32 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mere हाथों में और पैरो में बहुत खुजली होरही है esa kyu होता है

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी होर्मोनेस की वजह से और अभी ठण्ड के मौसम में ड्राई स्किन की वजह से ऐसा हो सकता है. आप गुनगुने पानी से नहाने के बाद अच्छा मॉइस्चरीज़र या नारियल तेल लगाए. आपको राहत होगी. आप पानी में थोड़ा बेबी आयल डालकर भी नाहा सकते हो. सिर्फ २- ४ बून्द. तो बॉडी मॉइस्चराईस रहेगा और खुजली कम होगी.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे पैरो में सुजन रहता पर जब भी सुजन नही रहता तो हाथों की उगंलियों और पैरो में बहुत खुजली होती है plz कोई उपाय बताये
उत्तर: Sujan ke liye aapko khatti cheezen like nimbupani orjuice ko kam karna padega usse swelling jaldi hikhatam hogi
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे हाथों और पैरो में बहुत ज्यदा दर्द होता है और खास कर रात में तो बहुत ज्यदा होता जिसकी वजह से हम सो भी नही पाते ....
उत्तर: गर्भवस्था के दौरान बहुत साडी परेशानिओ से गुजरना पड़ता है उनमे से ये पैरो में दर्द प्रमुख समस्या है और ये दर्द रात में और बढ़ जाता है इस समय वजन बढ़ जाने के कारन पैरो में दर्द होता इससे आपका पुरे शरीर का वजन पैरो पर पड़ता है और पैरो में थकन होती है इस दौरान आपका गर्भाशय का आकर बढ़ जाता है जिसके कारन पैरो कि नसे डाब जाती है और वह तक ब्लड अच्छे से नहीं पहुँच पात इस दौरान आपके शरीर में मैग्नेसीउम्, पोतसीउम्, कैल्सियम कि कमी हो जाती है इससे कारन दर्द होता है दरद से रहतpane का सबसे अच्छा उपाय एक्सरसाइज है स्ट्रेचिंग करना आपको सुबह शाम लाभदायक होगा पईड़ो के दर्द से रहत paneके लिए आप रात में सोने से पहले हलके गरम पानी मी३०मिनट डूबकर रखे बहुत आराम मिलता है इस दौरान आप अपने पैरो को मोड़ कर ज्यादा देर नाबैथे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे हाथों और पैरो में बहुत दर्द है कोई सुझाव
उत्तर: हेलो डियर,,,आपको 34 वीक की preganeci है. प्रेगनेंसी में हार्मोन चेंजएस के कारण हाथ पैरों और शरीर में दर्द होना एक बहुत ही आम बात है इसलिए बिल्कुल भी परेशान ना हो हाथ पैर के दर्द को दूर करने के लिए आप गुनगुने सरसों तेल से हाथ पैर की हल्की मसाज करा सकते हैं इससे खून का संचरण बढ़ता है हाथ पैर दर्द में कमी आती है| गुनगुने पानी से नहाए गुनगुने पानी के नहाने से मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं और हाथ पैर दर्द में कमी आती है | हल्दी वाला दूध या गुनगुना दूध सोने के पहले पिए जिससे मांसपेशी रिलैक्स होकर आपको आराम पहुंचेगा ,घुटनों के पास तकिया रखकर सोएं, अत्यधिक हलचल ना करें ,शारीरिक श्रम के काम ना करें | संतुलित भोजन 10 से 12 क्लास पानी पीकर अपने आप को हाइड्रेट रखें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें