26 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 6 mnth chal rha h or do din se m acidity se preshaan hun bilkul gle tk jlta h .khuch remedy btayie plz.thanks in advance

1 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था के दौरान गले में जलन और एसिडिटी शरीर में हार्मोनल और शारीरिक बदलाव के कारण होती है आप कुछ उपाय आजमा कर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं जैसे कि तेलिया मसालेदार भोजन ,चॉकलेट खट्टे फल, कॉफी यह सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं इस समय आप इन्हें अवॉइड करें पानी पिएं टोमेटो केचप डिब्बाबंद चीजें ना खाएं इनमें प्रिजर्वेटिव्स यूज़ करते हैं एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और का सदियों पुराना इलाज माना जाता है अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है कुछ लोगों का मानना है कि केला खाने से भी इसमें फायदा होता है फिर भी अगर आपको आराम नहीं होता है तो आप अपने डॉक्टर से भी परामर्श ले सकते हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 6 mnth chal rha h or 4-5 din se mere pet m drd rhta h ye normal h ya koi problm h
उत्तर: हेलो डियर, प्रेगनेंसी में पेट दर्द बच्चे के बढ़ते वजन के कारण पेट के निचले हिस्से me दबाव पड़ता है जिससे पेट में खिंचाव के कारण पेट के आसपास के हिस्सों में दर्द होता है इसके अलावा कभी-कभी गैस ,अपच , एसिडिटी ,कब्ज आदि के कारण भी प्रेगनेंसी में पेट दर्द होता है सामान्य पेट दर्द के लिए अदरक का रस ,पुदीने का रस ले |हींग को पानी में घोलकर पेट के आसपास लगाएं |10 से 12 गिलास पानी पिए | छाछ , दही खाएं |हल्का गुनगुने पानी में नमक व नीबू का रस डालकर पीए ,खाना खाने के बाद सौंफ या जीरा खाए पेट दर्द में राहत मिलेगी |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera 6 mnth chal rha hai lekin mera pet bilkul v nhi dikhta ....kya krun ?
उत्तर: अगर सोनोग्राफी के अनुसार आपका बेबी स्वस्थ है तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है कभी कभी ऐसा हो जाता है गर्भावस्था में वजन ज्यादा नहीं बढ़ता है इस वजह से पेट भी ज्यादा नहीं पता चलता है हमें बस इस बात का खास खयाल रखना चाहिए कि बच्चे का वजन सही होना चाहिए कभी-कभी माताओं का पेट ज्यादा नहीं निकलता है इसलिए आप इस बारे में बिल्कुल भी नहीं सोच मेरी बहन का पेट भी 9 महीने तक सिर्फ इतना निकला था जितना 4 महीने में निकलता है ऐसा कई महिलाओं के साथ हो जाता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera tisra mnth chl rha h...or sam se bahut chikne or gle me drd h...main kya krnu??
उत्तर: Hello .. बच्चों को या बड़ों को गले में दर्द जलन या सूजन या खराश व खांसी होने की समस्या आम समस्या है. गले की कोई भी समस्या pharynx में सूजन की वजह से होती है . Yah tude muh ke pichhe esopheagas taak pheli hoti hai. आप यह समस्या घरेलू तरीकों से दूर कर सकते हैं. आप घरेलू उपचार करें आपको आराम मिलेगा. 1.एक कप पानी हल्का गुनगुना करके इसमें ek चौथाई चम्मच और आधा चम्मच नमक डालें इस पानी से आप गरारे करें .गरारे करके आधा घंटा तक कुछ खाए पिए नहीं. 2. हल्दी वाला दूध भी फायदेमंद होता .है आधा चम्मच हल्दी ,दो चुटकी काली मिर्च दूध में डालें और थोड़ी शक्कर मिलाकर कुनकुना piyen. 3. पालक उबालकर इसका पानी छानने और इस पानी से gargal करे .दिन में दो तीन बार. 4. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच नींबू का रस डालें और उसमें शहद मिलाएं धीरे-धीरे यह पानी piyen.दिन में इसे दो तीन बार पिए. 5. बार-बार खराश होने पर गले में सूजन आ जाती है. नमक वाले पानी से सूजन कम होती है. एक गिलास पानी में एक चम्मच नमक डालें उससे gargaal करें .यह दिन में दो से तीन बार करें आराम मिलेगा. 6. कच्ची हल्दी का सेवन भी गले में बहुत फायदा करता है .कच्ची हल्दी का रस आधा चम्मच मुंह खोलकर ऊपर से डालें इसके बाद कुछ देर बात नहीं करें. मुंह की लार के साथ यह गले से नीचे उतर जाएगा और आपको इससे बहुत आराम मिलेगा. 7.अनार के रस को थोड़ा गर्म करके पिए खांसी ठीक हो जाएगी. 8. दो चम्मच प्याज का रस एक गिलास गर्म पानी में डालकर पिएं सूजन में आराम मिलेगा. 9. चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर आधा चम्मच हनी मिलाकर खाएं खांसी में आराम मिलेगा. 10.काली मिर्च के दाने चूसने से भी खांसी में आराम मिलता है. 11.लौंग की चाय बना कर पिए फायदा मिलेगा. 12. गले में खराश का इलाज लहसुन भी करता है. एक या दो कली मुंह में डालकर थोड़ा-थोड़ा chabayen रस निकलेगा. इस रस में आपको एलिसिन मिलेगा जो कि गले के बैक्टीरिया को मारता है. 13. कच्चा लहसुन भूनकर भी आप खा सकते हैं इससे भी गले की किसी भी समस्या में आपको आराम मिलेगा. 14. मेथी को पानी में उबालें फिर उस पानी को छानकर उस से गरारे करें आराम मिलेगा. 15. टमाटर का जूस में गर्म पानी मिलाकर gargaal करें. गले के किसी भी समस्या के होने पर आपको कुछ परहेज करने चाहिए. कोल्ड ड्रिंक yaa ठंडा पानी nahi piyen. फ्रिज में रखी हुई चीजें खाने से बचें . धूम्रपान व तंबाकू का सेवन नहीं करें . तला हुआ मसालेदार खाना नहीं खाए. Dudh aur मलाई भी nahi khaye. खट्टी चीजों को बिल्कुल भी मत खाएं. take care
»सभी उत्तरों को पढ़ें