26 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere baby ka position neeche aa gaya h koi idea de jo thik ho jaye or tension ki koi baat to nhi h

1 Answers
सवाल
Answer: आप परेशान न हों प्रेग्नेंसीय में अगर आपका बच्चा उल्टा है तो आप बराबर डॉक्टर से चेकअप करवाती रहे और डॉक्टर जैसी सलाह दे आप वैसे ही अपनी रूटिन बनाये , बच्चा गर्भ में अपना पोजीशन बदलता रहता हैं हो सकता है।डिलवरी तक बच्चा सही पोजीशन में आ जाय और नारमल डिलवरी हो सकती है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: aaj mere baby ka nose sa dudh nikla isse koi tension ki toh baat nhi h
उत्तर: सही से दूध पिलाना चाहिए उसके यहां सही नहीं है आपको से बिठाकर दूध पिलाना चाहिए जब आप दूध पिलाया तो उसका सर थोड़ा ऊंचा हो ताकि उसका दूर जो है सीधे पेट में जाए क्योंकि इसलिए वह पर चढ़ाएं क्योंकि दूध सही से नहीं पिला रही है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mere guptango ke pass fungal ho gya h jo thik nhi ho rha pls kuch idea de jis se ye jaldi thik ho jaye abhi tk bhut sari dwai lga ke dekh liya fir v thik nhi hua .
उत्तर: गर्म paani se saaf kare din me do baar dettol daal kar . us jagah ko sukha rakhe aur lobate GM क्रीम le aur glycerene mila kar lagaye jarur aaram milega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam pregnancy k time piles me agr blood aa jaye to tension ki baat to nhi h potty krte time blood aa jaye to
उत्तर: हेलो डियर कोई प्रॉब्लम नहीं होगी पर खून की कमी न हो उसस्के लिए में आपके साथ कुछ शेयर करती हूं जिससे आपको मदद मिल पाएगी जीरे को भूनकर मिश्री के साथ मिलाकर चूसने से फायदा मिलता है। या आधा चम्‍मच जीरा पाउडर को एक गिलास पानी में डाल कर पियें। इसके साथ जीरे को पीसकर मस्‍सों पर लगाने से भी फायदा मिलता है। सूखा अंजीर बवासीर के इलाज के लिए एक और अद्भुत आयुर्वेदिक उपचार हैं। एक या दो सूखे अंजीर को लेकर रात भर के लिए गर्म पानी में भिगों दें। सुबह खाली पेट इसको खाने से फायदा होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere baby ka breech position bataya hai thik to ho jayega na agar nhi hua to koi prblm nhi hoti na muje bahot tension hori
उत्तर: hello अगर प्रेगनेंसी में उल्टा बच्चा या ब्रीच बेबी है तो उसके सीधा होने के चांसेस बहुत कम होते हैं ब्रीच बेबी मूवमेंट करते हुए अपने आप कभी कभी सही पोजीशन में आ सकते हैं। अगर आप अपना सोने का उठने बैठने का पोजीशन सही रखें तो ऐसा हो सकता है। पीठ के बल कभी ना सोए लेफ्ट करवट सोये। ज्यादा देर एक ही पोजीशन पर ना रहै ब्रीच बेबी की पोजिशन बदलने के लिए बच्चे को पेट में ज्यादा जगह देना पड़ता है डॉक्टर पेट के बाहर से ही अपने हाथों से बच्चे की पोजीशन बदलने की कोशिश करते हैं और इस प्रक्रिया को एक्सटर्नल सैफेलिक वर्जन कहा जाता है यह प्रेगनेंसी की आखरी हफ्ते में किया जाता है और यह तभी किया जा सकता है जब आपकी ब्लीडिंग नहीं हो रही हो बच्चे का हार्ट रेट सही हो। फ्लूइड की मात्रा कम ना हो प्लेसेंटा गर्भाशय के मुख के पास ना हो। लेकिन इसके बाद भी इसमें चांसेस कम ही होते हैं इसलिए डॉक्टर ब्रीच बेबी होने पर ऑपरेशन की सलाह देते हैं क्योंकि यह मां और बच्चे दोनों के लिए सेफ होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें