18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 4 th month chal raha h aur mujhe shardi hui h kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: । हेलो प्रेगनेंसी के दौरान सर्दी होने पर बिना सोचे समझे कुछ भी दवाइयां ना लें। मां के सर्दी होने से बच्चे को कोई फर्क नहीं पड़ता बल्कि सर्दी के लिए ली जाने वाली मेडिसिन से बच्चे को परेशानी होती है आप तुलसी काली मिर्च वाली चाय ले। गुनगुने दूध में थोड़ा सा हल्दी डालकर पिए तुलसी के रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर चाटने से आपको सर्दी में आराम मिलेगा गर्म पानी में नमक डालकर गरारे करें गले के दर्द और दांत के दर्द में आराम मिलेगा। सादे पानी की भाप ले नाक खुलेगा सिर दर्द के लिए नीलगिरी के तेल को रूई के फाहे में लेकर सुघे और माथे पर लगाएं इससे आपको सिर दर्द में काफी राहत मिलेगी। टमाटर सूप के अलावा कोई भी गरमा गरम सुप ले अगर नॉन वेजिटेरियन है तो चिकन सूप पीने में बहुत आराम मिलेगा गुनगुने पानी में नमक डालकर नहाए। नहाने से पहले पूरे शरीर पर सरसों तेल लगा ले आराम मिलेगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 8 manth chal raha h mujhe bukhar aur sardi ho gaya h mai kya karu
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान fever होना कोई सामान्य बात नहीं है देखिए आप भरपूर मात्रा में पानी पीकर और आराम करके आप अपने बुखार का उपचार कर सकते हैं प्रेगनेंसी में शरीर का तापमान बहुत ज्यादा high नहीं चाहिए कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें अगर डॉक्टर को बुखार का कारण स्पष्ट नहीं हो पाएगा तो आपसे कुछ टेस्ट कराने के लिए कह सकते हैं अपने मन से कोई भी मेडिसिन ना लें गुड मॉर्निंग मैम आप इस गर्भावस्था के दौरान घरेलू उपचार करें तो ज्यादा बेहतर होगा आप हर्बल चाय या गर्म पानी और नींबू के साथ शहद के दो चम्मच मिलाकर आपको काफी आराम होगा आप नमक और पानी के साथ गरारे करें पानी गर्म है यह आपके कफ को काफी हद तक बाहर निकालने में मदद कर सकता है स्टीम भी ले सकते हैं कफ को तुरंत ढीला करने में मदद करती है आप गर्म दूध में हल्दी डालकर पी सकते हैं उससे भी आपको बलगम में काफी आराम मिलेगा गर्म सूप इसमें आपको खांसी खांसी से राहत मिलेगी इसमें मौजूद प्याज लहसुन अदरक और काली में जैसे मसालेदार पदार्थ आपके गले को काफी आराम पहुंचाएंगे सूखी अदरक और काली मिर्च का मिश्रा चुरा एक अच्छी औषधि है आप इसमें मिश्री भी डाल सकती हैं आपको अपनी जीभ पर इससे जुड़े जुड़े को केवल एक छोटी चुटकी लगाने की जरूरत है इससे आपको काफी आराम मिल जाएगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera abhi 6 tha month chal rhahe.muje khanshi aur shardi hui he to kya krna.chahiye?
उत्तर: आप घबराय नहीं, १)आप जुकाम के लिए तुलसी अदरक का रस, अदरक का रस एवं शहद मिलकर उसका सेवन कर सकती है। २)आप भाप लीजिए उससे आपके सीने में कफ नहीं जामग। ३)आप सरसो के तेल में कुछ कलिया लहसुन की डालकर उसे गर्म करके फिर ठंडा करके गले एवं सीने में मालिश कर सकती है। इस तेल को आप अपने पैरो के तलवो में भी लगा सकती है। ४)आप नारयल तेल में एक टुकड़ा कपूर का डाल के उसे सीने में massage के लिए use कर सकती है। Agar ज्यादा परेशानी हो to डॉक्टर ko jarur दिखाए.. Aap गले में दर्द के लिए हल्के गर्म पानी में चुटकी भर नमक डालकर उसे अच्छे से गरारा कीजिए इससे आपको गले के दर्द में आराम मिलेगा। आप पीने में गर्म पानी का इस्तेमाल कीजिए गर्म पानी बहुत ज्यादा खोलता हुआ तेज गर्म नहीं होना चाहिए हल्का गर्म होना चाहिए जिससे आप को गले को आराम मिलेगा खांसी में भी आराम मिलेगा। आप खांसी के लिए bhap ले सकती हैं इससे आपके छाती में कफ नहीं जमेगा और आपको खांसी में आराम मिलेगा। आप एक छोटा टुकड़ा अदरक का चबा सकती हैं जिससे आपको खांसी में आराम मिलेगा इसे ज्यादा नहीं लीजिए एक दम छोटा टुकड़ा चबाना है। अगर आपको ज्यादा खांसी आ रही है तो आप डॉक्टर के पास जाकर अपना गला भी चेक करवा सकती हैं जिससे वह आपको देखकर symptoms के अनुसार ज्यादा सही सलाह देंगे।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 35 week chal raha h aur mujhe vomating ho raha h mai kya karu
उत्तर: हैलो डियर----गर्भावस्था में उल्टी मीतली और जी घबराना बहुत आम समस्या है। और यह शुरूवात से लेकर पूरे प्रेगनेंसी तक भी रह सकती है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं छोटे-छोटे घरेलू उपाय द्वारा आप उल्टी से राहत पा सकती हैं उल्टी होने से शरीर में पानी की कमी होने की संभावना हो सकती है।ईसलिये अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए ।एक दिन में कम से कम 8 से 10 गीलास पानी पीना चाहिए । सुबह सुबह जुस भी पीने से उल्टी से राहत मीलती है। ैजसे पूरे दिन कुछ न कुछ खाते रहना जो आपको पसंद हो वही खाऐं जो आपको पसंद न हो वह न खायें अक्सर जो चीजें पसंद न हो उन चीजों को खाने से भी मीतली और उल्टी की परेशानी होती है।अदरक वाली चाय नारीयल पानी जुस का सेवन करने से अक्सर उल्टी मितली से राहत मिलती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें