6 महीने का बच्चा

Question: mere bete ko bahot kaf huwa hai to use kya du jisse usko jaldi aaram mile

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो मौसम बदलने के साथ साथ बच्चों में सर्दी खांसी की समस्या आती ही है आप बच्चे को नहलाते समय कमरे के अंदर नहलाये पंखा एसी बंद करके बच्चे को मालिश करने वाले तेल में सरसों तेल का उपयोग करें। सुलाते समय बच्चे के छाती गले और पेट पर विक्स की मालिश करें। और बच्चे को सीने तक चादर से ढक दें थोड़ी देर के लिए पंखा एसी कुलर ना चलाएं। नाक बंद होने पर सांस लेने में तकलीफ होती है और बच्चे रोते हैं इसके लिए एक रुमाल में नीलगिरी तेल के 3 या ४ ड्रॉप डालें और उसको बच्चे के सिर के आस पास रख दें। इससे बच्चे की नाक खुली रहेगी उसे सांस लेने में दिक्कत नहीं होगी। अजवाइन को तवे पर हल्का गर्म करें और जब उसमें से खुशबू उड़ने लगे तो उसे एक पोटली में बांधकर बच्चे के सिरहाने पर रखें।2 चम्मच सरसों तेल को गर्म करें और उस पर 4, 5 लहसून की कलियों को डालकर पका ले रात में सोने से पहले इस तेल से बच्चे की मालिश करें आराम मिलेगा।
Answer: बच्चे को भाप युक्त कमरे में रखें बच्चे को बलगम बन रहा हो तो आप उसे भाप दिलाएं भाप लेने से उसकी नाक और छाती खोलने में मदद मिलेगी बाथरूम में गर्म पानी का शाबर चला ले और बच्चे को अंदर ले कर बैठ जाए करीब 15 मिनट बाहर आने के बाद उसके कपड़े उतार कर सूखे कपड़े पहना दे गद्दे का सिरआना ऊंचा उठा देने से बच्चे को सांस लेने में आसानी होगी बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराएं इससे balgam के कारण से निपटने में मदद मिलेगी आप गर्म सरसों का तेल लें और इसे गर्म करें लहसुन की कलियां वे उन्हें हल्का कूटे और सरसों के तेल में डालकर भुने इससे सीने और पांव की मालिश करें इससे बच्चे को काफी आराम होगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere bete ko khansi zukam है uske liye koi gharelu upay btaye jisse use raaht mile
उत्तर: सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये, अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये, यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे बेबी की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये. इससे सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये,इस तेल को बेबी की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से बेबी की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच नारियल का तेल ले लीजिये, नारियल के तेल को गरम कीजिये,अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर तेल में मिलाइये. इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा.नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा नरम कपडे या स्पंज का उपयोग कर बच्चे के कुछ भाग जैसे बगल, पैर और हाथो को भी पोछ सकते हो, इससे बच्चे ke शरीर का तापमान भी कम होगा यदि आप फैन चला रहे हो तो ध्यान रहे की इसे धीमी स्पीड पर ही चलाये, ध्यान रहे की आपका बच्चे सीधे पंखे के निचे ना सोया हो. नरम कपडे को पानी में भिगोकर ठंड़ी पट्टी बच्चे के सिर पर रख, पट्टी पूरी तरह से सुख जाये तब समझ जाये की पट्टी ने बुखार सोख लिया है और इससे शरीर का तापमान भी कम होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere baby k gale me kaf ho gaya h .main use kya du jisse kaf nikal jaye..
उत्तर: हेलो डिअर, बेबी को कफ होने पर सबसे अच्छा और प्राकृतिक इलाज हैं कि स्टीम दिया जाए इससे कफ आसानी से निकल जाएगी , आप पानी मे अजवायन डाल कर अच्छे से पकाए इसके बाद इसकी स्टीम दे अपने बेबी इससे बेबी की नाक खुल जाएगी और नाक के जरिये कफ निकल जायेगा , इससे बेबी रात को अच्छे से सो भी लेगा , ऐसे में अजवाइन का उपयोग इस तरह से और किया जा सकता है , इसके लिए अजवाइन को थोड़ा सा लेकर हल्की आंच पर भून लें और इसकी एक छोटी सी पोटली बना लें। इस पोटली को अपने बेबी की नाक के पास लाएँ जिससे उसकी साँसों के साथ इसकी महक उनके नाक में जाए इससे भी कफ में आराम निकल जाएगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere bete ko khasi ho gai hai aap koi upay bataye me use kya du jise usko thoda aaram mile
उत्तर: एक बर्तन में 2 ग्लास जितना पानी ले| उसमें एक छोटा चम्मच अजवाइन थोड़ा हल्दी पाउडर एक छोटा टुकड़ा अदरक थोड़े तुलसी के पत्ते चुटकी भर मरी का पाउडर डालकर उसे अच्छी तरह से उबालें| उसे जान कर रख ले और दिन में दो से तीन बार एक छोटे चम्मच इतना बच्चे को दें| पिलाते समय आप उसमें शहद भी मिला सकते हो| इससे बच्चे को सर्दी में काफी राहत मिलेगी|
»सभी उत्तरों को पढ़ें