Question: mera 7 mnth chl rha h nrml delievery के liye kya kru or kya nhi kru

1 Answers
सवाल
Answer: नारमल डिलवरी के लीये उपाय--- 1)गर्भावस्था में सबसे अच्छा टहलना होता है सुबह शाम वॉक करने से नॉर्मल डिलीवरी होने में सहायता होती है 2) नॉर्मल डिलीवरी के लिए पर्याप्त नींद लेना बहुत जरूरी होता है सोने से 2 घंटे पहले चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक नही लेना चाहीये । 3) गर्भावस्था में सबसे आवश्यक है कि आप तनावमुक्त और खुश रहें 4) गर्भावस्था में पानी की कमी ना हो इसलिए आपको रोज कम से कम 8 से 10 गीलास पानी पीना चाहिए 5) डायट में आपको अक्सर खान-पान का असर डिलीवरी के समय पर पड़ता है इसलिए डाइट में आयरन और कैल्शियम से भरपूर भोजन जैसे हरी सब्जियां अंडे फल ड्रायफ्रूट और अधिक से आधिक पानी और लिक्विड आदि लेना चाहीये
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 7 month chl rha h or meri साँस jyada fulti h iske liye me kya kru plz reply
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये ७५% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। सांस फुल्ने के कारण प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 6th mnth chl rha h or mere sr m dard rh rha h iske liye mai kya kru
उत्तर: हेलों आप 6 महीने प्रेगनेंट है आपको सर दर्द होता है आप बाम लगा कर एक अच्छी नीन्द लें थकान वाले काम ना करे आपको राहत मिलेगी सर दर्द के kai कारण हों सकते है गर्भावस्था में हार्मोनल परिवर्तन और रक्त की मात्रा में वृद्धि के कारण लगातार सिरदर्द हो सकता हैlआपके ब्लड प्रेशर में गड़बड़ी की वजह से सिरदर्द हो सकता hai.थकान, भूख, एक्सरसाइज की कमी, डिहाइड्रेशन आदि के कारण भी सिरदर्द हो सकता है।pani ki kami के कारण भी आप अपनी गर्दन के पिछले हिस्से के आसपास दर्द महसूस कर सकती हैं, जो सिरदर्द का बहुत बड़ा कारण होता है।आप cafiine जैसे चाय कॉफ़ी पीना अचानक बन्द कर दे तो सर दर्द हो सकता है . आप ठंडे पानी से नहाये प्रॉपर रेस्ट करे भूखे बिल्कुल भी ना रहें थोड़े थोड़े देर में कुछ ना कुछ खेते रहें .पानी भरपूर पीये दिन में 10 से 12 ग्लास पानी पिएं साथ ही तरल पेय नारियल पानी छाछ ज्यूस पीये . आप सर दर्द होने पर kandhe और बैक की मालिश कर सकती है आपको अच्छा लगेगा आप हेड masaage करे ब्लड सर्कुलेशन हाॅन से आपको राहत मिलेगी . स्ट्रेस ना ले तनाव कम करे ज़्यादा ना सोचें स्ट्रेस के कारण भी सर दर्द होते है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera 7 month chl rha h or mera bp high chl rha h mai kya kru
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था के दौरान ब्लड प्रेशर बढ़ने पर आप कुछ सावधानियां रखने की आवश्यकता होती है गर्भावस्था के दौरान हाई बीपी की स्थिति में आपको अधिक से अधिक आराम करना चाहिए भोजन में नमक की मात्रा कम ले नमक की जगह आप सेंधा नमक का उपयोग कर सकते हैं इस स्थिति में आपको मलाईदार दूध मक्खन की तेज मसाले तेल नानवेज फास्ट फूड डिब्बाबंद खाना आदि नहीं लेना चाहिए गर्भवती महिलाओं को सूरजमुखी के तेल का प्रयोग करना चाहिए भोजन में फल और सब्जियों की मात्रा अधिक लें सब्जियों में पालक गोभी बथुआ लौकी तरोई परवल सजन कद्दू टिंडा नींबू आदि सब्जियों को खाने में शामिल करें और फलों में अनार मोसंबी संतरा अमरूद अनानास अधिक खाने से भी ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है बीपी को कंट्रोल करने के लिए आपको सुबह शाम कुछ कदम टहलना चाहिए और चाय कॉफी धूम्रपान अल्कोहल आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें