38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere pairo me bahut dard ho rha h mujhe chalne me bhi dikkat ho rhi h

3 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसमें घबराने की कोई बात नहीं है या अब बहुत सी महिलाओं को होता है प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होने का एक कारण हो सकता है कैल्शियम की कमी और दूसरा कारण हो सकता है ,वजन बढ़ना ,कुछ घरेलू उपचार के साथ आप अपने पैरों के दर्द को ठीक कर सकते हैं ,हल्का चलना-फिरना आपके और आपके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन होगा सुबह शाम थोड़ा थोड़ा वॉक करें वॉक अप उतना ही करें जिसमें जिसमें आपको थकान महसूस ना हो ,गर्म पानी में आप थोड़ी देर अपने पैर डालें उस गर्म पानी में पहले थोड़ा सा नमक डालें फिर उस पानी से अपने पैरों की सिकाई करें ,अपने खाने-पीने का भी ध्यान रखें ,कैल्शियम रिच डाइट लें दूध दही पनीर यह सब अपने आहार में लें.
Answer: हेलो प्रेगनेंसी के दौरान ऐसी सारी समस्याएं नॉर्मल होती हैं सोते समय आप अपने पैर को सिर के लेवल से थोड़ा ऊंचा रखें पैरों के नीचे आप तकिया रख सकते हैं दिन भर पेट का भार पैरों पर पड़ने से पैर के साइड ब्लड सरकुलेशन ज्यादा होने लगता है जिससे हमारे पैर थकते हैं कमर और पूरे पैरों पर सरसों तेल लगाएं फिर गुनगुने पानी में नमक डालकर पांव की सिकाई करें नहाने वाले गुनगुने पानी में भी थोड़ा सा नमक डालें इससे आपके पूरे शरीर की सिकाई होगी और शरीर में ताजगी आएगी और आपको पैर के दर्द में आराम मिलेगा
Answer: आप नंगे पर ना छलें .. स्लिप्पेर यूज़ kre
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere pair me bahut sujan h chalne me dard bhi ho rha h
उत्तर: Hello डियर , प्रेग्नेन्सी में पैरो पे सुजन आना आम बात है क्युकी बेबी का और आपका वेट पैरो पर भारी पडता है.बीच-बीच में उठें और थोड़ा चले-फिरें।घर में जब भी संभव हो अपने बाईं तरफ करवट लेकर लेटें क्योंकि इससे वीना कावा नस पर दबाव नहीं पड़ता। खूब सारा पानी पीएं। हैरत की बात यह है कि आप जितना ज्यादा पानी पीएंगी, उतना ही कम पानी आपका शरीर प्रतिधारित करेगा।नियमित व्यायाम करें, खासकर कि चलना-फिरना, तैराकी, प्रसवपूर्व योग या एक्सरसाइज बाइक का इस्तेमाल। पौष्टिक व संतुलित आहार खाएं और ज्यादा नमक वाले खाद्य पदार्थ जैसे कि जैतून, नमकीन, चिप्स और नमक वाले मेवे न खाएं। ये पानी प्रतिधारण को बढ़ा सकते हैं।अगर आपकी त्वचा में ज्यादा कसाव और दर्द न लगे, तो किसी से अपने टखनों और पैरों की मालिश करवाएं। मालिश के दौरान नीचे से ऊपर की तरफ घुटनों तक जाएं। इससे पैरों से तरल पदार्थ को हटाने में मदद मिल सकेगी।कोशिश करें कि आप खुश और निश्चिंत रहें! हालांकि, आपके सूजे हुए टखने शायद आपको असहज महसूस करा सकते हैं, मगर इडिमा एक अस्थाई स्थिति है, जो कि शिशु के जन्म के बाद दूर हो जाती है। ख्याल रखें डियर.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere gale me bahut dard ho rha h bolne me bhi dikkat ho rhi h
उत्तर: गले में जलन को ठीक करने के लिए या गले के इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं पहला एक कप पानी उबालें शहद और नींबू इसमें मिलाएं इस को ठंडा होने दें और फिर le दूसरा vapour ले सकती हैं इससे आपके गले को काफी आराम मिलेगा तीसरा गरारे करें गर्म पानी में नमक मिलाकर गरारे करें चौथा ग्रीन टी लें इसमें शहद मिलाकर पानी के साथ बॉयल करें इसे पीने से भी काफी आराम मिलेगा पांचवा भाग अदरक का पानी, एक cup पानी पानी उबालें और इसमें अदरक डालें 5 मिनट तक बॉईल करें इसमें mint भी मिला सकते हैं आपको काफी आराम पहुंचाएगा गले में
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेंre कूल्हे में दर्द h और chalne me भी थोड़ी प्रॉब्लम हो रही h कोई दिक्कत की बात to नहीं
उत्तर: आपने कहा कि आपको कूल्हों में दर्द है और चलने में भी प्रॉब्लम हो रही है तो ऐसा लास्ट की महीने में सामान्य होता है सभी लेडीस को ऐसी प्रॉब्लम होती है क्योंकि इस समय तक बच्चे का विकास पूरी तरीके से हो जाता है और आपके कमर और शरीर के निचले हिस्से पर भार पड़ता है जिसके कारण आपको फूलों में कमर में और पैरों में दर्द हो सकता है इसमें कोई दिक्कत वाली बात नहीं है जब भी आपको ऐसा तकलीफ हो तो आप गुनगुने तेल से मालिश करवा सकती हैं इससे आपको थोड़ा आराम मिल जाएगा हालांकि डिलीवरी होने के बाद ही आपको पूरी तरीके से आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें