30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 7 va month chalu he..meri kamber aur pairr bhot dukhte he..jyada der kam karne par to me apni kamber ko utha bhi nahi sakti.. kamber aur pair me lachkila pan ata hai... aisa kyu hota hai

7 Answers
सवाल
Answer: कमर मे दरद होना तो सभी गभवती स्त्रियो के लिए सामान्य सी बात है क्योकि इसी समय मे मासपेसियो मे बहोत खिचाव होता है और हमारे शरीर का हामोनस भी बदलता है इसके राहत के लिए आप घूटनो मे तकिया लगाकर सोए व्यायाम करे। मगर ध्यान रखे कि जादा व्यायाम नही करे । कमर की हल्के हाथो से मालिस करे। एक ही स्थित मे जादा देर रहने से बचे पेट में बेबी होने के वजह से पूरा भार पैर पे ही पड़ता है इसलिए पैर में दर्द होता है आप पैर में गुनगुने तेल से मलीस करें ऑर उनचि हिल के सेन्दिल ना पहनें सिम्पल फ्लैट्स स्लीपर पहनें इस्से आपके पैरों ऑर एड़ियों को आराम मिलेगा व्यायाम करें ऑर मॉर्निंग वाक करें सोते टाइम पैर में तकिया लगाकर सोएं इसे आपको दर्द में कुछ आराम मिलेगा
Answer: ये प्रेगैन्सी मे बेबी का वेट badta है इसलिए कमर और पेर दरद करते है जायदा देर खड़े मत रहिए और जब लेटे तब पिलो पैरो के नीचे रखें और पैरो की और कमर की गरम तेल से मालिश करे और हलके गुनगुने पानी में नमक डाल कर पैरो को उसमें रखें आराम मिलेगा
Answer: ऐसा hormones और बेबी के बदते size की वजह से होता हैं . आप आपने डॉक्टर से पूँछ कर calcium और iron ले सकती हैं .
Answer: jab me soti hu to karvat badli nahi jati mujse.. apni kamber ko utha nahi pati me.. bahot dard hota he
Answer: blood ki kami hao weakness hai aapko iron se related meal le dudh to bahut jaruri h aapko
Answer: jyada kam na kre or rest kre n kch khane pine k bad walking jrur kre
Answer: आप अची डायट ले ऑर एक साथ लंबे समय तक काम ना krei
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 8 month satrt huva hai par mai soneke bad side nahi badal pati mere pair me aur privet part mai bhot paining hoti hai baya pair hila nahi pati aisa kyu ho raha hai
उत्तर: hello जैसे-जैसे प्रेगनेंसी का समय आगे बढ़ते जाता है बच्चे का भार बढ़ता है और उसका दबाव शरीर के निचले अंगों पर पड़ता है जिसके कारण दर्द होती है गलत पोजिशन पर सोने बैठने से ज्यादा देर तक खड़े रहने से या थकावट वाले कोई काम करने से हिप्स पर रक्त संचार बढ़ जाता है जिसके कारण निचले अंगो जैसे पैर कमर और कूल्हों पर दर्द होता है। इससे बचने के लिए आप सोने के दौरान अपने पेट के नीचे और पैरों के बीच में एक तकिया जरूर रखें। इससे बॉडी की पॉजिशन सही रहती है जिससे पेल्विक और साइटिका नर्वस पर कम प्रेशर पड़ता है। एक पेल्विक को स्‍पोर्ट करने वाली बेल्‍ट पहनें जिससे आपके पीठ के नीचे के हिस्‍से पर प्रेशर कम होगा और हिप्‍स और पैर में दर्द से कम हो जाता है। गुनगुने पानी से नहाना किसी भी दर्द से छुटकारा पाने का सबसे अच्‍छा इलाज है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere hath aur pair me bahot jaldi hi chitiya ati rahti he aisa kyu hota he
उत्तर: कैल्शियम की कमी के कारण कैल्शियम टैबलेट खाइए और सोते टाइम सरसों के गर्म तेल से मालिश कीजिए और पैरो के तलवों में मालिश कीजिए अच्छा फील hoga
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 4-5 din ho gaye mere haat pair aur shoulder dard karne lage hai aur pair ke talve bhi jyada dard karte hai.. aisa kyu ho raha hai???
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान शरीर के विभिन्न अंगों में दर्द महसूस करना आम बात होती है क्योंकि बच्चे के विकास के साथ-साथ शरीर में भी बहुत सारे बदलाव होते हैं बच्चे का विकास के साथ-साथ आपके शरीर का वजन भी बढ़ेगा जिसके कारण पूरे शरीर के मसल्स और ligamentमें भी प्रभाव पड़ते हैं इसके वजह से शरीर में दर्द होता है। यह दर्द आपको ज्यादातर पीठ में कमर में हाथ पैरों में कहीं पर भी महसूस हो सकता है लेकिन सबसे ज्यादा जरूरी बात यह होती है कि आपको samanya दर्द और तेज दर्द में अंतर करना आनी चाहिए क्योंकि इसमें अंतर करना बहुत जरूरी होता है। और यदि आपको सामान्य दर्द होता है तो इसके लिए आप कुछ ना करें आपको डेली एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ है तो क्योंकि एक्सरसाइज करने से मसल्स मजबूत होते हैं और इसके वजह से आपको दर्द भी कम सहना पड़ेगा और ज्यादा अच्छा है कि आप अपने खानपान में पौष्टिक आहार ही लें और संतुलित आहार लें ताकि आपका वजन भी जाना ना पड़े पौष्टिक आहार लेने से आपके बच्चे का भी विकास अच्छे से होता है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें