6 महीने का बच्चा

Question: mere bete ko sardi khasi bahut hai kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: २ से ३ लहसुन की कली को आधा चम्मच अजवाइन क साथ पीस कर उसकी पोटली बना दे. और उसको बच्चे के सोने की जगा के बाजु में रखे , ऐसे रखे की उसकी स्मेल उसे आये पर वो उसको डायरेक्ट टच न हो. आप उसके सोने की जगा क आजु बाजु २- ४ ड्रॉप्स नीलगिरि आयल बी लगा सकते हो. उसकी स्मेल से भी उसे रहत होगी. बच्चे को ज्यादा ब्रैस्ट फीडिंग करवाते रहे.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mere bete ko sardi khasi bahut hai jiski vajah se vo so nahi pata
उत्तर: हेलो डिअर, आपके बेबी को अगर जुखाम हो गया हैं तो आप सरसो के तेल में थोड़ा अजवायन और एक जवा लहसुन डाल कर धीमे आंच पर पका दे जब तेल ठंडा ही जाए तब इसी तेल से बेबी के हाथ पैर के तलुए पे तेल से मालिश करे और फिर बॉडी पर मालिश करे इससे आपके बेबी के जुखाम में बहुत आराम मिलेगा आपके बेबी को अगर अक्सर जुखाम हो जाता है तो आप अपने बेबी को सप्ताह में 3 से 4 बार ही गुनगुने पानी से नहलाये , आप अपने बेबी को मौसम के अनुकूल कपड़े पहनाये, जुखाम होने पर आप कुछ सहजन ली पत्तियों को तोड़कर नारियल के तेल मे पका दे जब पत्तियां सुख जाए अब आप इस तेल को ठंडा करके बेबी के सर पे लगा के मालिश कर दे और बॉडी में भी लगा दे इससे आपके बेबी का जुखाम ठीक हो जाएगा , आपके बेबी को खांसी आती है तो आप एक गिलास पानी में आधे से भी कम चम्मच अजवाइन लेकर पानी मे डाल दे , पानी को उबाल लें फिर थोड़ा सेधां नमक और चुटकी चीनी डालकर मिला दे जब पानी ठंडा हो जाये तब अपने बेबी को दिनभर में 3 से 4 बार मे पिलाती रहे बेबी की खांसी ठीक हो जायेगी या आप गाय के घी में थोड़ा सेधां नमक मिलाकर गुनगुना कर ले और बेबी के सीने और पीठ पर लगा दे आपके बेबी की खांसी कम हो जाएगी , आप अपने बेबी को खासी के लिए अदरक के रस और गुड का जलाव बना ले इसके बाद आप अपने बेबी को दिन भर में खांसी आने पर 3 से 4 बाद चटायें इससे आपके बेबी को काफी हद तक खांसी में आराम हो जाएगा , लेकिन ज्यादा खांसी आने पर आप डॉक्टर को दिखा दे एल
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere boy ko bahut khasi and sardi cuff ho gayi hai plz kya karu plz rep
उत्तर: हेलो यार इतने छोटे बच्चे को जाकर के डॉक्टर को दिखाइए क्योंकि अगर खांसी और सर्दी बढ़ गई तो बच्चे को बहुत ज्यादा परेशानी होगी बच्चा भी बहुत छोटा है इस वजह से घरेलू उपाय नहीं अपनाए जा सकते हैं आप थोड़े से सरसों के तेल में अजवायन और लहसुन को गर्म कर लीजिए और उसको बच्चे की छाती पर और पीठ पर लगाइए बच्चे का थोड़ा कंजेशन ठीक होगा लेकिन फिर भी एक बार जाकर डॉक्टर को दिखा दीजिए और बच्चे को कवर करके रखिए और आप अपने खाने पीने पर ध्यान दीजिए कुछ भी ऐसी चीज ना खाए जिससे बच्चे को और ज्यादा सर्दी खांसी हो क्योंकि बच्चा आपका दूध पीता होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere bete ko sardi khasi ho gyi hai upay btaye
उत्तर: हेलो आपकी बच्चे को सर्दी है nebulize करवायें बच्चे को राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम बहुत कमज़ोर होता है जीस्से उन्हें कफ और कोल्ड हो जाता है.मौसम में बदलाव के कारण सर्दी खासी आने पर आप बच्चे को गरम रखें l ऐसे कपड़े पहनाये की हलकी गर्माहट बनी रहें l रूम को भी गरम रखने का प्रयास करे lसोते टाइम सर हल्का उंचा कर के सुलाये,बच्चे को आराम मिलेगाl बच्चे को आराम करवायें बच्चा जीतन आराम करेगा उतनी जल्दी ठीक होगा lखाने में गरम चीज़ों का यूज़ करे l सरसों के तेल में लहसुन और हींग गरम कर लेऔर हलके हाथों से बच्ची के चेस्ट back और पैरो के तलवो में मालिश करेl अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्‍चों के लिए सुरक्षित वेपर रब का इस्‍तेमाल करें। वेपर रब से बच्‍चे की नाक, छाती, गला और कमर पर मालिश करें। इससे बच्‍चों को सुकून भी ठंडक का अहसास होता है और उन्‍हें सांस लेने में आसानी होती है।बच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखे। बच्चे को कुछ खिलाने से पहले हैण्ड वाश करेlबच्चों के सर्दी-खांसी में अजवाइन का काढ़ा पिलायें।सर्दी-खांसी के दौरान सूप बहुत आरामदायक भोजन होता है। आप सब्जियों का गर्म सूप ,चिकन सूप दे सकती हैं। ये सूप बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।जीरे और मिश्री दोनों को महीन पाउडर में पीस लें। जब भी आपके बच्चे को खांसी आती है तो उसे यह मिश्रण दे बच्चे के खाने में हल्दी हीङ्ग का प्रयोग करे बेबी को कुछ दिन फ्रूट्स चॉकलेट ठण्डी चीज़ें घी देना अवोइड करे ये कफ को badhate है बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlप्रॉब्लम ज़्यादा होने पर डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें