4 महीने का बच्चा

Question: mera baby potty toh 3 br hi kr raha h but patli nd hari rang ki kr raha h kal se..3.5 month ka h...

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो गलत तरीके से दूध पिलाने से ये पॉटी की प्रॉब्लम आती है या बेबी का पेट खराब होता है। दूध पिलाते समय आप सबसे पहले एक ब्रेस्ट के दूध को पिलाएं 20 मिनट के बाद अब दूसरे साइड के ब्रेस्ट से पिलाये ब्रेस्ट में ऊपर ऊपर का दूध पतला होता है और अंदर का दूध गाढ़ा होता है पतले दूध को पीने से बच्चे की प्यास बुझती है और गाढ़ा दूध को पीने से बच्चे की भूख मिटती है ऊपर ऊपर का दूध पीला देने से बच्चे को बार बार भूख लगती है और बच्चा उस दूध को पीने से झाग वाली पॉटी, ग्रीन पॉटी,छिछड़ा पॉटी ,ड्राई,या बार बार पॉटी करता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी कल से हरी हरी से पतली पतली पॉटी कर रहा है के करूं
उत्तर: हेलो डियर आपका बेबी अगर हरी पोटी कर रहा है तो ऐसे में बेबी के दांत निकलने की वजह से भी और सर्दी लगने की वजह से भी और ऐसे में हरे पत्तेदार कोई भी चीज खाने से भी आपके बेबी को ग्रीन दस्त हो सकता है , अगर यही बहुत ज्यादा हो तो ऐसे में ऐसे में आप अपने बेबी को केले को दही के मिक्स करके खिला दे इससे बहुत जल्दी आपके बेबी को आराम हो जाएगा आप अपने बेबी को समय समय पर ओआरएस का घोल पिलाती रहे , अपने बेबी को पानी की कमी न होने दे आप अपने बेबी को मूंग कि दाल डाल कर उसमे मेथी डाल कर गीली खिचड़ी बनाकर बेबी को खिलाएं और ज्यादा गंभीर दस्त हो तो बेबी को डॉक्टर के पास ले जाये धन्यवाद।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby 3.5 month ka h wo daily green potty krta h nd patli krta h aisa kya kru ki wo patli potty na kare... plz tell me
उत्तर: हेलों आपका बेबी ग्रीन पतली पोटी कर रहा है तो आप अपने खान पान में परहेज़ रखें अगर बच्चा आपका मिल्क पी रहा है तो . आप कोई भी ऐसे चीज़ ना खाएं कि उसको दस्त हो और बेबी के हाथ पैर मुह साफ़ रखें बच्चे अपने हाथ मुह में डालते है और इन्फेक्शन होता है साथ ही आप बेबी के आसपास बेड पर भी सफ़ाई रखें feed से पहले आप अपने हाथ भी धोएं . आप ऐसे चीज़ें खाएं जो दस्त में राहत दें ताकि आपके मिल्क से बेबी को सही पोषण मिलें और फीड समय से बार बार करायें और ग्रीन कलर की पोटी के लिए अगर आप बच्चे को ब्रेस्ट मिल्क पिलाती है तो ज़्यादा देर तक फीडिंग करवायें बच्चे का हरा कलर आपके ब्रेस्ट से कम कैलोरी मिल्क निकलने के कारण भी हो सकता है स्तनपान के अंत में आने वाला वसायुक्त गाढ़ा दूध उसे पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पा रहा। वसायुक्त यह गाढ़ा दूध बच्चे को उसकी जरुरत की अधिकांश कैलोरी प्रदान करता है और उसका पेट भरता है। यदि आप बच्चे को एक निश्चित समय तक दूध पिलाकर स्तनपान करवाना बंद कर देती हैं, तो भी संभव है कि बच्चे को कैलोरी युक्त दूध न मिल पाए। इसलिए एक स्तन से स्तनपान पूरा कर लेने पर बच्चे के खुद उस स्तन को छोड़ देने का इंतजार करें। और इसके बाद ही उसे दूसरे स्तन से दूध पिलाएं। आप अपन खाना हेल्थी और संतुलित रखें ताकि बच्चे को पूरा पोषण मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो बच्चे को 10 से 15 मिनट धुप में ज़रूर ले के जायें सूर्या का प्रकाश से मिलने वाले विटामिन D आपके बच्चे के विकास में हेअल्फुल होता है lयदि बेबी ki पोटी लगातार हरा ही bani रहे, तो उसे डॉक्टर को दिखाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी आज सुबह से 2 br हरी पॉटी kr रहा ह
उत्तर: हेलो डियर हो सकता है कि आपने हरी सब्जियां पत्तेदार सब्जी कुछ खाई हो तो उस वजह से बच्चा ग्रीन पॉटी कर रहा हूं क्योंकि जो मां खाती हैं बच्चे पर पूरा बुरा असर पड़ता है बाकी यह भी हो सकता है कि जो बच्चे को आप ऊपर का दूध दे रहे हैं वह सूट नहीं कर रहा है उस वजह से बच्चे को ग्रीन पॉटी हो रही हो ऊपर का दूध देते हैं तो बिल्कुल बंद कर दे अपना ही ब्रेस्ट मिल्क दे यदि 1 दिन में बच्चे को ग्रीन पॉटी तीन चार बार से ज्यादा हो रही है तो डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी रहेगा बच्चे को ऐसी में बिल्कुल भी नहीं रखें ठंड के कारण भी ऐसा होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी बॉय 1m 9 डेज का h वो do दिन s हरी हरी पतली पतली पोती kr रहा h
उत्तर: आपका बेबी 1मंथ का हैअगर आपका बेबी ग्रीन कलर की पॉटी कर रहा है और उसे कोई प्राब्लम नही हो रही है तो ये नॉर्मल है अगर आप बच्चे को ब्रेस्ट फीड कराती है तो आप बच्चे को देर तक फीड करवाए ,ग्रीन रंग आपके ब्रेस्ट मिल्क से कम कैलोरी मिल्क निकलने के कारण हो सकता है स्तनपान के अंत में आने वाला वसायुक्त गाड़ा दूध उसे पर्याप्त मात्रा में नही मिल पा रहा बच्चे को कैलोरी मिल्क नही मिल पा रहा आप बच्चे को तब तक दूध पिलाए जब तक वो खुद स्तनपान करना ना छोड़े और अपना खाना हेल्दी रखे जिससे बच्चे को पोषड मिल सके और पानी की कमी नही हो। मदर फीड कराती रहिए इससे ही बच्चा ठीक हो जाएगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें