30 weeks pregnant mother

mere 7 month camplit hone vala mughe white pani ki paresani ho rahi h kya ye normal h

सवाल
dear गर्भावस्था में वाइट डिस्चार्ज होना आम बात है ।ध्यान रखे कि अगर आपको वाइट डिस्चार्ज से कोई बदबू आती है या फिर बहुत ही ज्यादा पीले रंग का गाढ़ा वाइट डिस्चार्ज होता है ।वाइट डिस्चार्ज की मात्रा बहुत हीज्यादा हो या फिर वाइट डिस्चार्ज के समय पेशाब करते हुए जलन और दर्द महसूस हो तो इस स्थिति में आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere baby ki kidney me pani btaya h baby movement b nhi krta 7 month start hone vala h
उत्तर: गर्भावस्था मे पानी कि कमी से बहुत सारी परेशानियां हो सकती है। आपके बच्चे के सेहत के लिये यह अच्छा नहीं है। गर्भावस्था मे कभी कभी ऐसी स्थिती भी आती है, जिसमे पानी की मात्रा बच्चेदानी में कम हो जाती है | इसका पता हमे सोनोग्राफी से लगता है कि गर्भवती औरत में पानी की कमी है | ये कंडीशन आपके होने वाले बच्चे के लिए काफी अच्छी नहीं होती। जब महिला गर्भवती होती है तो उनकी बच्चेदानी में एक विशेष प्रकार का द्रव्य बनता है जिसे भ्रुण अवरण द्रव कहते है । ये द्रव्य बच्चे को सुरक्षा प्रदान करता है बच्चेदानी में पानी की कमी से बचने के लिए इन चीज़ो की जानकारी होना बहुत आवश्यक है... बच्चे को गरम रखता है । बच्चे के फेफड़ो और किडनी के विकास में सहायक होता है । बच्चे के मूवमेंट करने में सहायक है बच्चा आसानी से घूम सकता है ,जिससे बच्चे के हाथ पैर मजबूत होते है । बच्चे को सुरक्षा प्रदान करता है। बच्चे के पूर्ण विकास के लिए जरुरी है। बच्चे का सम्पुर्ण विकास बांधित हो सकता है। पानी कि कमी से उनका भरपुर पोषण नही हो पाता | पानी कि कमी के कारण बच्चे के जन्म मे देरी भी हो सकता है। बच्चेदानी में पानी की कमी से बचने के कुछ असरदार उपाय जितना हो सके आराम करे। कम से कम 8 से 10 गिलास पानी रोजाना के पिए। ऐसे फलो और सब्जियों का सेवन करे जिनमे पानी की मात्र ज्यादा हो जैसे खीरा, टमाटर , तरबूज , पतागोबी, फूलगोभी, मुली, पालक, अंगूर, सेब इत्यादि। जब आप आराम करे तो बाई तरफ करवट लेकर सोये क्योकि ऐसा करने पर रक्त का सर्कुलेशन बच्चेदानी की तरफ बढ़ जाता है जिससे भ्रुण अवरण द्रव बढ़ता है । नारियल पानी का सेवन अधिक से अधिक करे । कम से कम दिन में दो गिलास दूध पिए । लम्बे समय तक बैठकर घर की साफ सफाई झाड़ू पोचा न करे । अगर आप बी.पी को कण्ट्रोल करने के लिए दवा ले रही है तो आपने डॉक्टर को जरुर बताये क्योकि ये द्वायें भ्रुण अवरण द्रव को कम कर सकते है । शराब का बिलकुल भी सेवन ना करे क्योकि शराब आपके होने वाले बच्चे के लिए ठीक नहीं है, शराब शरीर में पानी की कमी लाती है जिससे भ्रुण अवरण द्रव की मात्रा कम हो जाती है इसलिये गर्भावस्था मे भरपुर मात्रा मे पानी पिये ताकि आने वाले समस्याओ से दूर रहे।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 5th month khatm hone wala h or muje white pani ki problem hui h 7 8dino se ? kiya ye problem h mere liye ..
उत्तर: सफेद पानी का योनि मार्ग से निकलना यह हमेशा रोग का लक्षण नहीं होता है सफेद पानी निकलना स्त्रियों में स्वाभाविक रूप से कुछ मात्रा में होता ह इसके लिए कोई उपचार कि आवश्यकता नहीं होती है महिलाओं में श्वेत प्रदर रोग आम बात है यह खुद को यह रोंग नहीं होता परंतु अन्य कई रोगों के कारण होता वेजाइनल डिस्चार्ज एक सामान्य और नियमित प्रक्रिया है हालांकि कुछ प्रकार के डिस्चार्ज ऐसे भी होते हैं जो संक्रमण का संकेत करते हैं वैजाइनल डिस्चार्ज असामान्य हो जाते हैं जब वह पीले या red चिपचिपे और खराब गंदे वाले होते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 2nd month h or mujhe white pani discharge ho ra h kya ye normal h
उत्तर: Hello dear.. प्रेगनेंसी में अगर वाइट डिस्चार्ज या सफेद पानी आए तो आप घबराएं नहीं . यह बहुत ही नॉर्मल है. यह शरीर की नेचुरल प्रोसेस है .जिसमें की योनि साफ और इन्फेक्शन फ्री होती है. यह पानी सर्वाइकल म्यूकस होता है जो गंधहीन होता है. is पानी में मृत कोशिकाएं होती हैं. प्रेगनेंसी में महिला का शरीर बहुत सारे बदलावों से गुजरता है जिसमें से एक क्या समस्या होती है जिसे वाइट डिस्चार्ज होना या सफेद पानी का निकलना कहते हैं. अगर यह समस्या बहुत ज्यादा बढ़ जाती है तो आप डॉक्टर से इस बात पर सलाह ले सकते हैं और आप ध्यान रखें कि आपके पेंटिंग गीली या गंदी ना रहे आप सफाई का बहुत ध्यान रखें. अपने गुप्तांगों को अच्छी तरह से साफ़ कर लें तथा उसे साफ़ सूती कपड़े से या टिशु पेपर से पोंछ कर योनि को सुखा लें. अच्छा होगा कि डॉक्टर के बताए हुए सोप से अपनी योनि को धोकर सुखालें. ऐसा दिन में कई बार करें.साफ़ सुखा और हलके फुल्के कॉटन के अंडरवियर ही पहनें और उन्हें समय समय पर बदलते रहें.सिल्क या नायलॉन के कपड़ों को बिल्कुल न पहनें और रात को सोते समय हल्के- फुल्के कपडे पहन कर सोयें.पैड्स (Pads) का उपयोग भी कर सकती हैं ताकि आपको कोई परेशानी न हो और आप comfortable महसूस करें.अपने गुप्तांगो पर खुशबूदार Artifical Creams, Sprays, Lotions पाउडर आदि का प्रयोग कभी भी न करें take care.
»सभी उत्तरों को पढ़ें