय वजन बढ़ जाने के कारन पैरो में दर्द होता इससे आपका पुरे शरीर का वजन पैरो पर पड़ता है और पैरो में थकन होती है इस दौरान आपका गर्भाशय का आकर बढ़ जाता है जिसके कारन पैरो कि नसे डाब जाती है और वह तक ब्लड अच्छे से नहीं पहुँच पात इस दौरान आपके शरीर में मैग्नेसीउम्, पोतसीउम्, कैल्सियम कि कमी हो जाती है इससे कारन दर्द होता है दरद से रहतpane का सबसे अच्छा उपाय एक्सरसाइज है स्ट्रेचिंग करना आपको सुबह शाम लाभदायक होगा पईड़ो के दर्द से रहत paneके लिए आप रात में सोने से पहले हलके गरम पानी मी३०मिनट डूबकर रखे बहुत आराम मिलता है इस दौरान आप अपने पैरो को मोड़ कर ज्यादा देर नाबैथे
Answer: गर्भावस्था के सुरूवात से लेकर अंतिम चरण तक पैरों तथा पैरों और तलवों में दरद होना सामान्य है ।यह जादातर महीलाओं को होता है। गर्भ में पल रहे शिशु केकारण गर्भाशय का भार पैरों पर पड़ने लगता है।इससे पैरों को अधिक भार झेलने के दरद और सुजन भी हो सकती है जो शिशु जन्म के बाद खतम हो जाता है।दरद से बचने के लिये पैर के तलवों को गुनगुने तेल से मालीश करें और कम चले जादा देर तक खड़े न रहें आराम करें ऊंची हील न पहने आराम दायक फ्लैट चप्पलें पहनें इससे आपके पैरों को आराम मीलेगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mera 5th month chal raha hai mere per me bahut dard hota hai....bahot zyada kya karu???
उत्तर: गर्भावस्‍ता के दौरान पैरों में दर्द होना काफी आम बात है। वजन बढ जाने की वजह से खून का प्रवाह कम हो जाता है। शरीर में कैल्‍श्यिम, मैगनीश्यिम और पोटैश्यिम की कमी हो जाना भी एक कारण है। दर्द को कम करने के लिए सबसे बेहतरीन व्‍यायाम है स्‍ट्रेचिंग करना। सुबह के समय और सोने से पहले अपने पैरों और पंजों को स्‍ट्रेच करना ना भूलें .कोशिश करें कि अपने पैरों को ज्‍यादा देर तक कभी भी मोड़ कर ना बैठें। अगर दर्द महसूस होने लगे तो थोडी थोडी देर पर अपने बैठने का तरीका बदल लें। गर्भावस्‍था के दौरान हल्‍का चलना फिरना आपके और आपके होने वाले बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहतरीन होगा। चलने से पैरों की मासपेशियां मजबूत होती हैं और साथ ही दर्द भी कम होता है। हर रोज़ हरी सब्जियों और ताज़े फलों का जूस पिएं इससे आपको पोषण मिलेगा और ताकत भी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera 5 month chal raha h or mere chest me bohat jalan hoti h kya karu
उत्तर: जैसे जैसे बच्चे का विकास होने लगता है वैसे वैसे वो पेट के अंगों को ऊपर की ओर धकेलने लगता है जिसके कारण पेट में एसिडिटी बनना शुरू हो जाती है जिससे कि सीने और गले में जलन की समस्या होने लगती है इससे बचने के लिए आप एक ही बार में बहुत सारा खाना ना खाएं थोड़ी थोड़ी मात्रा में खाना खाएं सोने की कुछ देर पहले खाना खा ले खाना खाने के बाद थोड़ी देर तक सीधे बैठे हैं पानी की कमी ना होने दें खाने के बाद चूगंम खाएं क्योंकि चबाने से लार ग्रंथि उत्तेजित होती है ढीले ढाले कपड़े पहनने बहुत ज्यादा टाइट कपड़े ना पहने खाने के बीच में कोई भी लिक्विड ना लें इसके अलावा बदाम नींबू चाय एवोकाडो हरी पत्तेदार सब्जियां लहसुन यह खाएं यह जलन को शांत करते हैं जब जलन की समस्या हो तो ऐसे टाइम पर चीनी अल्कोहल सोडा प्याज टमाटर चॉकलेट मसालेदार खाना खट्टे फल इन सब चीजों को अवॉइड करें आईरन सप्लीमेंट से भी जलन की समस्या होती है ऐसे में आप डॉक्टर से सलाह जरूर लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera 9 month chal raha hai, lekin mera baby bomp niche nahi aaya hai, iske liye kya karu???
उत्तर: हेलो डियर अगर आपका बेबी बम्प निचे आ गया है तो आपको खास ध्यान रखना होगा जैसे , सीढ़ियां इस्तमाल ना करे , एग्ज़र्शन ना करे , उचि हील ना पेहेने, बेड रेस्ट करे , सोते समय पैरों के निचे पिलो रखें बेबी निचे की वजह से डिलिवरी जल्दी हो सकती है इसीलिए अपना खास धयान रखें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें