38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Mera per bar bar kadak Ho jata he our dard karta He yesa q hota he. Muze 16 nohembar dilevari date di he

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आपके पेट में दर्द होने पर आप तुरंत रिलीf के लिए बर्फ की पोटली से पेट की सिकाई कर सकती हैं या हल्के गर्म पानी की बोतल से भी सिकाई कर सकती हैं दर्द वाली जगह पर आप हल्के हाथों से नारियल तेल की मालिश कर सकती हैं इससे आपको बहुत ही आराम मिलेगा इस समय पेट में अगर दर्द आपको लगातार और तेज हो रहा हो तो आपको तुरंत ही अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ओके टेक केयर
Answer: वैट बढ़ने की वज्हा से ऐसा होता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Me 33 week pregnant hu our muze dilevary date 9-11-2018 di gaie He. Our abhi mere pet nichle hisse Me dard karta he niche muze vajn jyda mehsus hota He our pet ke Side ke hisse me kuch chamksi aa jati he. Our sfed pani bhi nikal raha he
उत्तर: हेलो डियर सबसे पहले आप चिंता बिल्कुल ना करें क्योंकि आप जो लक्षण बता रही है वह सब नॉर्मल है यदि आपको अभी 33 weeks हो रहे हैं तो इस समय तब बच्चे का विकास काफी हद तक हो चुका रहता है जिसकी वजह से यूटरस का साइज भी और bharभी बढ़ जाता है और इसी की वजह से यूटरस का bharपूरे नीचे की तरफ ज्यादा रहता है इस वजह से हमें नीचे की तरफ कभी कभी दर्द महसूस होता है यूटरस का साइज बढ़ने की वजह से वह आस-पास के अंगों को भी प्रभावित करता है इस वजह से हमें दर्द अनुभव होता है इसलिए आप चिंता बिल्कुल ना करें प्रेगनेंसी में दर्द होना सामान्य बात होती है इसकी वजह से बच्चे को कोई परेशानी नहीं होगा और यदि सफेद पानी की परेशानी होगी तो इसकी वजह से भी कोई नुकसान नहीं होता सफेद पानी वेजाइना को क्लीन रखने का काम करता है इसकी वजह से कोई इन्फेक्शन नहीं होता इसलिए यदि सफेद पानी की परेशानी है तो ज्यादा अच्छा है आपको vaginaमें इन्फेक्शन नहीं होगा लेकिन आप जब भी पेशाब करे उस समय आप अपनी योनि को अच्छी तरह से साफ कर ले| और यदि आपको पेट के किसी भी हिस्से में चमक जैसे महसूस होती है तो या इसलिए होता है क्योंकि इस समय पेट की त्वचा खींचती है और इस दौरान कभी कभी त्वचा में चमक आ जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 9 va month chalu He mera. Meri kamar our pet dard karta he yesa q hota he
उत्तर: हेलो जैसे प्रेगनेंसी के शुरुआती एक दो महीने तकलीफ देह होते हैं वैसे ही प्रेगनेंसी के आखिरी एक दो महीने तकलीफ देह होते हैं। और आप इन्हीं महीनों से गुजर रही है। जब बच्चा पूरी तरीके से डेवलप हो जाता है तो पेट में उसके लिए जगह कम पड़ने लगती है। जिसके कारण हमारे शारीरिक अंगों पर उसका दबाव पड़ता है जिसके कारण स्टमक लंच पर भी दबाव पड़ता है और उनके काम थोड़ी प्रभावित होते हैं। लंच पर दबाव पड़ने से घबराहट बेचैनी सांस लेने में दिक्कत और चक्कर आना होता है। और स्टमक पर दबाव पड़ने से भूख नहीं लगती और एसिडिटी होती है। आप ज्यादा से ज्यादा ज्यादा पानी पीजिए। सुबह शाम वाॅक करें ज्यादा देर एक ही पोजीशन पर ना बैठे और ना ही सोए रेस्ट ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muze satva mhina chal rha hai fir bhi muze thoda bhot saped pani jata hai yesa q hota hai
उत्तर: हेलो, हल्का सा ब्लीडिंग या वाइट डिस्चार्ज हल्का हो तो कोई प्रॉब्लम नहीं होती| दिनचर्या में गड़बड़ी होने पर कभी-कभी ऐसा हो जाता है| जैसे ज्यादा थकावट नींद की कमी| ज्यादा तेल मसाले वाला खाना| यह सर्दी और बुखार की कोई मेडिसिन लेने से भी कभी-कभी ऐसा होता है| पेट का भार बढ़ने से भी ये प्रॉब्लम आती है जब भी ऐसा हो आप ठंडी चीजें जरूर खाएं| जैसे लस्सी छाछ खीरा ककड़ी फलों का जूस नारियल पानी हरी पत्तेदार सब्जियां अपने खाने में शामिल करें| कब्ज ना होने दें| पूरी नींद ले आराम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें