30 weeks pregnant mother

Question: Mera 8 month chal rha to Kay me abhi brest milk bdhane kliye shatavar ki goli let skti hu aur ek bat k mere brest chote he isliye tension hoti he

1 Answers
सवाल
Answer: hello प्रेगनेंसी में शतावर की गोली नहीं ली जाती डिलीवरी होने के बाद सतावर की गोलियां सतावर पाउडर लेने से ब्रेस्ट मिल्क बढ़ता है अभी आप हेल्दी डाइट लेकर कैल्शियम आयरन सप्लीमेंट लेकर पर्याप्त मात्रा में पानी और दूध पी कर ब्रेस्ट मिल्क बना सकते हैं जब ब्रेस्ट में अच्छे से दूध भराएगा तो ब्रेस्ट की साइज भी बड़ी हो जाएगी
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Kya dudh bdhane k liye tablet pi skti hu docter n likh di he...milk nhi aa rha come he...
उत्तर: हेलो डीयर सबसे पहले आपको बहुत बहुत बधाइयाँ। आप और आपका बेबी खुब स्वस्थ रहें। दूध बढ़ाने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है - @आप मूँग की दाल मे घी डालकर खाएं और 1 स्पून मेथी दाने, 1 स्पून जीरा गरम पानी के साथ सुबह शाम खाएं इससे मिल्क खुब होता है। @सफेद जीरा, सौंफ तथा मिश्री तीनों का अलग-अलग चूर्ण बनाकर समान मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ दिन में तीन बार देने से दूध में अधिक वृद्धि होती है। लगभग 125 ग्राम जीरा सेंककर 125 ग्राम पिसी हुई मिश्री मिला लें। इसको 1 चम्मच भर रोज सुबह और शाम को सेवन करें। जिन माताओं को दूध की कमी हो, उनका दूध बढा़ने के यह बहुत ही लाभकारी है। @ पानी में केसर को घिसकर स्तनों पर लेप करने से स्तनों में दूध की वृद्धि होती है। अगर आपके डॉक्टर ने आपको दूध बढाने के लिए दवा दी है तो आप उसका सेवन किजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere abhi 8 month chal raha he seene me bahut jalan hoti he aur chakkar bhi aate hai kya karu
उत्तर: यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। प्रेगनेन्सी में चक्कर आना भी नॉर्मल बात है ऐसे मि आप झटकें से उठें और बैठे नही आराम आराम से रहें , पानी खुब पीये , कोई भी काम ज़्यादा देर तक ना करे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera dusra mahina chal rha h mujhe left side sone m problem hoti h m right side soti hu koi tension ki bat to nhi h
उत्तर: आपको जिस तरह से भी सोने मे आराम मिलें आप वैसे हि सोएं . कोई प्रॉब्लम नही होगी . ज़्यादा कोशिश करे लेफ्ट सोने का. प्रेग्नेंसी में आप जितना भी लेफ्ट करवट सो सके सोए. इससे आपको और आपके पेट मे पल रहे बच्चे को स्वस्थ बनाता है. लेफ्ट तरफ सोने से आपके और आपके शिशु की body मे रक्त का प्रवाह सही तरीके से होता है. जिससे आप के बेबी को भरपूर ऑक्सीजन और पोषण मिलता है| इससे आपके शरीर के अंदरूनी अंगो मे कम से कम दबाब पड़ता है. लेफ्ट करवट  मे सोने से बच्चे को कोई भी चोट लगने के कम से कम chances होते है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें