38 weeks pregnant mother

Question: mera 37 week chal raha h aaj subha se pit me bahut dard ho raha h koi uppay bataye mera Hb 8.6 h

सवाल
Answer: गर्भ में मांसपेशियों और जोड़ों नसो और हड्डियों पर ग गर्भ में पल रहे बच्चे द्वारा पढ़ने वाले दबाव के कारण दर्द उत्पन्न होता है।इसका असर आसपास के क्षेत्रों पर भी पड़ता है।जब भी आप हिलती-डुलती या चलती है तो आपके शरीर में कभी किसी कभी किसी तो कभी दोनों और दर्द महसूस होता है।पेट दरद की स्थिति में आप थोड़ी देर बैठ जाएं आराम करें और जिस और दर्द हो रहा है उस के दूसरीऔर करवट लेकर लेट जाएं दर्द से राहत के लिए हल्के गुनगुने पानी से नहाएं।शरीर के किस अंग में दर्द हो रहा हो वहां पानी की गर्म पैकेट या फिर गेहूं की छोटी पोटली बनाकर गर्म करके सिकाई करें या फिर आप गर्म पानी की बोतल का भी इस्तेमाल करें कई बार इस अवस्था में सेक्स करने पर भी दर्द व मरोड़ महसूस हो सकता है दर्द अगर असहनीय ज्यादा असहजता महसूस हो रही हो या कोई स्त्आव अधिक हो रही हो तो तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें।बिना डाक्टरी सलाह के कोई भी मेडिसीन न लें। गर्भावस्था मे़ अक्सर हिमोग्लोबिन कम हो जाती है इसमें घबराने वाली कोई बात नही। हिमोग्लोबिन 11 से 14 के बिच होना चाहीये । अगर हिमोग्लोबिन कम है तो खान पान पर सही ध्यान देने से हिमोग्लोबिन बढा़या जा सकता है। गर्भावस्था में खुन बढ़ाने के उपाय ----(1)गाजर-चुकंदर का जूस व सलाद खून की कमी को पूरा करते हैं। रोज गाजर और चुकन्दर का रस पीएं। इससे खून की कमी ठीक हो जाती है। गाजर का मुरब्बा भी ले सकती हैं। (2)-खून की कमी होने पर टमाटर और टमाटर का जूस भी ले सकते हैं। (3) खून की कमी पूरी करने के लिए 10 से 12 खजूर के साथ 1 गिलास गर्म दूध पीएं। (4)गर्भावस्था के दौरान गुड भी खून की कमी पूरी हो जाती है। (5)रोजाना एक आंवले के मुरब्बा एक गिलास दूध केसाथ लेना चाहिए।  Take care
Answer: अगर आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है और दर्द हल्का हल्का है तो ऐसा होना नॉर्मल है लेकिन आपको कभी ऐसा लगे कि आपका पेट दर्द बढ़ रहा है तो आप देर ना करें और डॉक्टर से मिले प्रेगनेंसी में ज्यादा वजन उठाने वाला काम या कोई ऐसा काम जिसमें आपको थकावट ज्यादा लग गई तब पेट में दर्द बढ़ सकता है इसलिए आप ज्यादा भारी काम या ज्यादा झुकने वाले काम ना करें सोने की पोजिशन भी ऐसे रखें जिससे आपको पीठ और पेट में दर्द कम हो जैसे कि आप left सोए ,पीठ के बल सोने से आपकी यह तकलीफ बढ़ सकती है कोशिश करें कि ज्यादा देर खड़ी भी ना रहे एक ही पोजीशन में ना बैठे , अपनी पोजीशन बदलते रहे साथ ही अगर आप हील वाली चप्पल या सैंडल पहनती हैं तो अवॉयड करें जब भी आप सो कर उठे तो एकदम से ना उठे हैं पहले करवट ले फिर उठे हैं. अपना ध्यान रखें अपने खाने-पीने का ध्यान रखें. प्रेगनेन्सी मे एच.बी. की मात्रा सही होना बहुत ज़रूरी है , बहुत सी महिलाओ को खुन की कमी हो जाती है प्रेगनेन्सी मे , आप चिन्ता ना करे , खान पान मे धयान दे , शरीर मे खुन बढ़ेगा . गाजर-चुकंदर का जूस व सलाद खून की कमी को पूरा करते हैं, रोजाना गाजर और आधा गिलास चुकन्दर का रस मिलाकर पीएं, इसका सेवन करने से महिला के शरीर में खून की कमी की समस्या ठीक हो जाती है, अनार , कीवी, ऐपल ये शाब अपने डायट मे शामिल करे खून की कमी होने पर टमाटर का सेवन ज्यादा करें,आप टमाटर का जूस भी ले सकते हैं यह जूस धीरे-धीरे खून की कमी को पूरा कर देते हैं साथ हि डॉक्टर द्वारा बताई गेय सारे मेडिसिन आप समय पर लें .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mere pit me bahut dard ho raha hai achanak se
उत्तर: हेलो डियर डिलीवरी होने के बाद में एक महिला को नार्मल होने मे वक्त लग जाता है तो मैं आपको यह बताना चाहूंगी कि अगर आप की नॉर्मल डिलीवरी है तो आप अपने को थोड़ा जल्दी रिकवर कर सकते हैं लेकिन अगर आपकी सर्जरी डिलीवरी है तो सिर्फ आपके टांको को ही ठीक होने में लगभग 6 महीने लग जाते हैं और आप तब तक कोई एक्सरसाइज या डाइटिंग नहीं कर सकती जब तक कि आपका डॉक्टर आपको सजेस्ट ना करें इस douran आपको अपने लेटने के तरीके में बदलाव लाना होगा आपको एक तरफा करवट ना सोने की बजाय करवट को बदलते रहना चाहिए आपकी back बोन की समस्या कम होगी साथ ही साथ आप कमर को गरम कपड़े से सेके आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: good morning mam mere right side brest me babhut dard ho raha h raat se koi uppay bataye aisa kue ho raha h
उत्तर: गर्भावस्था में स्तनों में खिंचाव के कारन खुजली और दरद होता है।ऐसा होने का कारन स्तनों मे दूग्ध ग्रंथीयों का बढ़ना होता है जिससे स्तन आकार में बढ़ने लगता है गर्भावस्था में स्तनों में दरद और खुजली सामान्य है। कई बार प्रेग्‍नेंसी के दौरान स्‍तनों में सूजन होने लगती है। इस समय स्तन जादा संवेदनशील भी हो जाते हैं जिसमें तनाव के कारन दरद और खुजली चालू होता है। दरद को कम करने के लिये कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं। पानी अधिक से अधिक पिना है इससे आपको कुछ राहत होगी हल्के गुनगुने तेल से स्तनों के हल्के हाथों से मालिश करें आप स्तनों के दर्द और खुजली और दरद से राहत पाने के लिए ठंडे और गर्म पैक का भी उपयोग कर सकते हैं जिससे आप को राहत मिलेगा। आप नारियल तेल में कपुर डालकर भी युज कर सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe saas lene me bahut problom hoti h koi uppay bataye mera kal 9month pura ho chuka h
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान सांस लेने की समस्या किसी भी महिला को हो सकती है लेकिन ऐसा होना एकदम सामान्य बात भी नहीं है और यह समस्या डिलीवरी के बाद अपने आप ही खत्म हो जाती हैl,सांस लेने की समस्या बहुत सारे कारणों से हो सकता है प्रेगनेंसी के दौरान प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल बढ़ जाने की वजह से यह शासन तंत्र को प्रभावित करता है और यहां ब्रेन के उस भाग को प्रभावित करता है जो श्वसन तंत्र को कंट्रोल करके रखता है इस कारण हमें सफोकेशन होने लगता है क्योंकि इस दौरान शरीर में ऑक्सीजन की maang काफी ज्यादा बढ़ जाने की वजह से सफोकेशन होने लगता है गर्भावस्था के दौरान शरीर में खून 50% तक बढ़ जाता है इसलिए दिल को खून को pump करने के लिए काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसके कारण भी हमें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और गर्भावस्था के लास्ट महीनों में बच्चा के आकार में वृद्धि होने के कारण वहां फेफड़ों में दबाव डालता है जिसके कारण फेफड़ों को फैलने में दिक्कत होती है जिसके कारण हमें सांस लेने में बहुत तकलीफ होने लगती है इसके लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं जैसे आपको हमेशा उठते-बैठते सोते समय अपने पोजीशन या स्थिति का ध्यान रखना होगा ताकि आपको सांस लेने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो सांस लेने की समस्या या सफोकेशन होने से बच्चे को किसी प्रकार का कोई effectनहीं होता यह एकदम नॉर्मल है इस से maa aur बच्चों को किसी प्रकार का कोई इफेक्ट नहीं होता
»सभी उत्तरों को पढ़ें