32 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere pet me or gale me bahut jalan ho rhi h pls kuch upay bataye

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आपके पेट और गले में जलन ऍसिडिटी की वजह से हो सकती है । एसिडिटी एक आम समस्या है जो प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर महिलाओं को हो जाती है।इससे बचने के लिये आप सन्तुलीत और पौस्तिक भोजन कीजिये।तैलीय और वसा युक्त भोजंन का सेवन मत किजिये।ज्यदा से ज्यादा मात्रा माय पानी पीजिये।चिन्ता मुक्त रहिए । एसी कोई भी चीज़ मत पिजिये या खाइये जिससे आपको ऍसिडिटी की समस्या हो ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: गले में जलन हो रही ह बहुत
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में गले मे जलन होना ज्यादा मसालेदार भोजन करने की वजह से आपको गले मे जलन होती है ऐसे में आपको एसिडिटी की वजह से भी गले मे जलन होती है ऐसे में खराब खराब डकार आने पर भी गले मे जलन होती हैं ऐसे में आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए , सादा खाना खाना चाहिए , रात को सोने से पहले 2 से 3 घंटे के बाद खाना खाना चाहिए , इससे आपके पेट मे भी आराम मिलेगा , आपके गले मे जलन है तो आप एक गिलास गर्म पानी मे दो चमच्च शहद डालकर भी पीने से जलन दूर होती है , आप गुनगुने पानी मे नमक डालकर गरागरा करने से भी आराम मिलता , कच्चा लहसुन खाने से गले की खुजली में राहत मिलती हैं , अगर ज्यादा इन सब से ना ठीक हो तो डॉक्टर को दिखा दे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ही मैम मेरे गले में बहुत जलन हो रही ह इसके लिए कोई उपाय हो तो बताओ ना
उत्तर: आप नींबू पानी पिए , और खीरा खाए , और दही भी अपनी डाइट में शामिल करें ,गले में जलन एसिडिटी की वजह से होती है ,ये चीजे खाने से आपको एसिडिटी नहीं होगी तो जलन भी नहीं होगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera dusra mahina pura ho gaya h mere pet me bhot jalan ho rahi h plzz kuch upay bataye
उत्तर: गर्भावस्‍था के दौरान सीने की जलन की समस्‍या तीसरी तिमाही यानी 6 महीने के बाद होती है। सीने और गले में जलन, मुंह में खट्टा और अम्‍लीय स्‍वाद, आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। जैसे-जैसे बच्चे का विकास होने लगता है, वैसे-वैसे वह पेट के अंदर के अंगों को ऊपर की ओर ढकेलने लगता है, जिसके कारण पेट में एसिडिटी और जलन की समस्या शुरु हो जाता है। घरेलू उपचार के जरिये इस समस्‍या का दूर किया जा सकता है।  (1)गर्भावस्‍था के दौरान सीने में होने वाली जलन को दूर करने के लिए बादाम का सेवन कीजिए। प्रोटीनयुक्‍त बादाम में तेल पाया जाता है, जो एसिडिटी की समस्‍या को दूर करने में सहायक है (2)अदरक के सेवन से पाचन शक्ति बढ़ती है। सीने में जलन के इलाज में भी बहुत कारगर यह अदरक। ताजा अदरक को चबाने या अदरक वाली चाय पीने से पेट की समस्‍या दूर होती है  (3)दही पाचन तंत्र में सुधार करता है, जिससे खाना आसानी से पच जता है। इसका सेवन करने से गर्भावस्‍था के दौरान पेट संबंधित समस्‍या होने की संभावना कम रहती है(4)एलोवेरा में सीने की जलन को कम करने और एसिडिटी से तुरन्‍त राहत प्रदान करने की अद्भुत क्षमता पायी जाती है। एलोवेरा जूस को पानी में मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं। इससे पेटमें जलन सभी प्रकार की समस्‍यायें दूर होती हैं। इसका सेवन गर्भावस्‍था के दौरान किया जा सकता  (5)गर्भावस्‍था के दौरान अगर सीने में जलन हो तो नींबू के रस का सेवन कीजिए। एक लीटर पानी में एक छोटा चम्‍मच नींबू का रस और दो चम्‍मच शहद अच्‍छे से मिला लीजिये इससे पाचन क्रिया सुधरती है और एसिडिटी भी नहीं होती। यह सीने की जलन दूर करने का अच्‍छा तरीका है।  (6)सामान्‍यतया सौंफ का सेवन अगर किया जाये तो पेट संबंधी किसी भी प्रकार की समस्‍या नहीं होती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर मेरा 6 मंथ कम्पलीट होने वाला ह बट मेरे पेट में और गले में काफी जलन हो रही ह कोई उपाय बताएं प्लीज
उत्तर: हेलो डियर अगर गले में बहुत ज्यादा जलन हो रही है तो ठंडा ठंडा दूध पीने से गले की जलन ठीक हो जाएगी जितना ज्यादा हो सके पानी पीजिए मिर्च मसालेदार खाना बिल्कुल मत खाइए हरी सब्जियां और फल वगैरा खाइए और थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खाती रही है ताकि एसिडिटी ना बने
»सभी उत्तरों को पढ़ें