9 महीने का बच्चा

Question: mere बेबी को दूध pite hue भोत पसीना आता है kyn

2 Answers
सवाल
Answer: कभी-कभी बच्चे के बहुत पसीना आने से मां को बहुत परेशानी झेलनी पड़ती है पसीना आना बहुतcommon होता है लेकिन बहुत ज्यादा पसीना आने का कुछ कारण होता है ज्यादातर बच्चे को सोने के टाइम ही बहुत पसीना आता है तो यह एक बहुत गंभीर समस्या हो सकती है ऐसे में बच्चे को सांस लेने में परेशानी होती है और कभी-कभी ज्यादा पसीना आने के कारण से हूं बहुत ज्यादा गहरी नींद में चले जाने से उसके उठने में बहुत परेशानी होती है कई बार बहुत ज्यादा पसीना आने के कारण बच्चे के हृदय में कोई परेशानी होने का भी संकेत दिलाता है ऐसे में बेबी को ज्यादा उड़ाकर ना सुलाएं उसे भी जितना ही गर्व महसूस होगा उसको उतना ही पसीना आएगा बच्चे को भी उतना ही गर्मी लगता है जितना की मां को कभी-कभी बच्चे के शरीर में विटामिन डी 3 की कमी होने की वजह से भी बहुत पसीना आता है इसके लिए आप बच्चे को रोज धूप में थोड़ी देर खिलाएं बच्चे के शरीर में पानी की कमी ना होने दें अगर आपको कुछ परेशानी लग रही होगी तो उस टाइम आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि बच्चों का बहुत पसीना आना मुसीबत लाता है लेकिन अगर ऐसे नॉर्मल ही पसीना आ रहे होंगे तो आप घबराइए नहीं आप अपने रूम का टेंपरेचर सामान्य रखें
Answer: hello फीडिंग के दौरान बच्चे को पसीना आना स्वाभाविक है। क्योंकि फीडिंग कराने के दौरान आप और आपका बच्चा काफी करीब होते हैं। त्वचा-से-त्वचा संपर्क उसके शरीर के तापमान को बढ़ा देता है। शरीर के तापमान को कम करने के लिए बच्चे के शरीर से पसीना आना शुरू हो जाता है। इसका एक अन्य कारण यह है कि, क्‍योंकि बच्चे को दूध चूसने के लिए बहुत सारी ऊर्जा डालनी पड़ती है, ऐसे में बच्चे को फीडिंगके दौरान पसीना आता है। जैसे हम व्यायाम करते हैं, तो हमें पसीना आने लगता है। इसी तरह जब बच्चा दूध पीने की कोशिश करता है तो उस दौरान वह अपने जबड़े को चलाता है, तो यह बच्चे का व्यायाम होता है और जिससे उसे पसीना आने लगता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी को बहुत पसीना आता है सोते पर बहुत पसीना आता है बाल भी जाता है उसके पूरे
उत्तर: हेलो डियर ,बच्चो में पसीना आना बहोत आम बात है |ऐसा उनके शरीर में अधिक गर्मी पैदा होने के कारण होता है। पसीने के रूप में शरीर की गर्मी निकल जाती है।शुरुवाती दिनों में बच्चे की पसीना पैदा करने वाली ग्रन्थियाँ सिर्फ सर में सक्रिय रहती हैं। धीरे-धीरे वे शरीर के अन्य हिस्सों में भी विक्सित होकर सक्रिय रूप से काम करने लगती हैं। पसीने की ग्रंथियों की संख्या एक वयस्क के बदन में एक समान रहती है। नई ग्रंथियाँ पैदा होना बंद हो जाती हैं। अगर आपका बच्चा पसीना बहाता है तो यह उसकी अच्छी सेहत और मस्तिष्क के स्वास्थ्य की निशानी है।एक नवजात बच्चे की हार्ट-बीट यानि हृदयगति 130 बीट्स प्रति मिनट होती है। जबकी एक वयस्क की हार्ट-बीट 70-80 बीट्स प्रति मिनट होती है। एक बच्चे की चहल-पहल भी वयस्क के मुकाबले ज़्यादा होती है। इस कारण उनमें अधिक पसीना पैदा होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेबी के पसीना bahut आता है की उसके पसीना को कसें कन्‍ट्रोल करे
उत्तर: हेलो डिअर बेबीज की बॉडी एडल्ट की तुलना में ज्यादा गरम होती ह और बेबीज को पसीना भी ज्यादा होती ह | बेबी अपनी बॉडी का तापमान रेगुलेट नही कर पाते है जिससे बॉडी गरम रहती है। और बेबी को पसीना होता है बेबी को हलके कपड़े पहनाए और रूम का टेम्परेचर नार्मल रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मरें बेबी को पसीना जयदा आता हें
उत्तर: apKE bABY KI DWA CHAL RAHI HAI KYA JISKEKARAN VO मेडिसन leta hai
»सभी उत्तरों को पढ़ें