17 weeks pregnant mother

Question: mera pachva manth hai sex karna sef hai ya nahi

1 Answers
सवाल
Answer: सेफ़ है पर आप carefull हो कर ही sex करें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 7 manth me sex karna chahi ya nahi
उत्तर: हेलो डियर डॉक्टर ने रिलेशन बनाने से मना नहीं किया है और आपकी प्रेगनेंसी में कोई कॉम्प्लिकेशंस नहीं है तो आप रिलेशन बना सकते हैं क्योंकि सेक्स करने से आपके बेबी को नुकसान नहीं पहुंचेगा। एक गाढ़ा म्यूकस प्लग वॉम्ब के डोरवे को बंद कर देता है और इन्फेक्शन से बचाव में मदद करता है। ‘पानी की थैली’ और यूटेरस की मसल्स आपके बेबी को सेफ रखते हैं। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera pachva manth chal rha hai kese letna chahiye
उत्तर: हेलो डियर ऐसे मेय आपको बाई ओर करवट लेकर सोना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muze blading chalu huva hai plz muze bataiye mera beby sef hai ya nahi
उत्तर: हेलों स्ट्रेस नही ले हर ब्लीडिंग में प्रॉब्लम हो ये जरूरी नही है ..पर हम प्रेगनेंसी में कोई रिस्क नही ले सकते है .आप ऐसे में डॉक्टर से सलाह ले ताकि आप निशिन्त हो पाये कि सब नॉर्मल है और आपका बेबी सुरक्षित है आपको डॉक्टर रेस्ट करने की सलाह और कुछ मेडिसन दे सकती है अभी आप ज़्यादा से ज़्यादा आराम करे .आप अभी थकान वाले काम ना करे और ना भारी सामान उठा ये ना सरकाये क्रॉस लेग ना बैठे झुक कर काम ना करे सीढ़ी ना chade पैर लटका के ना बैठे जब भी लेटें पैरो के नीचे तकिया लगा कर सपोर्ट दे और हील्स ना पहनें .संतुलित और हेल्थी आहार ले स्ट्रेस ना ले पानी भरपूर पीये
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Pragnancy me sex kar sakte he ya nahi? Karna sahi hai to sex ka sahi samay konsa? Our sex karte samay condom use karna sahi hai ya nahi?
उत्तर: हेलो प्रेग्नेंसी का पहला 3 महीना काफी कॉम्प्लिकेटेड होता है। और इस 3 महीने में संबंध नहीं बनाना चाहिए। यह आपके गर्भ को नुकसान पहुंचा सकता है। 3 महीने के बाद गर्भ में स्थाईत्व आ जाता है तब आप संबंध बना सकते हैं। 6month में सेक्स करने से कोई परेशानी नहीं होती है प्रेगनेंसी में सेक्स करते समय कंडोम का यूज़ बहुत जरूरी होता है कंडोम के बिना सेक्स करने से एसटीडी, एड्स, वैजाइनल इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। प्रेगनेंसी के दौरान सर्विक्स म्यूकल प्लग से बंद हो जाता है जिससे गर्भाशय में स्पर्म घुस नहीं पाते हैं लेकिन आपको वैजाइना के अलावा दूसरे अंगों में इसके कारण इंफेक्शन हो सकता है। प्रेगनेंसी के दौरान एसटीडी होने का सबसे ज्यादा खतरा रहता है जिससे मां और बेबी दोनों को नुकसान पहुँचता है। क्योंकि एसटीडी के उपचार हेतु जो दवाईयां दी जाती है वह मां और बच्चे दोनों के लिए हानिकारक हो सकता है। प्रेगनेंट महिला को एसटीडी के अलावा क्लामिडिया, सिफिलिस, हर्पिस, हेपाटाइटिस बी, ग्रोनोरियाम, एचआईवी./एड्स हो सकता है। यह स्थिति अजन्मे बच्चे के सेहत को नुकसान पहुँचा सकता है अगर मां को वैजाइनल हर्पिस होता है तो वैजाइनल डिलिवरी के समय बच्चे पर असर पड़ सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें