29 weeks pregnant mother

Question: mere back me pin ho rha h

सवाल
Answer: प्रेगनेंसी में कमर, पीठ में दर्द होना बहुत ही नॉर्मल बात है ,ज्यादातर महिलाओं में प्रेगनेंसी में कमर दर्द की शिकायत होती ही है कमर में दर्द होने का कारण एक तो हारमोंस में बदलाव होता है दूसरा पेट में बढ़ रहे भार का हो सकता है जिसके कारण मांस पेशियों में खिंचाव होता है और कमर में दर्द हो सकता है कमर, पीठ दर्द को कम करने के लिए आप कोशिश करें कि अपनी बाइ और सोए सीधे पीठ के बल ना सोए घुटनों के बीच में तकिया लगाकर सोने से भी आपको कमर दर्द में आराम मिलेगा अगर आप हाई हील की सैंडल , शूज पहनते हैं तो ना पहने यह भी एक कमर दर्द का कारण हो सकता है साथ ही प्रेगनेंसी में dheele सूती के कपड़े पहनने चाहिए जिससे शरीर में खून का प्रवाह आसानी से हो और हम अनेक तरह के दर्द से बचेगे
Answer: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में पीठ में दर्द होना तो समान्य है मै आपको कुछ उपाय बता रही जीस्से आप पीठ दर्द में आराम ल सकती है भरपूर नीन्द लें इसके लिए आप एक ही करवट में ना सोएं करवट बदल बदल कर सोएं ऑर एक पैर के घुटनों को उपर मोड कर सोएं एक तकिया अपने घुटनों के बीच में ऑर दूसरा तकिया पेट के नीचे लगकर सोएं एस में आपको अराम मिलेगा अदिक वज़न ना उठा ए ऑर जादा हिल वाली सेन्देल का यूज़ ना करें व्यायाम करें पिट का सही तरीके से हलके हाथों से मसाज करवाऐ
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere back me drd ho rha h
उत्तर: Hello dear प्रेग्न्सी में होर्मोन चेंजेज और माँ और बच्चे के बढ़ते वेट के कारण गर्भाशय पर दबाव पड़ता है जिसके कारण आसपास के अंग पर भी प्रेशर पड़ता है जैसे कमर पीठ पैर हाथ पेट etc प्रेग्नेन्सी में back में दर्द होना तो समान्य है इसके लिए आप प्रॉपर सपोर्ट लें के बैठे lलंबे टाइम के लिए ना बैठे l रेस्ट करे , धीरे धीरे हलकी हलकी एक्सर्साइज करे l कमर और पैरों मे सरसों के ऑयल से हलकी मालिश भी लें सकती है आपको आराम मिलेगाl आराम करे lआप गरम पानी की बॉटल से सीकाइ भी कर सकती है आपको आराम मिलेगा सोते समय सपोर्ट ले के सोएं और तकिया ना लगायें एक ही postion में ना सोएं करवट बदलते रहे कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता hai.हेवी saaman ना उठा ये हलकी हलकी एक्सर्साइज करे जिसके कारण आपको बैक पेन में राहत मिलेगी सूर्य के प्रकाश में 10 से 15 मिनट बैठे सन रेज से मिलने वाले विटामिन डी आपके बैक पेन और बच्चे के विकास में हेल्पफूल है पानी भरपूर पीये स्ट्रेस ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere kamar me bhut pain ho rha h or back me v kya kre
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था में कमर और पीठ में दर्द होना सामान्य बात है आप बिल्कुल भी मत घबराइए जैसे-जैसे गर्भावस्था अपनी चरम सीमा की तरफ बढ़ती है वैसे वैसे आपके पीठ और कमर में दर्द बढ़ता है क्योंकि बच्चे का पूरा वजन। आपकी पीठ और पेट पर पड़ता है जिसकी वजह से आपके पेट में और पीठ में दर्द होता है आप अपनी पीठ और कमर का दर्द करना दूर करने के लिए निम्न उपाय कर सकती है पीठ का दर्द दूर करने के लिए आपको सुबह-सुबह थोड़ा बहुत टहलना चाहिए और व्यायाम भी करना चाहिए। आप जब भी सोए पीठ के बल ना सोए बल्कि आप एक तरफ को करवट लेकर सोए । आप अपने आहार पर भी ध्यान रखें संतुलित और पौष्टिक भोजन ही लें। आप अपनी पीठ और कमर का दर्द दूर करने के लिये गुनगुना सरसों का तेल लगाकर मालिश भी कर सकती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello dr mere पैरों me सुजन h or back me bahut pain ho rha h or कमर me v bahut dard ho rha h kya kre
उत्तर: कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान चेहरे, हाथों या ऐडि़यों पर सूजन आ जाती है.पैरों में दर्द या सूजन हो जाना एक आम बात है इसकी वजह से ज्यादा चिंतित होने की जरुरत नहीं है आप ये सब कर के देखें आराम मिलेगा नमक में पैर भिगोना अपने पैरों के बीच एक तकिया रखकर अपनी बायीं ओर पर लेटे हुए घुटनों को छाती की ओर उठाने या फैलाने की कोशिश कीजिए पानी गर्म करके किसी बोतल में भर लें| आज कल मार्किट में सिकाई करने के लिए रबर की ख़ास बोतलें आती हैं जो सिकाई करने के लिए ही बनायी गयी होती हैं, आप उस बोतल का इस्तेमाल कर सकते हैं पानी उतना ही गर्म करें जितना आप सह सकें, अब बोतल में पानी भरकर इससे पैरों की सिकाई करें, कोई जल्दबाजी ना करें, आराम से कम से कम 20 -30 मिनट तक सिकाई करें, इससे पैरों कर दर्द और सूजन तुरंत कम होने लगेगी. एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें नीम के पत्ते डाल दें और तब तक उबालते रहें जब तक नीम के पत्ते अपना रंग ना छोड़ने लगें अब इस पानी से पत्तियां निकालकर इसमें थोड़ी फिटकरी मिला लें और इस पानी में कुछ देर तक अपने पैरों को डालकर रखें, नीम के अंदर बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है, और यह दर्द निवारक का कार्य भी करता है पेट का भार लगातार नीचे की ओर होता है, इसलिए इस समय मांसपेशियों का पर दबाव ज्‍यादा होता है महिला के अंदर हर समय हो रहे हार्मोन में बदलाव भी दर्द का कारण बनते हैं दर्द को अगर कम करना है तो रात को सोते समय पीठ के बजाय करवट लेकर ही सोएं कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इस समय हल्‍के तथा ढीले-ढाले कपड़े पहनने चाहिये, टाइट कपड़े पहनने से शरीर में खून का दौरा कम होने लगता है और इसी कारण मांसपेशियां दर्द होने लगती हैं, इसलिए सूती के आरामदायक कपड़े ही पहनने चाहिये, इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें