23 weeks pregnant mother

Question: mera 6 moth ho gye or pet एम koi chal halchal nhi ho rhi एच mera pet bhi khrab h kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में बेबी का मुवमेंट 16 से 22 वीक में होने लगता है लेकिन जो लेडी पहली बार माँ बनती है उसको इसका फील कम होता है उनको बेबी के मुवमेंट का अहसास शान्त रहने या ऐकान्त में सोने से होती है कभी कभी इसका अहसास डकार लेने या गैस , कब्ज बनने की वजह से भी कम पता चलता है बल्कि जो पहले से माँ बन चूंकि है उनको बेबी के मुवमेंट पता चलने लगता है कुछ बेबी के ऍक्टिव ज़्यादा या कम होने से भी मुवमेंट पर फर्क पड़ता है अगर बेबी का मूवमेंट कम पता चले तो आपको ऐसे में कुछ मीठा खा लेना चाहिए , और लेफ्ट करवट करके सोने से भी बेबी का मूवमेंट अच्छे से होने लगेगा , आपका बेबी 1 दिन में 10 मूवमेंट नहीं करता है तो आप तुरंत डॉक्टर को दिखा दे बेबी को 10 मोमेंट करना जरूरी होता है, aise me agr aapka pet kharab hai aur दस्त को ठीक करने के लिए कुछ घरेलू उपाय इस तरह से करे , आपको ऐसे में आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए , आप पानी मे नमक , चीनी का घोल बना भी पी सकती है इससे आपको पानी की कमी नही होगी , नाभि के आस पास अदरक का रस मलने से दस्त बंद हो जाएगा सौफ और सफेद जीरा दोनो बराबर वजन लेकर तवे पर भून लें और बारीक पीस कर 3 ग्राम को मात्र से 2 या 3 घंटे की अंतर से पानी के साथ ले इससे दस्त कम हो जाएगा थोड़ी मेथी , हींग , और काला नमक बराबर मात्रा में लेकर पानी के साथ खा ले इससे भी दस्त कम हो जाता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 6 month pure ho gye h .2 din s mere pet koi halch nhi hui h . or mera pet bhi kharb h kya karu . plz batye
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में बेबी का मुवमेंट 16 से 22 वीक में होने लगता है लेकिन जो लेडी पहली बार माँ बनती है उसको इसका फील कम होता है उनको बेबी के मुवमेंट का अहसास शान्त रहने या ऐकान्त में सोने से होती है कभी कभी इसका अहसास डकार लेने या गैस , कब्ज बनने की वजह से भी कम पता चलता है बल्कि जो पहले से माँ बन चूंकि है उनको बेबी के मुवमेंट पता चलने लगता है कुछ बेबी के ऍक्टिव ज़्यादा या कम होने से भी मुवमेंट पर फर्क पड़ता है अगर बेबी का मूवमेंट कम पता चले तो आपको ऐसे में कुछ मीठा खा लेना चाहिए , और लेफ्ट करवट करके सोने से भी बेबी का मूवमेंट अच्छे से होने लगेगा , आपका बेबी 1 दिन में 10 मूवमेंट नहीं करता है तो आप तुरंत डॉक्टर को दिखा दे बेबी को 10 मोमेंट करना जरूरी होता है, उनमे से एक समस्या प्रेग्नेंट लेडी को दस्त आना भी है दस्त को ठीक करने के लिए कुछ घरेलू उपाय इस तरह से करे , आपको ऐसे में आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए , आप पानी मे नमक , चीनी का घोल बना भी पी सकती है इससे आपको पानी की कमी नही होगी , नाभि के आस पास अदरक का रस मलने से दस्त बंद हो जाएगा सौफ और सफेद जीरा दोनो बराबर वजन लेकर तवे पर भून लें और बारीक पीस कर 3 ग्राम को मात्र से 2 या 3 घंटे की अंतर से पानी के साथ ले इससे दस्त कम हो जाएगा थोड़ी मेथी , हींग , और काला नमक बराबर मात्रा में लेकर पानी के साथ खा ले इससे भी दस्त कम हो जाता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pet me kuch bhi halchal nhi ho rhi h kya prolem ho sakti h? 7th month chal rha h
उत्तर: हेलो . डियर शिशु की हलचल गिनने के लिए आप करवट mei लेट जाएं और अपने पेट के नीचे सहारे के लिए तकिया या कुशन लगा लें.. स्थिर रहें और कुछ घंटों तक ध्यान दें..इस दौरान आपको अलग-अलग कम से कम 10 हलचल महसूस होनी चाहिए.. अगर आप की बेबी की मूवमेंट आप को कम लग रहे हैं तो आप ठंडा पानी पी सकती हैं या mitha ya ठंडा drinks पी सकती हैं.. अच्छी तरह खाना खा कर आराम करिए जिससे आपके पेट मैं बेबी की मूवमेंट आपको ठीक तरह से पता चलेंगी और करवट हो कर so जाइए अधिक शोर आप करें या सुने जैसे म्यूजिक सुने या दरवाजे को पीते कई बार शोर के कारण भी बच्चे सोते रहते हैं तो उठ जाते हैं.. और अगर फिर भी बेबी की मूवमेंट आप को पता ना चले तो आप डॉक्टर से संपर्क करें. ओके टेक केयर डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera abhi 5va manth chal raha hi par pet kuch bhi halchal nahi hoti kya karu
उत्तर: बेबी मूवमेंट प्रेगनेंसी के 18 से 20 weeks के बीच में पता चलता है आपकी या पहले प्रेगनेंसी है तो आपको यह समझने में थोड़ा सा वक्त लगेगा | जो हल्की सी फड़फड़ाहट होती है वह वास्तव में बेबी मूवमेंट्स है. यदि यह मूमेंट आपको 24 वीक्स के बाद तक भी अगर महसूस नहीं होता to आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट कर सकते हैं| प्रेगनेंसी में ऐसा होता है एक-एक दिन बच्चा अंदर पेट में थोड़ा sust रहता है उतना एक्टिव नहीं रहता . आप घबराएं नहीं आप ज्यादा हैवी वर्क ना करें. ज्यादा चले नहीं ज्यादा खड़े नहीं rahiye. आप बस आराम से लेटे हैं और वह आप बाईं करवट लेकर लेटर| हमारा heart लेफ्ट me होता है ऐसे में हमें बाएं ओर करवट लेकर सोना चाहिए . जिससे कि पेट पर भी कोई जोर नहीं पड़ता और हमारी हार्टबीट भी सही रहती है और हमारा इससे BP भी कंट्रोल में रहता है BP मतलब ब्लड प्रेशर| तरीके से nahi सोने पर शरीर में एक अलग प्रकार का दबाव पड़ता है जिससे कि अपनी नसों में ब्लड सर्कुलेशन ठीक नहीं होता aor हमारा BP गड़बड़ हो सकता है ,हमारी हार्टबीट गड़बड़ हो सकती है जो कि बच्चे के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है इसलिए ऐसा सजेस्ट किया जाता है कि .बाई करवट की ओर सोना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें