16 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere pet me bhut dard ho rha h ak site me khuc khati to पेट me lgta hai kya kru plz btao डॉक्टर

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere pet me dard h kya kru btao plz
उत्तर: प्रेगनेंसी में पेट दर्द होना बहुत आम समस्या है लेकिन हमेशा पेट दर्द का होना सिर्फ गैस ही वजह नहीं हो सकता गैस की प्रॉब्लम पहले की कुछ महीनों में ही ज्यादा होती है लेकिन उसके बाद पेट में दर्द होने का कारण कुछ और भी हो सकता है जैसे-जैसे आपके बच्चे का साइज बढ़ता है वैसे यूट्रस का साइज बढ़ता है जिससे कि पेट और पेट से जुड़े हुए अंग होते हैं उन सारे अंगो पर दबाव पड़ता है यूटरस का साइज बढ़ने से उसके आस-पास के लिए मसल्स फैलते हैं जिसके कारण हमें दर्द का अनुभव होता है आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है हो सकता है यह दर्द हल्का हल्का पूरे 9 महीने तक रहे लेकिन यदि यह पेट का दर्द ज्यादा है और लंबे समय तक है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेकर पेट का checkup कराना चाहिए पेट में दर्द होने से आप किसी प्रकार का बाहरी दवाई बिना डॉक्टर के सलाह के नहीं ले सकते इससे बच्चे को बहुत इफ़ेक्ट होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 9ba mhina chal rha h or mere pet m bhut drd ho rha h m kya kru plz btao
उत्तर: hello dear aap के स्टेटस के हिसाब से आप 36week की प्रेग्नेंट है 9 महीना में कभी भी लेबर पेन आ सकता है यदि आपको लगातार दर्द हो रहा है और आराम करने पर भी ठीक नहीं हो रहा और साथ ही आपको डिस्चार्ज हो रहा है पिंकी वाइट कलर का या फिर ब्राउन कलर का और साथ ही आपको पीरियड आने के जैसा दर्द हो रहा है तो आप हो सकता है कि आपको लेबर पेन आ रहा ho इसलिए आप डॉक्टर के पास जा सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hlo mere pet me bhut jalan ho rhi h plz koi btao m kya kru
उत्तर: dale sabse jada khao aap paneer और sprouts in sab se baby की grouth hogi
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere कान me bhut drd ho rha h kya kru plz btao na
उत्तर: Hello कान दर्द होने पर आप लहसुन की दो कलियों को अच्छी तरह से पीस लें अब इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर ऊनी कपड़े या सूती कपडे की पुल्टीस गरम करके दर्द वाले हिस्से के ऊपर रखें इससे दर्द में आराम मिलेगा। तुलसी के पत्तों का रस गुनगुना कर दो-दो बूंद सुबह-शाम डालने से कान के दर्द में राहत मिलती है। तुलसी के पत्तों में औषधीय गुण होते हैं जो दर्द में आराम दिलाते हैं। दो या तीन बूंद सरसों का तेल इंफेक्‍शन के कारण होने वाले दर्द में लाभकारी होता है। एक साफ सुथरे तौलिये को गर्म पानी में डूबोकर इसे इंफेक्‍शन युक्त कान के हिस्से के ऊपर दबाते हुए लगभग बीस मिनट तक रखें यह कान दर्द से तुरंत आराम देता है। एप्‍पल साइडर सिरका को दो बूंद ड्रॉपर की मदद कान में डालकर कान को कुछ समय(लगभग एक घंटे) तक रूई से बंद कर देने से वायरस जीवित नहीं रह सकता है। इसके अलावा चार या पांच चम्मच नमक को तब तक धीमी आंच पर भुनें जब तक की यह भूरे रंग का न हो जाए, अब इस गर्म किये हुए भुने नमक को एक साफ कपडे पर अच्छी तरह से लपेट लें और इसे कान के प्रभावित हिस्से में दो से पांच मिनट तक रखें आपको सूजन और दर्द में आराम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें