5 weeks pregnant mother

.mera piriyad miss hote 4 day ho gye h test kru to पॉजिटिव aayga ya nhi

सवाल
हेलो डियर आपके पीरियड्स खत्म होने बाद नेक्स्ट पीरियड आने की तारीख से तीन या चार दिन बाद आपको टेस्ट कर लेना चाहिए। कई महिलाओ का यह टेस्ट नेगेटिव भी आ सकता है, क्योंकि कई महिलाओ का गर्भधारण आखिरी दिनों में होता है। इसके लिए यदि आपको पीरियड नहीं होता है तो एक हफ्ते बाद दुबारा चेक कर सकते है। यदि उसमे भी नेगेटिव आता है तो एक बार आपको डॉक्टर से जाकर चेक करवाना चाहिए क्योंकि कई बार घर में टेस्ट नेगेटिव आने के बाद डॉक्टर के पास चेक करवाने से आपको सही रिपोर्ट मिल जाती है।
7 day ho jaye tb karna ye thik rahega 4 days aage piche ho jata hai
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: meri periods miss ho gyi 7 din late ho gyi maine pregnancy test nhi kiya h bt kl se mujhe phir bleeding shuru ho gyi to kya main pregnancy test kru ya nhi???? its urgent plz reply
उत्तर: आप प्रेगनेंसी टेस्ट ना करें तो कोई प्रॉब्लम नहीं है क्योंकि आपके पीरियड नहीं आए थे जो कि 7 दिन बाद आ गए हैं कभी-कभी ऐसा भी होता है पीरियड्स 7 दिन पहले आ जाते हैं या 7 दिन बाद आते हैं या दो-तीन दिन पहले आ जाते हैं या दो-तीन दिन बाद आते हैं फिर भी अगर आप कंफर्म होना चाहते हैं तो टेस्ट कर सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera period miss hue 15 din ho gye h pregnancy test positive h...kya docter ko dikhana chahiye abhi
उत्तर: गर्भावस्था के समय मां और बच्चे का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है मां की पहली देखभाल तो खुद पर निर्भर करता है लेकिन बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हमें कुछ जांच करानी पड़ती है गर्भावस्था के दौरान शरीर में काफी परिवर्तन होते हैं जिनकी निगरानी करना बच्चे और मां के स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा आवश्यकता है इसलिए हमें समय समय पर चेकअप करवाना चाहिए बच्चे के जन्म से पहले जो परीक्षा में होता है उसे एंटी नेटल केयर कहा जाता है iska udesya यही होता है कि बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानना प्रेगनेंसी में सबसे पहले स्क्रीनिंग टेस्ट 15 से 20 हफ्ते के दौरान करवाने चाहिए जिससे कि बच्चे की रीढ़ की हड्डी के बारे में हमें पता चलता है इस समय आप बच्चे में होने वाले डांस एंड उनके बारे में भी पता कर सकते हैं जो क्रोमोसोम में जींस होते हैं उनके द्वारा माता पिता के गुण बच्चों में ट्रांसफर होते हैं इन क्रोमोसोम में गड़बड़ी की वजह से उनको डाउन सिंड्रोम होने का चांस रहता है इसलिए 15 से 20 सप्ताह के दौरान एक बार जांच करानी जरूरी होती है गर्भवती महिला की सबसे पहली जांच उसके पहले तिमाही में होता है जिसमें डॉ आपके मासिक धर्म चक्र पिछला गर्भाधारण , सेवन करने वाली दवाइयों और आपके जीवन शैली के बारे में पूछते हैं इस समय आपका वजन BP हृदय की गति यह सब मापा जाता है जो की बहुत जरूरी होता है दूसरी तिमाही में भी आपके यूरिन टेस्ट अल्ट्रासाउंड और आपका ब्लड टेस्ट किया जाता है जिससे कि आपका हीमोग्लोबिन का स्तर और आपके बच्चे की स्थिति के बारे में जाना जाता है तीसरी तिमाही में जब महिला गर्भवती के अंतिम चरणों में पहुंच जाती है तो आपकी सेहत आप प्रेग्नेंसी के अनुसार डॉक्टर आपको हर दो और 4 हफ्ते में हास्पिटल आने के लिए कहते हैं आज जब 36 सप्ताह की शुरुआत से जब तक डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक आपको हमेशा जांच करवाते रहना चाहिए कि इस दौरान आपका और आपके बच्चे पर पूरा ध्यान रखा जाता है इस दौरान भी अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें प्लेसेंटा की स्थिति बच्चे का विकास और एमनियोटिक द्रव के स्तर की जांच की जाती है इस लास्ट महीने में आपको और बच्चे के लिए खांसी से बचाव के लिए एक vaccine लगाई जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: me 24 septebar se mera piriyad miss h mera babi kab hoga
उत्तर: हेलो डीआर आपका लास्ट पीरियड डेट 24 सितंबर को था तो उस हिसाब से आप की डिलीवरी डेट 1 जुलाइ के आस पास हो सकती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें