36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 8 month 2 din me pura hoga muje 2 dinse bache k hal chal bahut hi km mahsus hoti hai aur pair bhari ho gaye hai koi solution do ne plz..

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो कभी कभी ऐसा होता है की बेबी की हरकतों को आप दयान नही दे पाती इसलिए आप सभी कामो को छोड़कर कुछ खाए ऑर अकग्र होकर होकर कतवत लेकर लेट जाए कम से कम 1 घण्टे आपको अलग अलग तरीके से 10 हलचल महसूस होनी चाहिए जब आपको लगें की बेबी का मुवमेंट कम है तो आप ठण्डा पानी पीए या फ़िर तेज आवज में गाने सुनें जिससे बेबी कुछ हलचल करे फ़िर भी यदि कोई मुवमेंट ना हो या कम हो तो डॉक्टर की सलाह लें तुरन्त पेट में बेबी होने के वजह से पूरा भार पैर पे ही पड़ता है इसलिए पैर में दर्द होता है आप पैर में गुनगुने तेल से मलीस करें ऑर उनचि हिल के सेन्दिल ना पहनें सिम्पल फ्लैट्स स्लीपर पहनें इस्से आपके पैरों ऑर एड़ियों को आराम मिलेगा व्यायाम करें ऑर मॉर्निंग वाक करें सोते टाइम पैर में तकिया लगाकर सोएं इसे आपको दर्द में कुछ आराम मिलेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mera 8 month chl rha hai or muje pura din baby movement hoti hai to koi problem to nahi ne
उत्तर: नही इसमें कोई प्रॉब्लम नही है घबड़ाने वाली कोई भूत नही है बेबी की मुवमेंट होना to achi baat hai
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera 2 month chal raha he aur muze din bhar seekness mahsus hoti he ,hath pairo me bhi bahut dard hota hai.what shall I do?
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान आलसी और सुबह बीमारी भरना बहुत सामान्य है। इन उपचारों को आजमाएं। अदरक को विभिन्न तरीकों से लिया जा सकता है। इसका रस बस चाय के रूप में लिया जा सकता है। कुछ अदरक चाय तैयार करें और गर्म पीएं। अक्सर यह पाया जाता है कि सुबह की बीमारी से निर्जलीकरण हो सकता है। निर्जलीकरण मतली भी प्रेरित कर सकता है। सही खुराक में नियमित भोजन खाने से सुबह की बीमारी के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है। आप ठंडे भोजन पर भी विचार कर सकते हैं। प्रारंभिक गर्भावस्था के दौरान उल्टी के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार पेपरमिंट है। यह जड़ी बूटी मुख्य तापमान नीचे लाती है, दिमाग को शांत करती है। सुबह बीमारी के सबसे बड़े संकेतों में से एक यह है कि आपका शरीर आराम करने की आवश्यकता दिखा रहा है। आपको बहुत आराम मिलना चाहिए और सुनिश्चित करें कि आप अच्छी तरह से सोएं। प्रेग्नेंसीय में हाथ और पैर में दर्द होना हार्मोन परिवर्तन की वजह से हो ता है आप अपने हाथ , पैर के दर्द को इस तरह से इलाज कर सकती है आप अपने हाथ , पैर में पतंजलि का पीड़ा नतक तेल आता है आप उस तेल हाथ और पैरो की मॉलिश करे आपको आराम हो जाएगा , आप अपने हाथ , पैर की गुनगुने पानी मे नमक डालकर सिकाई करे इससे भी आपको लाभ होगा , कुछ एक्सरसाइज करें हाथ और पैरो की आपको दर्द में आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 8 month chal rha h baby 2 din se bahut km मुवमेंट कर rha hai plz guide me
उत्तर: हेलो डियर बेबी का मुवमेंट दिन मे कम से कम 15 बार होना नॉर्मल है अगर आप को मुवमेंट महसूस ना हो रही हो तो आप ठण्डा पानी पीये | अपने पेट पर हाथ फेरते रहें | आप आराम सेे बेड पर लेट जायें और बेबी की मुवमेंट को महसूस करें आप कुछ मीठा भी खा कर देख सकती है | कभी कभी हमे भूख लगती है जिस के कारण बेबी सो जाता है और जब हम कुछ खा लेते है तो बेबी मुवमेंट मे फर्क पड़ता है और हलचल महसूस होने लगती है इसलिए आप कुछ खा कर अच्छे से बेबी मुवमेंट को नोटिस करते रहें अगर फिर भी बेबी मुवमेंट ना हो तो डॉक्टर से सलाह लें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje khane k bad pet bhari bhari sa lagne lagta hai aur jalan bhi hoti hai bahut to uska me kya karu
उत्तर: हेलो डियर , आपको अगर प्रेग्नेन्सी में पेट में जलन और भारी pan लगना गैस और ऍसिडिटी होने की वजह से होता है , आप प्रेग्नेंसीय मे कुछ इस तरह से देखभाल कर सकती है आप इस तरह से एसिडिटी के लिए घरेलू उपाय कर सकती है आप तैलीय या मसालेदार खाना , और चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी चीजे एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं, एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी के लिये पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार खाना खाती रहें।खाना को अच्छी तरह चबाकर खाएं खाना खाने के दौरान लम्बा गैप रखे खाना के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में पानी न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी हैं कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें, एसिडिटी होने पर आप ग्लास पानी मे एक चम्मच जीरे को डाल कर खौला ले फिर इसको पिये इससे भी बहुत आराम मिलता है एसिडिटी में ,आप इसमें 10 , 12 पुदीने की पत्तियों को रोज चबाये इससे भी फायदा होता है , रोज रात को खाना खाने के बाद गुड खाये इससे आपका खाना पच जायगा और जलन नही होगी सुबह खाली पेट एलोवेरा जेल खाये या थोड़े पानी मे डालकर पिये इससे भी आराम हो जाएगा !
»सभी उत्तरों को पढ़ें