7 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Mera test positive hai,lekin muze piles ki pareshani jyada ho rhi hai me kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो मैडम ..बवासीर की समस्या होने से नॉर्मल डिलीवरी में कोई भी तकलीफ आपको नहीं होगी बवासीर की समस्या को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू टिप्स यूज कर सकती हैं....छाछ बवासीर के इलाज का एक बेहतरीन विकल्प है। एक चौथाई अजवाइन का पाउडर और 1 ग्राम काला नमक 1 गिलास छाछ में मिश्रित करें। रोजाना दोपहर का खाना खाने के बाद एक गिलास छाछ का सेवन करें। इससे आपको बवासीर की समस्या से काफी आराम मिलेगा... अगर तकलीफ़ जयदा हो तों डॉक्टर को बताये . टेक केयर डियर
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mam Muze 6 month sas leneme bahot pareshani ho rhi hai mai kya Kru vatate.
उत्तर: प्रेग्नन्सी में सांस लेटे हुए दिक्कत(शोर्टनेस ऑफ़ ब्रेथ)बहुत कॉमन है। प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में बहुत से चंगेस होते हैं उनमे से एक है हारमोनल चंगेस। प्रेगनेंसी टाइम प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इस्सके लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मे बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी में सांस लेने मे प्रॉब्लम होती ह। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मे आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने म बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मे दिक्कत होती है। babyके वेट की वजह से आपके लंग्स पर प्रेशर पड़ता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मे प्रॉब्लम होती है। बाबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मे प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले कैसे कण्ट्रोल करें उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मे प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तोह आपकी सांस फूल रही है तोह आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग ेट्स।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muze piles ki pareshani ho gai hai or blood bhi jata hai ky kru
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान आम तौर पर महिलाओं को पाइल्स की प्रॉब्लम हो जाती है क्योंकि इन दिनों बेबी के पेट में आ जाने से साइकिल बिगड़ जाती है इस वजह से कॉन्स्टिपेशन हो जाता है जो कि आगे चलकर पाइल्स का रूप ले लेता है टॉयलेट के टाइम पर ब्लड आना ब्लीडिंग पाइल्स कहलाता है आप पाइल्स से अपना बचाव कर सकती हैं कुछ उपाय करके लिक्विड डाइट लें गर्भावस्था में कम से कम 10 गिलास पानी नियमित रूप से पिए फाइबर युक्त आहार लें आप योग व स्टिचिंग भी कर सकती हैं सांस संबंधी योग और एक्सरसाइज करने से भी राहत मिलेगी आप केगेल एक्सरसाइज भी कर सकती हैं ऐसे करने से काफी लाभ होगा क्योंकि एक्सरसाइज ब्लड सरकुलेशन को ठीक करता है पेट में बच्चे की स्थिति अगर सही ना हो तो भी कॉन्स्टिपेशन की प्रॉब्लम होती है एक ही समय में ज्यादा देर के लिए नहीं खड़े रहना चाहिए ना लेटे रहना चाहिए ना बैठे रहना चाहिए थोड़ा टहलने चलना फिरना और लेटना आरामदायक होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें