23 weeks pregnant mother

Question: mera 22 week 5 days chal rha h mera bp 130/92 h or mere डॉक्टर ne mujhe kha ki mera bp jada h agee or badega or meri height v bht kam h 5"1 itna .. dr bole ki mera EDD date se pehle hi delivery karenge mtlb june 24 diya tha lekin may me 1 week me hi krenge esa kiu pls mujhe bataiye me kya karu mera first baby h ye

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप का बीपी बढ़ा हुआ है इसलिए डॉक्टर ने आपको शायद इस तरह का सजेशन दिया है क्योंकि बीपी बड़ा होने के कारण आपके बेबी को अंदर खतरा हो सकता है इसलिए उन्होंने कहा होगा कि आपके डिलीवरी पहले कर देंगे आप अपना बीपी कंट्रोल करने के लिए कुछ घरेलू टिप्स यूज़ करें जिससे आपका बीपी शायद कंट्रोल हो जाए ... *आप खाने मे नमक की मात्रा काम कर दें .. ऊपर से नामक बिल्कुल भि ना लें .... * टहलनें से कई स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्यायें दूर हो सकती हैं, खासतौर से उच्च रक्तचाप। जब आप टहलें तो गहरी साँस लेकर छोड़ें। छोटे-छोटे कदम लें और सकारात्मक चीजें सोचें जिससे कि आपका उच्च रक्तचाप कम हो जायेगा..... * लहसुन धमनियों की थकान को कम करता है, हृदय के दर को नियन्त्रित करता है और धड़कन को कम करता है जिससे कि रक्तचाप कम हो जाता है..... * सोयाबीन, अखरोट, अलसी तथा पालक जैसी गहरे हरे रंग वाली पत्तेदार सब्जियों से प्राप्त की जा सकती हैं.... * दिन भर में पर्याप्त मात्रा में तरल लेने की आदत डालें क्योंकि रक्तचाप कम करने के लिये यह सबसे अच्छी आदत है.... * aap kisi kam mei apna man lagaye rakhe....accha music bhi sune esse ...सभी प्रकार के तनाव तथा चिन्ता से ध्यान भटकाने में सहायक होते हैं.... ओके
Answer: हेलों आपका बी.पी. 90/ 130 है जो हाइ है पर आप अभी से कोशिश करेंगी तो इसे कंट्रोल किया जा सकता है आपकी हाइट 5'1 है जो बहुत कम नही है आप इसके लिए स्ट्रेस ना ले आपकी ड्यू डेट 24 जुन है पर डॉक्टर मई के 1st वीक में ही डिलिवरी के लिए बोल रहें है क्या आपको या बेबी को कोई हेल्थ कॉम्प्लिकेशन है बी.पी. बहुत ज़्यादा होने पर जल्दी डिलिवरी की जा सकती है लेकिन ज़रूरी नही है कि उस समय आपका बी.पी. बहुत हाइ हो आप घबराये नही और मेरी सलाह है कि एक बार किसी और डॉक्टर से भी सलाह ले ले क्योकी 1.5 महीने पहले डिलिवरी डॉक्टर क्यों बोल रही है ये जानना ज़रूरी है .हाई बीपी होने पर गर्भवती महिला को अपना बीपी समय-समय पर चेक करवाते रहना चाहिए और डॉक्टर की सलाह से दवाइयां लेनी चाहिए | हाई बीपी की समस्या हो तो  नमक का इस्तेमाल कम करना चाहिए दिन भर में कोशिश कीजिए कि 10 से 12 गिलास पानी जरूर भी है पिए साथ ही खाने में अखरोट पालक बींस पत्तेदार सब्जियां खाएं इससे भी आपका बीपी कंट्रोल में रहेगा ,सब्जियों का जूस और फलों का जूस अपने डायट में जरूर शामिल करें साथ ही हर दिन वॉक करें वॉक करते समय गहरी सांस लें और गहरी सांस छोड़ें , अपने सोच पॉजिटिव रखें पॉजिटिव सोचने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere do ultrasound hue h pehle me edd 20 dec ki thi or dusre me 23 ki esa kyu mujhe kiske accourding chlna chahiye
उत्तर: .aapko last bar jo krvaya usi ke according chalna chahiye or jb labur pain hoga tb vo dateayne nhi rakhti vo to expacted date hoti hao taki hme pta chal ske ki delivery is date ke aas pas hogi aapko aapki LMP13 april h kya
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam mera edd sonography me 31 ko diya h aur meko abbhi koi pain n ho रह h bt dctr bole h ki pain n hua to 1 ko admit hone bole h .. ky meko दिन tk wait krna chahiye ya admit हो jana chahiye pls मेको btaye
उत्तर: hello....अधिकांश शिशु गर्भावस्था के 37वें सप्ताह और 41वें सप्ताह केबीच जन्म ले लेते हैं..... शिशु का जन्म अक्सर उनके जन्म की अनुमानित तिथि के एक सप्ताह पहले या एक सप्ताह बाद हो ही जाता है...यदि गर्भ में जुड़वां या इससे अधिक शिशु हों, तो वे इस अवधि से पहले ही जन्म ले सकते हैं.. आप बिल्कुल भि ना घबराये ... आप अपने डॉक्टर से भी बात कर सकती है ...आपको नैचुरल पेन होना ही अच्छा है आप एक हफ़्ते का इन्तज़ार कर सकती है . यदि टॅब तक पेन नही होगा तों आप डॉक्टर से इंजेक्शन ले सकती है ओके . ऑल द बेस्ट डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 9th month start hua h or 8th month se hi mere left leg me pain rhta h itna pain hota h ki ansu aa jate h...or sath me vegina me b pain hai...karwat lete time to bhut dard hota...legs pain me jb tak sikai na karu to dard kam nhi hota...esa kiu ho rha...
उत्तर: हेलो जब बच्चा पूरी तरह मैच्योर हो जाता है और उसका वजन अच्छे से बढ़ जाता है तो यह परेशानी आती ही है। आप सोते समय एक ही करवट पर ज्यादा देर ना सोए धीरे-धीरे आराम से करवट बदले करवट लेकर सोए तो पीछे कमर में तकिया लगा ले। पैरों के नीचे भी तकिया लगाकर पैरों को थोड़ा ऊपर उठा कर सोये। सोने। से पहले गुनगुना केसर दूध जरूर पिए। आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें