8 महीने का बच्चा

Question: Mere बेबी को फीवर हो गिया h .कोई घरेलु उपाय h to प्लीज btaye

1 Answers
सवाल
Answer: अगर आपके बच्चे को बुखार आ रहा है तो आप निम्न उपाय अपना सकती हैं-बच्चे को बुखार आने पर उसके सिर पर ठंडी पट्टी रखें गीले कपड़े से उसके पैर और हाथों को पोछे बेबी को गुनगुने पानी से ही नहलाएं। बेबी को अपना दूध पिलाते रहे उसे दीह्य्दृत ना होने दें ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ पीने के लिए दें।बच्चे के कमरे का तापमान सामान्य रखें।बच्चे को फुल बाजू के कपड़े ही पहनाएं ।एक मुट्ठी तुलसी को दो कप पानी में उबालें ।उबालने के बाद उसमें थोड़ी सी शक्कर डालें और बच्चे को दिन में दो से तीन बार पिलाएं।अगर इसके बाद भी बुखार ना जाए और उसे उल्टी दस्त आदि किसी भी प्रकार की कोई समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क कीजिए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere baby ko khansi ho gai h koi upay btaye
उत्तर: अभी आपका बच्चा ४ महीने का है. २ से ३ लहसुन की कली को आधा चम्मच अजवाइन क साथ पीस कर उसकी पोटली बना दे. और उसको बच्चे के सोने की जगा के बाजु में रखे , ऐसे रखे की उसकी स्मेल उसे आये पर वो उसको डायरेक्ट टच न हो. आप उसके सोने की जगा क आजु बाजु २- ४ ड्रॉप्स नीलगिरि आयल बी लगा सकते हो. उसकी स्मेल से भी उसे रlहत होगी. बच्चे को ज्यादा ब्रैस्ट फीडिंग करवाते रहे. अगर आपके बच्चे का नाक जम गया है तो आप डॉ के पास से नेसल ड्राप ले सकते हो. इससे भी बच्चे को काफी आराम होगा.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere baby ko fever ho gya h plzz upay btaye
उत्तर: आपकी बेबी 3 महीने की है इतने छोटे बच्चों को बुखार की प्रॉब्लम है तो इस बात को यूं ही जाने नहीं देना चाहिए सबसे पहले तो आप बेबी का बुखार चेक कीजिए कि बेबी को बुखार कितना है अगर 98 डिग्री तक है तो आप मेरी को रिलैक्स होने दे कभी-कभी तापमान बढ़ जाता है लेकिन जो कि सामान्य होता है लेकिन हंड्रेड डिग्री या उससे अधिक बुखार है तो आप बेबी को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं और बेबी की जांच कराएं ताकि बेबी को बुखार का कारण क्या है वह बिना जांच के बता पाना मुश्किल है इसके अलावा आप अपने मन से किसी भी प्रकार के घरेलू उपचार दवाइयां बेबी को बिल्कुल भी ना दें क्योंकि से बेबी को नुकसान पहुंच सकता है बेबी को बहुत अधिक दें और तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करेंl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mujhy losse motion lgy h plzz koi gralu upay btaye
उत्तर: प्रेगनेंसी के टाइम दीगेस्तीवे सिस्टम थोड़ा वीक हो जाता है और फ़ूड जल्दी डाइजेस्ट नही होता है। और अगर स्पाइसी, ऑयली फ़ूड खा ले तो प्रॉब्लम ज्यादा बढ़ जाती है। इसलिए लूज मोशन हो जाते है। जब तक लूज मोशन रहता है तब तक हल्का भोजन ही ले जैसे मूंग दाल खिचड़ी जो आसानी से हजाम होती है और साथ में दही जरुर ले। दलीय और ओट्स भी हल्का भोजन है ले सकती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें