2 महीने का बच्चा

Question: mere bete ko ghamoriya ho gyi he to uske liye kya kru??

1 Answers
सवाल
Answer: hello बच्चे की घमौरियां हटाने के लिए उसे नहाने से पहले शरीर पर दही का लेप करें। फिर 5 मिनट बाद उसे नहला दें। इससे बच्चे के काफी ठंडक भी मिलेगी और उसकी घमौरियां भी ठीक हो जाएगी। मुल्तानी मिट्टी में गुलाबजल मिला कर पेस्ट तैयार कर लें। इससे बच्चे के शरीर पर लेप कर दें। फिर 5 से 7 मिनट बाद बच्चे को नहला दें। इस उपाय से बच्चे के शरीर से गर्मी बाहर निकल जाएगी और जलन भी कम होगी चंदन पाउडर ठंडक के लिए जाना जाता है। इसमें गुलाबजल मिक्स करके पेस्ट तैयार कर लें और इसे बच्चे पर लेप करें। कुछ देर बाद बच्चे को नहला दें। इस उपाय से घमौरियों से बहुत जल्दी राहत मिलेगी। घमौरियों से बचने के लिए बच्चे को टैल्कम पाउडर लगाएं लेकिन पाउडर लगाने पर उसके शरीर में चकते होने लगें तो पाउडर इस्तेमाल करना बंद कर दें और बच्चे को डॉक्टर से दिखाएं। बच्चे को गर्मी में सूती और ढीले कपड़े पहनाएं। जिससे बच्चे को आराम मिलेगा। बच्चे को पसीना आने पर उसे पोंछते रहें। बच्चे की स्किन सूखी ही रखें। शिशु के शरीर में पानी की कमी होने पर भी खुजली हो सकती है। इसलिए उसे बार-बार पानी पिलाते रहें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere bete ko sardu khasi ho gyi h .kya kru .
उत्तर: सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये, अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये, यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे बेबी की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये. इससे सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये,इस तेल को बेबी की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से बेबी की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच नारियल का तेल ले लीजिये, नारियल के तेल को गरम कीजिये,अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर तेल में मिलाइये. इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा.नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा नरम कपडे या स्पंज का उपयोग कर बच्चे के कुछ भाग जैसे बगल, पैर और हाथो को भी पोछ सकते हो, इससे बच्चे ke शरीर का तापमान भी कम होगा यदि आप फैन चला रहे हो तो ध्यान रहे की इसे धीमी स्पीड पर ही चलाये, ध्यान रहे की आपका बच्चे सीधे पंखे के निचे ना सोया हो. नरम कपडे को पानी में भिगोकर ठंड़ी पट्टी बच्चे के सिर पर रख, पट्टी पूरी तरह से सुख जाये तब समझ जाये की पट्टी ने बुखार सोख लिया है और इससे शरीर का तापमान भी कम होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere bete ko cough ho gyi h kya kru
उत्तर: हेलो आपका बेबी अभी बहुत छोटा है उस का खास ख्याल रखें जब भी आप बेबी को बाहर लेकर जाएंगे तो अच्छे से कवर करके लेकर जाएं। घर में भी सुलाते समय बेबी के हाथ पैर शरीर को ढक कर रखें। बेबी को सरसों तेल की मालिश करें। बेबी अभी बहुत छोटा है इसलिए उसे अभी vicks नहीलगा सकते । इसलिए अपने सीने मे vicks लगा कर अपने शरीर से चिपका कर सुलाए। विक्स की गर्मी से बेबी का नाम खुलेगा और बच्चे को राहत मिलेगी। दो कॉटन बॉल में नीलगिरी तेल की पांच या सात ड्रॉप डालें और उसे बेबी के सिर के आस पास रखें। इसकी खुशबू से बच्चे की बंद नाक खुलेगी और बच्चे को आराम मिलेगा। अजवाइन को तवे पर गर्म करें और जब उसमें से खुशबू उड़ने लगे तो उसे एक पतले कपडे में पोटली बनाकर। बेबी के सिरहाने में रखे उसकी खुशबू भी बेबी का नाक खोलने में मददगार होगा एक चम्मच गुनगुने पानी में थोड़ी सी हींग घोलकर बच्चे के हाथ और पांव में मले थोड़ी हींग बच्चे के सीने के बीचो-बीच और नाभि में भी मले। हींग की गर्मी से बच्चे का कफ गलेगा। और बच्चे को राहत मिलेगी। ध्यान दें अगर बच्चे के सांस लेने में घरघराहट आ रही हो तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere bete ko gardan pr ghamoriya jesa nikla he pr winter me ghamoriya nhi ho skti to kya hoga use kese thik kru?
उत्तर: हेलो नेक पर गंदगी जमने के कारण बच्चों की नेक लाल हो जाती है नहलाते समय बच्चे के सिर को थोड़ा नीचे लटका कर नेक की अच्छे से सफाई करें। नहलाने के बाद नेक को अच्छे से सूखे कपड़े से पोछे और टेलकम पाउडर लगा दे दूध पिलाने या कुछ खिलाने के बाद सिर को थोड़ा नीचे लटका कर बच्चे की गले की सफाई अच्छे से करें बच्चे दूध पीते या कुछ खाते समय थोड़ा दूध मुंह से बाहर गिराते हैं जो कि गले में जम जाता है जिसके कारण गले में रेसर्स हो जाते हैं। दूध पिलाने और खिलाने के तुरंत बाद वेट वाइप से बच्चे के गले को पोछें
»सभी उत्तरों को पढ़ें